This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

नौतपा ने दिखाए तेवर, लू ने किया बेहाल, 4 दिन तक ऐसा ही रहेगा मौसम, 30 को राहत

नौतपा ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में बढ़ सकती है गर्मी। 30 मई को प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में तेज हवा चलने व बादल छाने से गर्मी से राहत की संभावना।

Anurag ShuklaWed, 26 May 2021 04:40 PM (IST)
नौतपा ने दिखाए तेवर, लू ने किया बेहाल, 4 दिन तक ऐसा ही रहेगा मौसम, 30 को राहत

करनाल, जेएनएन। मई माह में अब तक राहत मिलती रही है। लेकिन मंगलवार को नौतपा शुरू होते ही गर्मी ने अपने तेवर दिखाना शुरू कर दिए हैं। तापमान अभी 40.0 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है। दो दिन से गर्म हवा लू में तब्दील हो चुकी हैं। नौतपा में तपिश लगातार बढ़ती जा रही है। 

पूरा प्रदेश भीषण गर्मी के साथ-साथ लू की चपेट में आया हुआ है। इससे ना केवल आम जनजीवन बल्कि पशु पक्षी भी बेहाल हो गए हैं। लू भी 12 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चल रही हैं। हालांकि अच्छी बात यह है कि मई माह में मौसम में हो रहे बदलाव के कारण लू से हीट स्ट्रोक का खतरा बहुत कम है। 

चिकित्सकों ने लोगों को गर्मी से बचने के लिए धूप में कम से कम निकलने व ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पीने की सलाह दी है। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में तापमान बढ़ सकता है। 30 मई को मौसम के करवट लेने की संभावना बनी है।

48.0 डिग्री तापमान पर बॉडी टेंपरेचर कंट्रोल सिस्टम फेल होने की संभावना

नागरिक अस्पताल के वरिष्ठ फिजिशयन डा. ओपी सैनी के मुताबिक 48.0 डिग्री सेल्सियस तापमान पर हीट स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। वह लोग ज्यादा चपेट में आते हैं जो धूप में काम करते हैं और पानी का कम सेवन करते हैं। सामान्य तौर पर व्यक्ति के शरीर का तापमान 98.4 डिग्री होता है। बॉडी पर जब तापमान डायरेक्ट हीट करता है तो इससे बॉडी टेंपरेचर 104 डिग्री क्रॉस कर जाता है। इससे बॉडी टेंपरेचर कंट्रोल सिस्टम फेल हो जाता है। व्यक्ति की मृत्यु भी हो जाती है। हालांकि अभी तापमान इतना ज्यादा नहीं है। लेकिन गर्मी अधिक बढ़ती है तो विशेष सावधानियां बरतने की जरूरत होती है।

लू लगने पर क्या करें

रामचंद मेमोरियल अस्पताल के एमडी मेडिसन डा. कमल चराया के मुताबिक हीट स्ट्रॉक में व्यक्ति के शरीर से पसीना निकलना बंद हो जाता है और बॉडी टेंपरेचर बढ़ता चला जाता है। ऐसे में व्यक्ति को तुंरत पानी से तर बतर कर दें, ठंडे स्थान पर ले जाए। व्यक्ति के शरीर पर ठंडे पानी की पट्टियां रखें। जितना जल्दी हो सके अस्पताल लेकर आना चाहिए।

पक्षियों की वार्बलर प्रजाति पर गहरा असर

भारतीय प्राणी सर्वेक्षण संस्थान देहरादून के वरिष्ठ पक्षी वैज्ञानिक एवं हरियाणा रीजन प्रभारी डॉ. अनिल कुमार के मुताबिक जिस प्रकार से तापमान लगातार बढ़ रहा है, वह पक्षियों के लिए घातक है। हालांकि इस वर्ष मई में राहत रही है, लेकिन मई माह में जब भी तापमान 45.0 डिग्री या इससे ऊपर गया है खासकर छोटे पक्षियों के लिए दिक्कतें हुई हैं। वार्बलर प्रजाति के पक्षी ज्यादा गर्मी सहन नहीं कर सकते हैं, क्योंकि वह कीड़ों का सेवन करते हैं और कीड़ों में पानी की मात्र कम होती है। इसे वार्बलर लीफ बर्ड भी कहते हैं। गर्मी अधिक होने के कारण इससे प्रजाति के पक्षियों में कमजोरी आ जाती है। प्रजनन प्रक्रिया पर भी असर पड़ता है।

बुधवार को 41.0 डिग्री रहा तापमान

बुधवार को अधिकतम तापमान 41.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान भी बढ़ोतरी के साथ 20.0 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। गर्मी के कारण नमी की मात्रा में भी गिरावट दर्ज की गई है। सुबह के समय नमी की मात्रा 42 फीसदी दर्ज की गई है, जो शाम तक घटकर महज 22 फीसदी रह गई। लू 12 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक आने वाले 24 घंटे में मौसम साफ रहेगा, गर्मी बढ़ेगी। 30 को मौसम करवट ले सकता है।

 

Edited By: Anurag Shukla

पानीपत में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!