तीन विभागों में खींचतान, पीस रहे शहरवासी

जागरण संवाददाता पानीपत तीन विभागों में तालमेल न होने का दंश शहरवासी झेल रहे हैं। तीन

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 11:36 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 11:36 PM (IST)
तीन विभागों में खींचतान, पीस रहे शहरवासी

जागरण संवाददाता, पानीपत : तीन विभागों में तालमेल न होने का दंश शहरवासी झेल रहे हैं। तीन महीने असंध रोड पर सीवर लाइन दबाने का काम चल रहा है। इससे रोड टूट गया है। रोड पर बारिश का पानी जमा होने से कीचड़ हो गया है। जिसमें वाहन धंस रहे हैं। दोपहिया वाहनों का निकलना दूभर हो गया है। दुकानदारों का धंधा भी चौपट हो गया है। पहले नगर निगम ने आश्वासन दिया था कि रोड की मरम्मत करा दी जाएगी। अब योजना सिरे नहीं चढ़ी है। अब पीडब्ल्यूडी रोड की मरम्मत करेगा। इसके लिए नगर निगम के अधिकारियों को डेढ़ करोड़ रुपये का अस्टीमेट बनाकर दिया है। निगम ने रुपये नहीं दिए हैं। सीवर दबाने और रोड की मरम्मत के काम में देरी होगी। शहरवासियों को और कई महीने तक दिक्कत होगी। उधर, गोहाना रोड से बिजली निगम ने खंभे नहीं हटाए हैं। इससे रोड का निर्माण कार्य भी अटका हुआ है। ऐसे हालात में शहरवासियों को कई महीने तक सुविधा मिलने की बजाय परेशानी में गुजारने पड़ेंगे। अंडरपास बना तालाब, आधा दर्ज कालोनी के लोग परेशान

बारिश के पास से गोहाना रोज अंडरपास तालाब बन गया है। यहां से वाहनों की आवाजाही नहीं हो पा रही है। वाहन चालकों को ओवरब्रिज से घूमकर आना जाना पड़ता है। इससे ओवरब्रिज पर भी जाम लगा रहता है। आठ मरला, शुगर मिल कालोनी, सतकरतार कालोनी, नंद विहार और मुखीजा कालोनी सहित कई कालोनियों के लोग दिक्कत में हैं। अंडरपास से पानी की न तो रेलवे और न ही नगर निगम निकासी नहीं करवा पा रहा है। विभाग एक दूसरे पर फोड़ रहे ठीकरा

गोहाना रोड को फोरलेन बनाने का प्रोजेक्ट चल रहा है। इसमें सबसे पहले चरण में तीन किलोमीटर के दोनों तरफ नाले बनाए गए। निर्माण कार्य धीमा है। इसको लेकर बिजली निगम के अधिकारी व पीडब्ल्यूडी के अधिकारी एक दूसरे पर सहयोग न करने का ठीकरा फोड़ रहे हैं। अंडरपास खुले तो मिलेगी राहत : कार्तिक

आठ मरला निवासी कार्तिक ने जागरण से बातचीत में बताया कि अंडरपास खुले तो गोहाना रोड पुल के ऊपर से नहीं जाना पड़ेगा। न ही जाम से जूझना होगा। प्रसाशन को इस ओर ध्यान देकर अंडरपास के पानी की निकासी करानी चाहिए। ग्राहक नहीं आते, काम ठप हो गया है

असंध रोड के दुकानदार सतबीर यादव ने जागरण को बताया कि असंध रोड शहर का मुख्य मार्ग है। यहां से जींद, असंध की तरफ से हर रोज लगभग 20 हजार से ज्यादा वाहन गुजरते हैं। रोड पर कीचड़ में वाहन फंस रहे हैं। ग्राहक न आने से काम ठप हो गया है। सीवर दबाने का काम जल्द किया जाए और रोड का निर्माण भी शीघ्र हो जाए। इसको लेकर वे कई बार अधिकारियों व विधायक से मिल चुके है, लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो पाया है।

निगम डेढ़ करोड़ रुपये देगा तो सड़क का निर्माण करा देंगे: एसडीओ

पीडब्ल्यूडी के एसडीओ रामपाल सिंह ने जागरण से बातचीत में कहा कि असंध रोड पर नगर निगम द्वारा सीवर लाइन दबाने का कार्य चल रहा है। इससे रोड टूट चुका है। नगर निगम को डेढ़ करोड़ रुपये का अस्टीमेट बनाकर भेजा है।अभी तक निगम की तरफ से कोई जवाब नहीं आया। निगम राशि देगा तो रोड की मरम्मत करा दी जाएगी। गोहाना रोड से बिजली निगम अपना काम पूरा करता है तो रोड का निर्माण करा दिया जाएगा। अस्टीमेट सही नहीं, अभी जांची जा रही फाइल : एक्सईएन

नगर निगम के एक्सईएन नवीन ने जागरण से बातचीत में कहा कि एक सप्ताह में सीवर दबाने का कार्य पूरा कर लिया जाएगा और पीडब्ल्यूडी ने अस्टीमेट बनाकर दिया है। वह सही नहीं है। इसकी जांच की जा रही है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम