पानीपत शुगर मिल में घोटाला, तीन सालों में बेचा 30 लाख का शीरा, 10 कर्मचारियों को किया चार्जशीट

पानीपत शुगर मिल में घोटाला। 3 सालों में शीरा बेच कंपनी को लगाई 30 लाख की चपत। एमडी ने 10 कर्मचारियों को किया चार्जशीट। कुल 3181 क्विंटल शीरा गायब हुआ है। इसमें गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) भी चोरी हुआ है।

Rajesh KumarPublish: Fri, 28 Jan 2022 08:30 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 08:30 PM (IST)
पानीपत शुगर मिल में घोटाला, तीन सालों में बेचा 30 लाख का शीरा, 10 कर्मचारियों को किया चार्जशीट

पानीपत, जागरण संवाददाता। पानीपत शुगर मिल में बार-बार हो रहे शीरा घोटाले में अब नया मोड़ सामने आया है। पहले हुए घोटाले की जांच करने के लिए एमडी शुगर मिल ने जांच कमेटी गठित की है। शीरा घोटाला में मिल को अभी तक करीबन 30 लाख रुपये तक का नुकसान हुआ है। कुल 3181 क्विंटल शीरा गायब हुआ है। इसमें गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) भी चोरी हुआ है। इसका आकलन किया जा रहा है। सरकार को भी अलग से 8.25 लाख रुपये की राजस्व हानि हुई है।

सबसे पहले 65 क्विंटल शीरा गायब हुआ था। इसके बाद गठित की गई जांच में कई राज खुले। शुगर मिल एमडी नवदीप सिंह के अनुसार इस पूरे प्रकरण में रहे दस कर्मचारियों को निलंबित किया जा चुका है। अब चार्जशीट कर दिया गया है। शुगर मिल में पकड़े गए शीरा घोटाले के कर्मचारियों और अधिकारियों समेत जो एजेंसी शीरा फर्जीवाड़ा कर रही थी, उस पर अब तक एफआईआर दर्ज नहीं करवाई गई है। इस पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। वहीं, कर्मचारी नेताओं का कहना है कि घोटाला पकड़े जाने के बाद भी एफआइआर दर्ज न करवाना मिलीभगत को दर्शाता है।

तीन साल से बेचा जा रहा शीरा

जांच में सामने आया है कि शुगर मिल जिस पार्टी को तीन साल से शीरा बेच रही है, उसी एजेंसी द्वारा गाड़ियों में अंडरवेट दिखाकर फर्जीवाड़ा करने हुए शीरे को अवैध तरीके से चोरी किया जा रहा था। अब तक कितनी गाड़ियों में इस शीरे को निकाला गया, इसकी जांच होना बाकी है। कर्मचारी नेताओं का कहना है कि सबसे पहले रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद एजेंसी के खिलाफ एफआइआर होनी चाहिए थी, जो नहीं की गई।

ये स्टाक मिला था गायब

शुगर मिल के स्टाक का जब कमेटी ने मिलान किया तो शुगर मिल के स्टाक में 21524.55 क्विंटल और डिस्टलरी में 6540 क्विंटल शीरा था। कुल मिलाकर दोनों जगह पर 28064.55 क्विंटल शीरा था। इसमें से अब केवल 24883 क्विंटल शीरा मिला है। बाकी 3181.55 क्विंटल शीरा एजेंसी, कर्मचारियों और अधिकारियों की मिलीभगत से गायब कर दिया गया।

गन्ने के रस से चीनी बनाई जाती

शुगर मिल में गन्ने के रस से चीनी बनाई जाती है। इसे बचे वेस्ट से शीरा बनाया जाता है। इस शीरे का प्रयोग शराब बनाने व एथेनाल बनाने के काम आता है। वर्तमान में शीरे की कीमत करीब 927 रुपये प्रति क्विंटल से है। इससे पहले भी करीब पांच करोड़ रुपये का 65 हजार क्विंटल शीरे का मिल से घोटाला हो चुका है।

दस कर्मचारियों को किया गया है चार्जशीट : एमडी

शुगर मिल के एमडी नवदीप सिंह ने जागरण से बातचीत में बताया कि दस कर्मचारियों को शीरा घोटाले में दोषी मानते हुए चार्टशीट किया गया है। इसमें जीएसटी चोरी कितनी हुई है, इसका आकलन किया जा रहा है। शुगर मिल में किसी प्रकार कोई भ्रष्टाचार नहीं होने दिया जाएगा।

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept