Haryana Budget 2022: बजट ने खोले किसानों की समृद्धि के द्वार, बागवानी के लिए पैक हाउस का ऐलान

Haryana Budget 2022 हरियाणा सरकार बजट पेश किया। इसमें सरकार ने किसानों को काफी कुछ दिया है। किसानों की आय का ध्‍यान रखा गया है। कृषि को उद्यम का रूप देना का प्रयास किया गया है। करनाल सहित जीटी बेल्‍ट के जिलों में पैक हाउस भी बनेगा।

Anurag ShuklaPublish: Tue, 08 Mar 2022 11:29 AM (IST)Updated: Tue, 08 Mar 2022 11:29 AM (IST)
Haryana Budget 2022: बजट ने खोले किसानों की समृद्धि के द्वार, बागवानी के लिए पैक हाउस का ऐलान

करनाल, जागरण संवाददाता। हरियाणा सरकार की ओर से पेश किए गए बजट ने किसानों की समृद्धि के द्वार खोले हैं। बजट में किसानों को परंपरागत खेती छोड़ फसल विविधिकरण व बागवानी की तरफ आकर्षित करने का प्रयास किया गया है। हरियाणा में बागवानी के लिए पैक हाउस बनाने का सीधा मतलब है कि किसान अब कृषि को उद्यमी की तरह से करें। यानि फसलों के उत्पादन के साथ-साथ उसकी प्रोसेसिंग भी करें। ताकि उनको बाजार में उचित मूल्य मिल सके। इससे करनाल के किसानों को भी फायदा होगा।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

प्रगतिशीलता की सीढ़ी से समृद्ध किसान बनाने का प्रयास

सरकार ने बजट में प्रगतिशील किसानों के सहयोग से प्रगतिशील किसान कृषि दर्शन योजना शुरू की है। यानि ऐसे किसान जो सामान्य तरह से खेती कर रहे हैं उन्हें प्रगतिशील किसान प्रोत्साहित करें और अत्याधुनिक खेती के तौर-तरीकों के बारे में प्रशिक्षित करें। उन्हें फील्ड विजिट कराएं, उन्हें बताएं कि बदलते समय में किसानों के समृद्धि के रास्ते कैसे खुलेंगे। किसानों के टूर और प्रशिक्षण का खर्च भी प्रदेश सरकार ने उठाने का फैसला किया है। करनाल में भी किसानों को कृषि दर्शन योजना का लाभ मिलेगा। 

एफपीओ से बढ़ेगी किसानों की आय

नए बजट में प्रदेश में 100 नए एफपीओ बनाने की घोषणा सरकार ने की है। अब तक जितने एफपीओ कार्य कर रहे हैं उनकी प्रगति को देखते हुए सरकार ने इनकी संख्या को बढ़ाने का फैसला लिया है। सरकार का मानना है कि किसान एकजुट होकर यानि समूह बनाकर कृषि करेंगे तो उनकी फसलों पर लागत कम और आय ज्यादा होगी। अब तक जो एफपीओ काम कर रहे हैं उन्होंने यह उदाहरण भी पेश किया है। ऐसे में संभव है कि इस बजट में 100 नए एफपीओ का प्रावधान कर सरकार ने एफपीओ के माध्यम से किसानों की आमदनी बढ़ाने का प्रयास किया है।

Edited By Anurag Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept