श्रीकृष्ण गोशाला के प्रधान का कार्यकाल हुआ पूरा, संस्थापक के पास भेजा त्याग पत्र

महम-जुलाना रोड स्थित श्रीकृष्ण गोशाला के प्रधान सतबीर पटवारी ने अपना दो साल का कार्यकाल पूरा होने पर प्रधान पद से त्याग पत्र दे दिया है। गौशाला के संस्थापक महंत सतीश दास व डाके के लाम्बा से बातचीत कर उन्होंने यह त्याग पत्र संस्थापक महंत सतीश दास को सौंप दिया है।

JagranPublish: Sat, 22 Jan 2022 01:40 AM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 01:40 AM (IST)
श्रीकृष्ण गोशाला के प्रधान का कार्यकाल हुआ पूरा, संस्थापक के पास भेजा त्याग पत्र

संवाद सहयोगी, महम: महम-जुलाना रोड स्थित श्रीकृष्ण गोशाला के प्रधान सतबीर पटवारी ने अपना दो साल का कार्यकाल पूरा होने पर प्रधान पद से त्याग पत्र दे दिया है। गौशाला के संस्थापक महंत सतीश दास व डाके के लाम्बा से बातचीत कर उन्होंने यह त्याग पत्र संस्थापक महंत सतीश दास को सौंप दिया है। हालांकि प्रधान के कार्यकाल से सभी हलका वासी व सभी पदाधिकारी संतुष्ट थे। उन्हें फिर से गोशाला का दायित्व सौंपना चाह रहे थे। लेकिन प्रधान ने बताया कि वे अत्यधिक बीमार हैं उन्हें इलाज करवाना है। इस कारण वे फिर से प्रधान पद का नहीं संभाल सकते। इसके लिए गोशाला में 23 जनवरी को नया प्रधान चुनने के लिए बैठक बुलाई गई है। जिसमें सर्वसम्मति से प्रधान व अन्य पदों का चयन किया जाएगा।

प्रधान सतबीर पटवारी ने अपने दो वर्षीय कार्यकाल में गोवंशों की संख्या 2200 से 2700 हो चुकी है। पहले नंदीशाला के लिए साढे तीन एकड जमीन थी। हलके व अन्य लोगों के सहयोग से नंदीशाला के लिए चार एकड़ जमीन और ली गई तथा चार दिवारी करवाई गई।नंदीओं के लिए दो बारीक चार कमरे और एक चारा रखने का हाल बनवाया गया लेकिन उसकी छत लगनी बाकि है। पहले नंदीशाला गोशाला में ही थी लेकिन अब नंदीशाला बडेसरा रोड पर स्थित है। गोशाला के लिए पुराने तीन ट्रैक्टरों को बेचकर नए चार ट्रैक्टर खरीदे, एक जेसीबी, चंदा एकत्रित करने के लिए एक नई बुलैरो गाड़ी तथा हाल ही में एक नया टैंपो गौशाला के लिए खरीदा है। ये-ये रह चुके हैं गौशाला के प्रधान सर्वप्रथम यह गौशाला किराए के एक प्लाट में राजकुमार सिगला की प्रधानता में शुरू की गई थी। धीरे-धीरे लोगों के आपसी सहयोग से इसके लिए जुलाना रोड पर जमीन खरीदी गई। गोशाला का अपना स्थान होने के बाद प्रधान पद को विजय मित्तल,मा धीर सिंह, चौबीसी सर्वखाप पंचायत के प्रधान धज्जा राम गोयत, बेदू जांगडा और सतबीर पटवारी सुसज्जित कर चुके हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept