करनाल में अज्ञात बदमाशों ने वर्षों पुरानी नंदा पीर की दरगाह तोड़ी, हंगामा, लोगों में रोष

करनाल में अज्ञात बदमाशों ने नंदा पीर की दरगाह तोड़ दी। इसे तोड़े जाने से क्षुब्ध समाज के लोगों ने एकत्र होकर रोष प्रकट किया और पूरे घटनाक्रम की निंदा की। घटना का पता चलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा।

Rajesh KumarPublish: Sat, 22 Jan 2022 07:40 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 07:40 PM (IST)
करनाल में अज्ञात बदमाशों ने वर्षों पुरानी नंदा पीर की दरगाह तोड़ी, हंगामा, लोगों में रोष

करनाल(इंद्री), संवाद सहयोगी। करनाल में पीढ़ियों से कायम सामाजिक सौहार्द की परंपरा को ठेस पहुंचाने की कोशिश की गई। इसके तहत पश्चिमी यमुना नहर के पुराने पुल से कुछ दूरी पर बनी दरगाह को अज्ञात तत्वों द्वारा तोड़े जाने का मामला सामने आया है। घटना देर रात की बताई जा रही है। दरगाह में मुख्यत: बंगाली समाज के लोग आस्था रखते हैं। इसे तोड़े जाने से क्षुब्ध समाज के लोगों ने एकत्र होकर रोष प्रकट किया और पूरे घटनाक्रम की निंदा की। वहीं, पुलिस ने भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल शुरू कर दी। पुलिस का कहना है कि मामले की पूरी गंभीरता व संवेदनशीलता से जांच की जाएगी। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

नंदी पीर की दरगाह

इस घटनाक्रम के संदर्भ में समाजसेवी रिंकू सैनी ने बताया कि यह नंदा पीर की दरगाह है जो कई वर्ष पहले यहां पर बनाई गई थी। क्षेत्र में सभी धर्मों व वर्गों के लोग पीढ़ियों से एकजुट होकर रहते हैं। यहां कभी भी ऐसा कोई कृत्य नहीं हुआ, जिससे इस भावना को ठेस पहुंचे। लेकिन इस घटनाक्रम ने सोचने पर मजबूर कर दिया है। उन्होंने बताया कि अज्ञात लोगों ने बीती देर रात दरगाह को तोड़ दिया है। यह एक शर्मनाक कृत्य है। इससे समाज में गलत संदेश जाता है। ऐसी ही तोड़फोड़ की घटना पिछले दिनों क्षेत्र के एक अन्य गांव में भी हुई थी। इससे प्रतीत हो रहा है कि कहीं न कहीं सामाजिक सौहार्द की भावना को ठेस पहुंचाने की सुनियोजित साजिश के तहत ऐसा किया जा रहा है। उन्होंने सभी से संयम बनाए रखने और घटना की जांच में पुलिस प्रशासन को पूरा सहयोग देने की बात भी कही।

दरगाह के प्रति लोगों में अटूट मान्यता

दरगाह के सेवादार सलमान ने बताया कि यह बड़ी पुरानी दरगाह है और विभिन्न क्षेत्रों से अनेक लोग यहां मत्था टेकने आते है। इसके प्रति लोगों में अटूट मान्यता है। वह शनिवार सुबह जब यहां पहुंचे तो देखा कि यहां पीर की दरगाह को पूरी तरह तोड़ा हुआ था। इस घटना से बंगाली समाज के लोगों में रोष है। उन्होंने और अन्य लोगों ने एक स्वर से मांग उठाई कि तोड़फोड़ करने वाले असामाजिक तत्वों को शीघ्र पकड़ा जाए।

बारीकी से करेंगे जांच पड़ताल: एसएचओ

पूरे घटनाक्रम की संवेदनशीलता के मद्देनजर पुलिस भी बारीकी से जांच पड़ताल में जुट गई है। इंद्री थाने के एसएचओ सतपाल ने मौके पर पहुंचकर क्षेत्र के लोगों से बातचीत की। उन्होंने बताया कि नंदा पीर पर तोड़फोड़ करने का मामला सामने आया है। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस ने जानकारी हासिल की है। शिकायत के आधार पर गहन जांच व आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept