OLX पर फि‍र सक्रिय हुए ठग, खुद को फौजी बताकर इस तरह छात्र से ठग लिए 86 हजार

पानीपत में ओएलएक्‍स पर ठगी हो गई। इस प्‍लेटफार्म पर ठग भी सक्रिय हैं। खुद को फौजी बताते हैं। क्‍यूआर कोड भेजते हैं। इसे स्‍कैन करते ही खाते से रुपये निकल जाते हैं। ऐसा ही पानीपत के एक छात्र के साथ हुआ है।

Ravi DhawanPublish: Sun, 21 Feb 2021 12:22 PM (IST)Updated: Sun, 21 Feb 2021 12:22 PM (IST)
OLX पर फि‍र सक्रिय हुए ठग, खुद को फौजी बताकर इस तरह छात्र से ठग लिए 86 हजार

पानीपत, जेएनएन - ओएलएक्‍स (OLX) पर एक बार फि‍र से ठग सक्रिय हो गए हैं। ठग ने खुद को आर्मी का जवान बताया। मोबाइल खरीदने का झांसा देकर छात्र के दो खातों से 86 हजार 500 रुपये निकाल लिए। मामला आरके पुरम कालोनी का है। बीसीए के छात्र यश जैसवाल से ठगी हुई। 

यश जैसवाल ने बताया कि पिता किशोर कुमार एक फैक्ट्री में मार्केटिंग मैनेजर हैं। उसने ओएलएक्स साइट पर 7500 रुपये में मोबाइल फोन बेचने के लिए साइइ पर डाला था। एक व्यक्ति ने मैसेज कर मोबाइल नंबर लिया। 14 फरवरी की सुबह व्यक्ति ने बोला कि वह आर्मी में है। उसका तबादला राजस्थान में हो गया है और बेटे के लिए आनलाइन क्लास के लिए मोबाइल फोन की जरूरत है। सैलरी कार्ड से पेमेंट कर देगा। उससे मोबाइल फोन की वाट्सएप पर वीडियो मंगवाई और चैटिंग भी।

क्‍यूआर कोड स्‍कैन करने को कहा 

उसे 2000 रुपये का क्यूआर कोड स्कैन करने को बोला। छह से सात बार कोड स्कैन किया तो उसकी लिमिट पूरी हो गई। खाते से 16502 रुपये निकाल लिए गए। इसके बाद ठग बोला कि वह खाते से निकाले गए रुपये और मोबाइल के 7000 रुपये मिलाकर 23502 भेज देगा। दूसरे खाते से क्यूआर कोड स्कैन करें। उसने भाई रोहित के खाते से चार से पांच बार स्कैन किया। भाई के खाते से 70000 रुपये निकाल लिए। तब उसे पता चला कि ठगी कर ली गई है। आठ मरला चौकी पुलिस ने मामला दर्ज करके ठग की तलाश शुरू कर दी है।

वाट्सअप लगा रखी है फौजी की वर्दी की फोटो

यश ने बताया कि ठग ने वाट्सएप पर फौजी की वर्दी पहने हुए वाट्सएप पर डीबी भी लगा रखी है। ठग का मोबाइल फोन चालू है। काल की तो ठग कह रहा है कि आपके खाते में 16000 रुपये होंगे तो वे रुपये खाते में डलवा देगा। ठग की मंशा है कि खाते में 16000 रुपये फिर से क्यूआर कोड स्कैन करवाकर ठगने की है।

Edited By Ravi Dhawan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept