हरियाणा बजट से करनाल को सौगात, कैथल पुल से घोघडीपुर तक नहर के साथ बनेगा बाईपास

हरियाणा बजट से करनाल के लोगों को सौगात मिली है। साथ ही पहले से जारी योजनाओं का कायाकल्‍प किया जाएगा। कैथल पुलिस से लेकर घोघडीपुर तक नहर के साथ एक बाईपास बनाया जाएगा। इस प्रोजेक्‍ट में 31 करोड़ लगेंगे।

Anurag ShuklaPublish: Wed, 09 Mar 2022 11:06 AM (IST)Updated: Wed, 09 Mar 2022 11:09 AM (IST)
हरियाणा बजट से करनाल को सौगात, कैथल पुल से घोघडीपुर तक नहर के साथ बनेगा बाईपास

करनाल, जागरण संवाददाता। हरियाणा सरकार के बजट में करनाल शहर की सूरत में बड़ा बदलाव लाने वाली योजनाओं का भी बखूबी समावेश किया गया है। मसलन, एक तरफ सीएम सिटी की सड़कों का बोझ कम करने के लिए मुख्यमंत्री के प्रयास से सड़कों का जाल बिछाया गया है। पश्चिम बाइपास फेज-1, जींद-करनाल हाईवे, मेरठ हाईवे, कुंजपुरा रोड, मेरठ रोड से कुंजपुरा रोड को जोड़ती लिंक रोड पर वाहन चालक सुहाने सफर का आनंद ले रहे हैं। वहीं नई योजनाओं में कैथल पुल से घोघडीपुर तक नहर के साथ जल्द बाईपास का निर्माण डेढ़ साल में पूरा किया जाना है।

बाईपास के निर्माण से रेलवे पुल और हांसी चौक पर लगने वाले जाम से निजात मिलेगी। दिल्ली और पानीपत जाने वाले वाहन चालकों को शहर के अंदर जाने की जरूरत नहीं होगी। वे बाहर से ही डायवर्ट हो सकेंगे।

लोक निर्माण विभाग की ओर से कार्य भी शुरू करवा दिया गया है। विभाग के अनुसार प्रोजेक्ट पर करीब 31 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। निर्माण कार्य का ठेका आरबीएम कंपनी को दिया गया है। बाईपास का काम 18 माह में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। ये बाईपास काछवा रोड नहर के साथ बने बाईपास की तर्ज पर बनेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की ओर से करीब चार साल पहले पश्चिमी बाईपास फेज-2 के निर्माण की घोषणा की गई थी। इसी के साथ कर्ण लेक पर गुजरते हाईवे का भी चौड़ीकरण किया जाना है।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में सुंदरीकरण पर फोकस

स्मार्ट सिटी की कई परियोजनाएं सिरे चढ़ी हैं और कुछ निर्माण पूरा होने वाला है। सेक्टर 12 स्थित नगर निगम भवन के दूसरे तल पर बनाए गए इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में विडियोवाल पर इंटीग्रेटेड ट्रांसपोर्ट मैनेजमेंट सिस्टम, अडाप्टिव ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम, एमरजेंसी का बाक्स, ट्रैफिक लाइट के मैनेजमेंट सिस्टम का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। इस सेंटर के माध्यम से यातायात नियम तोडऩे वाले आनलाइन चालान घर भेजा जाएगा। इसमें अब शहर में 511 कैमरे, 34 एमरजेंसी काल बाक्स, 30 वेरिएबल मैसेज बोर्ड और 105 पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाए गए हैं। इसके अलावा कैनाल डेवलेपमेंट फ्रंट परियोजना के प्रथम चरण में तीन में से दो गेट लग गए हैं। ग्रेनाइट और कोटा स्टोन का कार्य चल रहा है। फेज के तीन पार्क भी पूरे हो चुके हैं। फेज-2 में काछवा रोड की ओर से घाट वाला पार्क तक लाइट लगाई जाएगी।

मन मोह लेगा ग्रीन बेल्ट का स्वरूप

शहर में ग्रीन बेल्ट का सुंदरीकरण परियोजना के तीन पैकेज लिए गए थे, जिनमें सेक्टर-7 पार्क, सेक्टर-13 व 14 में फुटपाथ, सीटिंग, प्रवेश द्वार, रिफ्लेक्सोलाजी पार्क पर कार्य चल रहा है। यह इसी माह पूरे करने को कहा गया है। ब्यूटिफिकेशन आफ फ्लाईओवर अंडर स्पेस प्रोजेक्ट में शहर से गुजरते नेशनल हाईवे पर स्थित 7 फ्लाईओवर के नीचे जगहों का सुंदरीकरण में सप्तरंग के थीम पर आधारित अलग-अलग फ्लाईओवर के नीचे अलग-अलग पेंङ्क्षटग की गई हैं। बैठने की जगह, लैंड स्केपिंग, प्लांटेशन और शौचालयों जैसी सुविधा दी गई है। 6 फ्लाईओवर अंडर स्पेस का कार्य पूरा हो गया है, लिबर्टी चौक अंडर स्पेस का कार्य आगामी मार्च तक पूरा हो जाएगा।

साइकिल ट्रैक हो रहा तैयार

रि-डेवलेपमेंट आफ कर्ण लेक प्रोजेक्ट में साइट पर साइकिल ट्रैक बन रहा है। बुक कैफे की फाउंडेशन पर काम चल रहा है। यहां बच्चों के खेलने की जगहें बनाई जाएंगी। भारत की गाथा थीम पर इतिहास, विज्ञान और साहित्य में योगदान करने वाले महापुरुषों के स्कल्पचर लगाए जाएंगे। बुढ़ाखेड़ा व राम नगर में डिजिटल पुस्तकालय का प्रोजेक्ट लगभग पूरा हो गया है। अब इनमें लाइब्रेरी की दूसरी सुविधाएं दी जा रही हैं। शहर में नाइट मार्केट का चलन शुरू किया गया है।

Edited By Anurag Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept