Health Tips: सर्दी की पांच बीमारियां, करें बचाव, नहीं कराना पड़ेगा इलाज

मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। अचानक से तापमान में गिरावट हो रही है। साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य पर भी सर्दी का असर दिखने लगा है। सर्दी में जरा सी लापरवाही भारी पड़ सकती है। कोहरा पड़ने पर बढ़ेगी हर आयु वर्ग की परेशानी।

Anurag ShuklaPublish: Fri, 26 Nov 2021 09:11 AM (IST)Updated: Fri, 26 Nov 2021 09:11 AM (IST)
Health Tips: सर्दी की पांच बीमारियां, करें बचाव, नहीं कराना पड़ेगा इलाज

पानीपत, जागरण संवाददाता। सर्दी का मौसम खानपान की दृष्टि से बहुत अच्छा माना जाता है लेकिन साथ में बीमारियां भी लाता है। सर्दी लगने से खांसी-जुकाम-बुखार, निमोनिया, त्वचा और बालों में रुखापन, जोड़ों में दर्द, सिर दर्द आम समस्या है। सिविल अस्पताल के कंसल्टेंट डा. जितेंद्र त्यागी ने बताया कि सर्दी से होने वाली बीमारियां का बचाव किया जाए तो इलाज की बहुत कम जरूरत पड़ेगी। इस समय मेडिसिन ओपीडी और फ्लू कार्नर में 150 से अधिक बुखार के मरीज पहुंच रहे हैं। रोजाना 50 से ज्यादा मरीजों को कोरोना, डेंगू, टाइफाइड, वायरल की जांच के लिए लैब में भेजा रहा है। इसके बाद सबसे अधिक भीड़ त्वचा रोग ओपीडी में रहती है। नेत्र रोग ओपीडी में मरीजों की संख्या एकाएक बढ़ने लगी है।

बेहतर होगा कि हर आयु वर्ग के लोग स्वयं को सर्दी से बचाकर रखें और स्वस्थ रहें। यह अपने लिए ही नहीं बल्कि परिवार के अन्य सदस्यों को बीमारी से बचाने के लिए भी जरूरी है।

आंखों में आने लगी दिक्कत

आंखों का लाल होना, दोनों आंखों से आंसू आना, खुजली होना, आंखों में किरकिराहट महसूस होना सर्दी के मौसम की मुख्य समस्या हैं। आंखों को ठंडी हवा, धुंध और प्रदूषण बचाने के लिए अच्छी क्वालिटी का चश्मा पहनें। दिक्कत होने पर नेत्र रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें। अपनी मर्जी से आखों में कोई भी दवा न डालें।

निमोनिया

निमोनिया का मुख्य कारण ठंड लगना है। यूं तो किसी भी आयु वर्ग में हो सकता है लेकिन बच्चों को अधिक सताता है। यह बैक्टीरिया से होने वाला संक्रमण है। सही समय पर इलाज न मिले तो मरीज की जान खतरे में पड़ जाती है।

त्वचा का रुखापन

सर्दी के मौसम में त्वचा का रुखापन, फटना आम समस्या है। खासकर, शरीर के जो हिस्से खुले रहते हैं, वहीं अधिक दिक्कत आती है। बेहतर होगा कि ठंडी हवा से बचें। ज्यादा गरम पानी से स्नान न करें। त्वचा पर अच्छी क्रीम, पेट्रोलियम जैली, बाडी लोशन लगाएं।

बालों का रुखापन

जिन लोगों के सिर में रूसी नहीं होती, सर्दी में उन्हें भी इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है। इससे बचना है तो ज्यादा गरम पानी से स्नान न करें। बादाम, आंवला, सरसों या नारियल के तेल से सिर की मालिश करें। अच्छे शैंपू से बालों को धोएं।

बुखार

सर्दी के मौसम में बुखार भी सामान्य है। सर्दी से बचाव के लिए गर्म कपड़े पहनें। दोपहिया चालक गर्म कपड़ों के साथ हेलमेट और दस्ताने जरूर पहनें। जूते-जुराब पहनकर वाहन चलाएं। भोजन से पहले साबुन से हाथ जरूर धोएं। ताजा-गर्म भोजन लें।

Edited By Anurag Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept