हरियाणा में यूपी पुलिस के जवानों की पिटाई, सामूहिक दुष्‍कर्म के आरोपित को पकड़ने आए थे

यूपी के बागपत से आई थी पुलिस टीम। जैसे ही आरोपित को गाड़ी में बैठाने लगे तभी उसने चिल्‍लाकर स्‍वजनों को बुला लिया। नवादा पार के ग्रामीणों ने कहा आज पुलिस को मजा चखाते हैं। लाठियों से पीटा। आरोपित को छुड़ाकर भाग गए।

Ravi DhawanPublish: Tue, 14 Dec 2021 11:13 PM (IST)Updated: Tue, 14 Dec 2021 11:13 PM (IST)
हरियाणा में यूपी पुलिस के जवानों की पिटाई, सामूहिक दुष्‍कर्म के आरोपित को पकड़ने आए थे

पानीपत, जागरण संवाददाता : हरियाणा के गांव में सामूहिक दुष्‍कर्म के आरोपित को गिरफ्तार करने आई उत्‍तर प्रदेश पुलिस (UP POLICE) की जमकर पिटाई कर दी गई। गांव में आरोपितों के स्‍वजनों के साथ उनके साथियों ने न केवल पुलिसकर्मियों को डंडों से पीटा, बल्कि वर्दी तक फाड़ दी। आरोपित को छुड़ाकर भाग गए। हालांकि यूपी पुलिस पूरी तैयारी के साथ आई थी। हरियाणा के पुलिस के जवानों को भी साथ लिया था। इसके बावजूद गांव के लोग इन पर भारी पड़ गए। कई पुलिसकर्मियों को चोट आई है। पानीपत की सनौली थाना पुलिस ने सात लोगों को नामजद करते हुए अन्‍य 15 लोगों पर केस दर्ज किया है।

दरअसल, यूपी पुलिस सामूहिक दुष्कर्म और मारपीट करने के आरोपित हारूण को गिरफ्तार करने आई थी। नवादा पार में हारूण और उसके स्वजनों ने पुलिसकर्मियों की लाठी-डंडों से धुनाई कर दी। कुछ ने तो ये भी कहा कि आज इस पुलिस को मजा चखाते हैं। सभी लोग आरोपित हारूण को छुड़ाकर ले गए।

बागपत के सबइंस्‍पेक्‍टर ने दी शिकायत

बागपत के थाना रामला के सबइंस्पेक्टर रिक्षपाल सिंह, सिपाही अजय पाल ने सनौली थाना पुलिस को शिकायत दी कि सामूहिक दुष्कर्म, मारपीट, जान से मारने की धमकी देने के मामले में नवादा पार के हारूण के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी हुए थे। उसे गिरफ्तार करने के लिए सनौली थाना पहुंचे थे। बस अड्डा सनौली खुर्द पर गश्त के दौरान मौजूद एसआइ सुरेंद्र सिंह व चालक एसपीओ सुधीर को भी उनकी गाड़ी सहित साथ ले लिया।

गाड़ी में बैठाने लगे तो हंगामा

नवादा पार में आरोपित हारूण के घर पहुंचे। जैसे ही उसे वारंट दिखाकर गाड़ी में बैठाने लगे, उसने ऊंची आवाज में चिल्लाना शुरू कर दिया। यूपी पुलिस मुझे पकड़कर ले जा रही है। बुन्नी, अरशद, कादिल , तहसीम, मोसिन, उमेश व तोसिम सभी जल्दी आ जाओ। ये सुनकर कुछ लोग हाथ में डंडे लेकर बाहर आ गए। पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया। अरसद व कादिल ने डंडों से चोट मारी। वर्दी भी फाड़ दी।

अंधेरे का फायदा उठाकर भागे

पुलिस कर्मचारी जब रिक्षपाल को छुड़वाने लगे, तभी दस-पंद्रह लोग और आ गए। कहने लगे, आज इन पुलिसवालों को सबक सिखाते हैं। जान से मारने की धमकी देने लगे। पुलिस का रास्ता रोक लिया। गांव के और लोगों को आता देखकर अंधेरे का फायदा उठाकर सभी वहां से भाग गए। हारूण भी फरार हो गया। पुलिस ने आरोपितों पर धारा 148, 149, 186, 341, 323, 332, 353, 506 आइपीसी के तहत केस दर्ज किया है।

Edited By Ravi Dhawan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept