Haryana Politics News: प्रशिक्षण की घुट्टी से हरियाणा में विपक्ष के प्रमुख मुद्दों की छुट्टी करेगी टीम भाजपा

Haryana Politics News नई टीम को यह समझाया जा रहा है कि पार्टी किस तरह वर्ष 1984 में दो लोकसभा सीटों से वर्ष 2019 में 303 सीटों तक पहुंच पाई है और किस तरह हरियाणा में भी दूसरी बार सत्ता मिली है।

Jp YadavPublish: Thu, 09 Dec 2021 11:29 AM (IST)Updated: Thu, 09 Dec 2021 11:29 AM (IST)
Haryana Politics News: प्रशिक्षण की घुट्टी से हरियाणा में विपक्ष के प्रमुख मुद्दों की छुट्टी करेगी टीम भाजपा

नई दिल्ली/रेवाड़ी [महेश कुमार वैद्य]। हरियाणा प्रदेश के प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस में जहां गुटबाजी के चलते संगठन विस्तार धीमी गति से चल रहा है, वहीं भाजपा ने बूथ स्तर तक टीम गठित करके प्रमुख पदाधिकारियों को कड़ा प्रशिक्षण देना शुरू कर दिया है। पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर आयोजित किए जा रहे प्रशिक्षण कार्यक्रमों में अनुशासन का पाठ पढ़ाने के साथ-साथ पार्टी का गौरवशाली अतीत भी बताया जा रहा है। तीसरी पारी के बड़े लक्ष्य को लेकर भाजपा की बड़ी टीम तैयार की जा रही है। प्रशिक्षण की घुट्टी के बाद यही टीम विपक्ष के मुद्दों की छुट्टी करने में सक्षम होगी।

हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के पुराने चेहरे अतीत के संघर्ष से परिचित हैं, लेकिन नए चेहरों को पार्टी के अतीत की पूरी जानकारी नहीं है। नई टीम को यह समझाया जा रहा है कि पार्टी किस तरह वर्ष 1984 में दो लोकसभा सीटों से वर्ष 2019 में 303 सीटों तक पहुंच पाई है और किस तरह हरियाणा में भी दूसरी बार सत्ता मिली है। 

समग्र दृष्टिकोण का दस्तावेज है एजेंडा

प्रशिक्षण कार्यक्रम का एजेंडा समग्र दृष्टिकोण का दस्तावेज है। केंद्रीय मंत्री और सांसद जहां केंद्र की उपलब्धियां बताने पहुंच रहे हैं वहीं हरियाणा के मंत्री और विधायक राज्य सरकार की उपलब्धियां बता रहे हैं। आजादी का अमृत महोत्सव, संगठन विस्तार, पंचायत एवं नगर निकाय चुनाव, मीडिया व इंटरनेट मीडिया, किसान संगठनों की शंका निवारण एवं कृ षि क्षेत्र की उपलब्धियां भी प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल हैं।

ओमप्रकाश धनखड़ (प्रदेशाध्यक्ष, भाजपा) का कहना है कि प्रशिक्षण एक सतत प्रक्रिया है। हमारा कार्यकर्ता संगठन से पूर्ण परिचित हो। विपक्ष के आरोपों का जवाब देने में सक्षम हो, उन्हें अपने संगठन के इतिहास और सरकार की उपलब्धियों की जानकारी के लिए प्रशिक्षण जरूरी है। किसानों को नुकसान का सर्वाधिक मुआवजा दिया गया। प्रशिक्षण से कार्यकर्ताओं को आत्मबल बढ़ेगा।

Edited By Jp Yadav

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept