राहत : कोरोना की तीसरी लहर का कहर हुआ कम, अंबाला में रिकवरी 90 प्रतिशत के पार

कोरोना संक्रमण से राहत मिलने लगी। कोरोना केस कम हो रहे हैं। अंबाला में कोरोना की तीसरी लहर में रिकवरी रेट 90 प्रतिशत के पार हो गई है। अब संक्रमण दर गिरकर 13 फीसद रही 25 प्रतिशत तक पहुंच गई थी रफ्तार।

Anurag ShuklaPublish: Sat, 29 Jan 2022 09:57 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 09:57 AM (IST)
राहत : कोरोना की तीसरी लहर का कहर हुआ कम, अंबाला में रिकवरी 90 प्रतिशत के पार

अंबाला, जागरण संवाददाता। अंबाला के लिए राहत भरी खबर है। कोरोना की तीसरी लहर का कहर अब कम होना शुरू हो गया है। पिछले तीन दिनों की बात करें तो 26 जनवरी को सबसे ज्यादा 277 नए केस उजागर हुए थे। इसके बाद 27 को जनवरी को 188 और 28 को 202 केस मिले थे। कोरोना के नए केस कम होने और ठीक होने वालों की संख्या लगातार बढ़ने से जिले में कोरोना से रिकवरी दर एक बार फिर 92.25 प्रतिशत हो गई है जोकि 86 प्रतिशत के करीब पहुंच गई थी। वर्तमान की बात करें तो जिले में अब 2523 एक्टिव केस ही रह गए हैं। 23 जनवरी को इनकी संख्या 3 हजार 839 पहुंच गई थी। लेकिन इसके बाद रिकवरी फेस शुरू हो गया। इससे पहले 6 मई के बाद जिले में दूसरी लहर का कहर कम हुआ था और फिर इसी तरह रिकवरी दर बढ़ी थी।

इस तरह हुई 23 से 28 जनवरी तक सैंपलिंग

6 दिन की अवधि की बात करें तो 23 से 28 जनवरी तक कुल करीब 9500 सैंपल लिए गए। इनमें से 1257 सैंपल संक्रमित पाए गए। अभी तक जिले में कुल 39320 केस संक्रमित मिल चुके हैं। जिनमें से 525 की मौत हो चुकी है और 2523 रिकवरी फेस में हैं या कुछ का इलाज चल रहा है। जबकि 20 से 25 जनवरी 6 दिनों में 1879 लोग संक्रमित मिले थे जबकि 10 हजार 318 सैंपल लिए गए। मतलब एकदम साफ 23 से 28 जनवरी तक करीब 13 फीसदी सैंपल संक्रमित मिले तो 20 से 25 जनवरी के बीच यह दर 18 फीसदी से ज्यादा थी। 20 जनवरी से पहले कोरोना संक्रमण दर 25 फीसद से भी ज्यादा थी।

निश्चित तौर पर अब हम तीसरी लहर से निकल रहे हैं। कोरोना की तीसरी लहर का पीक समय 23 जनवरी के करीब मानकर चल रहे हैं। फिर भी हमें कोताही नहीं बरतनी। टीकाकरण के साथ मास्क और सैनेटाइजेशन और हैंड सैनेटाइजर का प्रयोग और सामाजिक दूरी नियम का पालन करके ही हम इससे बच सकते हैं।

डॉक्टर कुलदीप, सिविल सर्जन।

Edited By Anurag Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept