This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

एक अप्रैल से पैंतालीस वर्ष से अधिक आयु के लोगों को लगेगा टीका

स्वास्थ्य विभाग ने फैसिलिटी स्तर पर लाभार्थियों का डाटा जुटाना शुरू कर दिया है। उधर जिले को कोविशील्ड की

JagranWed, 24 Mar 2021 06:21 AM (IST)
एक अप्रैल से पैंतालीस वर्ष से अधिक आयु के लोगों को लगेगा टीका

जागरण संवाददाता, पानीपत : कोरोना वैक्सीनेशन के मद्देनजर अच्छी खबर है। एक अप्रैल से 45 साल या इससे अधिक आयु के सभी लोगों को टीका लगाया जाएगा। केंद्र सरकार ने 20 सूचीबद्ध बीमारियों की बाध्यता को खत्म करने का निर्णय लिया है। स्वास्थ्य विभाग ने फैसिलिटी स्तर पर लाभार्थियों का डाटा जुटाना शुरू कर दिया है। उधर, जिले को कोविशील्ड की 8000 डोज मंगलवार को अलॉट हुई हैं। सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेड़कर द्वारा किए एक ट्वीट के हवाले से यह जानकारी दी है।

उन्होंने बताया कि अभी तक 45 से 60 साल के (सूचीबद्ध 20 बीमारियों में से किसी एक से ग्रस्त) लाभार्थियों की संख्या 16 हजार 595 और सीनियर सिटीजन की संख्या 1.30 लाख से अधिक थी। चूंकि अब बीमारी वाली बाध्यता खत्म हो गई है, ऐसे में लाभार्थियों की संख्या बढ़ना तय है। अब लाभार्थियों की संख्या चार लाख तक पहुंच सकती है।

सिविल सर्जन के मुताबिक प्रदेश सरकार से दिशा-निर्देश जारी होते ही नए लाभार्थी को-विन एप या आरोग्य सेतु एप के जरिए घर बैठे पंजीकरण कर सकेंगे। लाभार्थियों की सही संख्या के लिए जिला निर्वाचन कार्यालय से भी मदद ली जाएगी। आयु वर्ग के अनुसार अनुमानित लाभार्थी

आयु संख्या

45-49 के 16633

50-59 के 133327

60-69 के 80776

70-79 के 38282

80 साल से अधिक 17016 टीकाकरण पकड़ेगा गति

वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा. मनीष पासी ने बताया कि 45 से 60 वर्ष आयु के लाभार्थियों का टीकाकरण करने के लिए हर केंद्र पर फिजिशियन की जरूरत थी, विभाग के लिए असंभव है। बीमारी वाली बाधा हटी तो अधिक स्थानों पर सत्र लगाए जा सकेंगे। प्रतिकूल घटना से निपटने के लिए प्रत्येक केंद्र पर एंबुलेंस खड़ी की जाएगी।

मंगलवार को 1645 ने लगवाया टीका

डा. मनीष पासी ने बताया कि मंगलवार को 22 केंद्रों में टीकाकरण हुआ। एक दिन का लक्ष्य 2900 था, 1645 (56.72 फीसद) ही टीका लगवाने पहुंचे। 1143 सीनियर सिटीजन ने टीका लगवाया। 45 से 60 साल आयु के 297 लाभार्थियों को पहली डोज लगी। 57 फ्रंटलाइन वर्कर को पहली, नौ को दूसरी डोज लगी। 106 हेल्थ वर्कर ने प्रथम और 33 ने द्वितीय डोज लगवाई। वैक्सीनेशन के दौरान प्रतिकूल घटना का कोई केस नहीं आया है।

अब तक मिली 38 हजार 660 डोज

कोविशील्ड की अलॉट हुई 8000 डोज बुधवार को पहुंच जाएंगी। इससे पूर्व जिले को 25 हजार 660 डोज कोविशील्ड और 13000 डोज को-वैक्सीन की मिल चुकी हैं। स्टाक की बात करें तो कोविशील्ड की 2460 और को-वैक्सीन की 390 डोज हैं।

को-वैक्सीन की वायल का इंतजार

लाभार्थी ने पहला टीका जिस कंपनी की वैक्सीन का लगवाया, 28 दिन बाद दूसरा भी उसी कंपनी का लगना है। को-वैक्सीन की डोज कम होने के कारण दूसरा टीका लगवाने वालों को कुछ दिन इंतजार करना पड़ सकता है। हालांकि, एक-दो केंद्र में यह डोज लगेगी। बता दें कि दूसरा टीका 28 दिनों के बाद और 42 दिनों के भीतर लगवा सकते हैं। कोविशील्ड में अंतर अधिक भी रह सकता है।

पानीपत में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!