UP Chunav 2022: यूपी चुनाव में बीजेपी ने उतारी हरियाणा की टीम, इन नेताओं को मिली बड़ी जिम्मेदारी

यूपी चुनाव में जीत हासिल करने के लिए बीजेपी पूरी तैयारी के साथ मैदान में उतरी है। बीजेपी ने हरियाणा की टीम को भी मैदान में उतारा है। यूपी के पिछड़े वर्ग के मतदाताओं को साधने के लिए बीजेपी ने इस टीम को मैदान में उतारा है।

Rajesh KumarPublish: Sun, 16 Jan 2022 03:16 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 03:16 PM (IST)
UP Chunav 2022: यूपी चुनाव में बीजेपी ने उतारी हरियाणा की टीम, इन नेताओं को मिली बड़ी जिम्मेदारी

यमुनानगर, [संजीव कांबोज]। उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी को पहले चरण के मतदान के साथ ही विधानसभा चुनावों की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। उतर प्रदेश के पिछड़े वर्ग के मतदाताओं को साधने के लिए भाजपा ने हरियाणा की टीम को मैदान में उतारा है। हाड़ कंपा देने वाली सर्दी में यह टीम दिन रात डटी हुई है। भाजपा के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व मेयर मदन चौहान और  प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व मंत्री कर्णदेव कांबोज प्रकोष्ठ के अन्य पदाधिकारियों के साथ यहां मोर्चा सभाले हुए हैं। गत कई दिनों से डेरा डाले हुए हैं। मदन चौहान जिला बिजनौर व कर्णदेव के पास सहारनपुर के विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रहे हैं। इन दोनों क्षेत्रों में पिछड़ा वर्ग का बड़ा वोट बैंक बताया जा रहा है।   

टीम में दो बड़े पदाधिकारी भी शामिल 

दैनिक जागरण से बातचीत के दौरान मेयर मदन चौहान ने बताया कि उनकी टीम में यमुनानगर से ओबीसी मोर्चा के प्रदेश मंत्री व घुमंतु बोर्ड के सदस्य ओमपाल और एससी-बीसी निगम के डायरेक्टर जंगशेर सिंह भी शामिल हैं। वे कई दिन से उप्र के बिजनौर जिले में हैं। बिजनौर में नजीबाबाद, नगीना, नूरपुर, धामपुर, चांदपुर, नाटौर, बिजनौर, बड़ापुर  विधानसभा क्षेत्र शामिल हैं। ड्राइंग रूम बैठकें चल  रहे हैं। भाजपा के प्रति वहां की जनता में सकारात्मक रूझान देखा जा रहा है। 

हरियाणा की सीमा से सटे कई विधानसभा क्षेत्र

पूर्व मंत्री व ओबीसी मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष कर्णदेव कांबाज ने बताया कि उप्र के सहारनपुर जिला में गंगोह, नकुड़, सहारनुपर शहर, सहारनुपर देहात, देवबंध, रामपुर मनिहारन, बेहट व विधानसभा क्षेत्र शामिल है। इन विधानसभा क्षेत्रों से पहले से ही परिचित हैं। क्योंकि अधिकांश क्षेत्र हरियाणा की सीमा से सटे हुए हैं। पूर्व में भी यहां उनका आना जाना लगा रहा है। सुबह 9-10 बजे से बैठकों का दौर शुरू हो जाता है। कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए दिनभर चुनावी बैठकें होती हैं। अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र के पदाधिकारी भी उनके साथ मौजूद  रहते हैं।

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept