जींद में बोले पवन खरखौदा, कहा- दुष्यंत चौटाला की कलम में आधी स्याही, सीएम बनाकर भर दो कलम

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने जींद में पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक की है। दुष्यंत की चौटाला की मौजूदगी में एससी वित्त विकास निगम के चेयरमैन पवन खरखौदा ने कहा कि दुष्यंत चौटाला की कलम में भी आधी स्याही है। इसे सीएम बनाकर पूरा भर दें।

Rajesh KumarPublish: Wed, 01 Dec 2021 07:34 PM (IST)Updated: Wed, 01 Dec 2021 07:34 PM (IST)
जींद में बोले पवन खरखौदा, कहा- दुष्यंत चौटाला की कलम में आधी स्याही, सीएम बनाकर भर दो कलम

जींद, जागरण संवाददाता। जेजेपी की सरकार में अभी आधी हिस्सेदारी है। डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की कलम में भी आधी स्याही है। अब कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि वह इस कलम को कितनी जल्द भरती है। यह कलम तभी भरी जाएगी, जब दुष्यंत चौटाला प्रदेश के मुख्यमंत्री बनेंगे। प्रदेश सरकार में अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम के चेयरमैन पवन खरखौदा ने बुधवार को जेजेपी कार्यालय में दुष्यंत चौटाला की मौजूदगी में कार्यकर्ताओं से मुखातिब होते हुए यह बात कही।

विकास की रफ्तार को कम होने नहीं दिया

झज्जर में पार्टी के तीसरे स्थापना दिवस पर रैली में भीड़ जुटाने के लिए पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की बैठक में दुष्यंत चौटाला ने कहा कि कोरोना काल व किसान आंदोलन के दौरान भी सरकार ने विकास की रफ्तार कम नहीं होने दी। जनता के काम प्राथमिकता से निपटाए गए हैं। पार्टी के तीसरे स्थापना दिवस पर जींद की प्रत्येक विधानसभा से दस हजार से ज्यादा कार्यकर्ता झज्जर में मनाए जाने वाले जनसरोकार दिवस में पहुंचने चाहिए। उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि कुछ लोग जींद को सबसे पिछड़ा इलाका कहते आए हैं, लेकिन उन्होंने जिले में इतने विकास कार्य शुरू करवाए हैं कि उनकी बोलती बंद हो गई।

लड़कियों का निशुल्क बस पास लागू, चालक मना करे तो बनाएं वीडियो, बस का लाइसेंस रद्द होगा

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि स्कूल व कालेज में जाने वाली लड़कियों को अगर कहीं पर भी निजी व सरकारी बस चालक, परिचालक बैठने से रोके तो लड़कियां इसकी वीडियो बनाएं। इसके बाद सरकार बस का परमिट रद्द कर उसको घर पर खड़ा करवाने का काम करेगी। लड़कियों की निशुल्क यात्रा में वह किसी प्रकार का समझौता नहीं करेंगे।

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept