जींद में एक कोरोना संक्रमित की मौत, करनाल में 30 नए मरीज आए सामने

जींद में एक कोरोना संक्रमित की मौत हो गई जबकि 11 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं करनाल में भी 30 लोगा संक्रमित मिले हैं। करनाल में अब तक 8152 केस सामने आ चुके हैं। 7790 लोग स्‍वस्‍थ होकर घर लौट चुके हैं।

Anurag ShuklaPublish: Fri, 23 Oct 2020 08:09 PM (IST)Updated: Fri, 23 Oct 2020 08:09 PM (IST)
जींद में एक कोरोना संक्रमित की मौत, करनाल में 30 नए मरीज आए सामने

पानीपत, जेएनएन। शहर के अपराही मोहल्ला निवासी 50 वर्षीय कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत हो गई। जबकि 11 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। संक्रमितों को होम क्वारंटाइन कर दिया। अपहराही मोहल्ला निवासी एक व्यक्ति दिल की बीमारी से पीडि़त था। 19 अक्टूबर को उसने कोरोना टेस्ट करवाया तो वह पॉजिटिव मिला। तबीयत बिगडऩे पर स्वजनों ने उसे उपचार के लिए नागरिक अस्पताल में दाखिल करवाया गया। शुक्रवार को अचानक ही उसकी तबीयत बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई। स्वास्थ्य निरीक्षक राममेहर वर्मा के नेतृत्व वाली टीम ने व्यक्ति के शव का अपनी देखरेख में अंतिम संस्कार करवाया गया। जिले में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 46 पहुंच गया है। जिले में अब तक 2709 लोग कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। इसमें से 2426 कोरोना संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में 237 कोरोना के एक्टिव केस हैं। सिविल सर्जन डा. मनजीत ङ्क्षसह ने बताया कि 11 कोरोना संक्रमित मिले लोगों के परिवार वाले व संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए जा रहे हैं।

करनाल में 30 नए संक्रमित मिले

पर्व-त्योहारों के मद्देनजर अभी तक पुलिस प्रशासन की ओर से बाजार में नजर रखने के लिए अभी तक कोई पुख्ता योजना दिखाई नहीं दे रही है और स्वास्थ्य विभाग भी आंख मूंदे पुराने ढर्रे वाली प्रणाली पर काम कर रहा है। बाजार में बढ़ती भीड़ स्वास्थ्य विभाग के लिए चिंता का विषय बनी है। शुक्रवार को कर्ण गेट से कुंजपुरा रोड और पुरानी अनाज मंडी की तरह जाने के लिए दो पहिया वाहन भी जाम से सामना करते दिखाई दिए। पुलिस अधिकारियों की लापरवाही बाजार में संक्रमण को बढ़ावा दे रही है। यही कारण है कि शुक्रवार को 30 कोरोना के मरीज मिले हैं।

26 ठीक होकर घर गए

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने सिविल सर्जन की रिपोर्ट के अनुसार बताया कि शुक्रवार को 26 मरीज ठीक होकर अपने घर गए हैं, जबकि 30 केस पॉजिटिव पाए गए हैं। अब तक कुल 8152 मामले पॉजिटिव मिल हैं, जिनमें 116 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। जिला में शुक्रवार को  इनमें 8 केस एंटीजेन टेस्ट से तथा 22 केस आरटीपीसीआर से पाए गए हैं। उपायुक्त ने बताया कि जिले में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से संदिग्ध कुल 87922 व्यक्तियों के सैम्पल लिए गए, जबकि इनमें 78841 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। 246 एक्टिव हैं तथा 7790 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। उपायुक्त ने जिलावासियों से कहा कि वे जरूरी कार्य के लिए ही बाहर निकलें, मास्क का प्रयोग करें, शारीरिक दूरी का ध्यान रखें और अपने आपको निरंतर सैनिटाइज करते रहें। उन्होंने स्पष्ट किया कि कोरोना वायरस के बढ़ते केसों के चलते प्रशासन सख्त है। जो व्यक्ति बिना मास्क घर से बाहर निकलेगा, उसका 500 रुपये का चालान किया जाएगा।

उपायुक्त ने नागरिकों से अपील की है कि उनके आसपास कोई ऐसा व्यक्ति मिले जिसकी ट्रैवल हिस्ट्री बाहर की है तो वे तुरंत इसकी सूचना प्रशासन को दें ताकि उसके स्वास्थ्य की जांच की जा सके और लक्षण पाए जाने पर कोविड-19 टेस्ट किया जा सके। उन्होंने बताया कि सरकार के दिशा-निर्देशानुसार प्रशासन ने निर्णय लिया है कि जिन लोगों में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं पाये जाते हैं, उन्हें अस्पताल में रखने की बजाए जाट धर्मशाला करनाल में स्थापित किये गए कोविड केयर सेंटर में रखा जाता है।

Edited By Anurag Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept