अंबाला गैंगवार में दोहरा हत्याकांड: एमआर गैंग का सजायाफ्ता सरगना मोनू राणा गिरफ्तार

Haryana Ambala Gangwar Case मुस्ताक हत्याकांड में मोनू राणा को हुई थी उम्रकैद की सजा लेकिन मेडिकल बेस पर मिली थी पैरोल। गैंगवार में जिस गाड़ी का किया गया प्रयोग उसी से रोहतक में दिया गया था जगदेव हत्याकांड को अंजाम।

Anurag ShuklaPublish: Tue, 25 Jan 2022 11:45 AM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 11:45 AM (IST)
अंबाला गैंगवार में दोहरा हत्याकांड: एमआर गैंग का सजायाफ्ता सरगना मोनू राणा गिरफ्तार

अंबाला, जागरण संवाददाता। गैंगवार में हुए दोहरे हत्याकांड में पुलिस ने अंबाला छावनी से एमआर गैंग के मुखिया मोनू राणा को गिरफ्तार कर लिया है। मोनू राणा को वर्ष 2014 में हुए मुस्ताक हत्याकांड में उम्रकैद की सजा हुई थी। लेकिन मेडिकल ग्राउंड पर करीब 08 माह से उसे पैरोल मिली हुई थी। मोनू राणा को वर्ष 2017 में यमुनानगर में पेशी के दौरान बीआर गुट के सदस्यों ने गोली मारी थी। यह गोली उसकी टांग में लगी थी। इसी कारण मोनू चलने-फिरने में असहज है और इलाज के कारण उसे मेडिकल बेस पर पैरोल मिली थी।

मोनू राणा और भूप्पी राणा गुट की लंबे समय से रंजिश चल रही थी। 20 जनवरी को छावनी में हुए गैंगवार में मारा गया मोहित राणा भी भूप्पी राणा गैंग से जुड़ा था। मोहित ने मुस्ताक मर्डर में मोनू राणा व काला राणा के खिलाफ गवाही दी थी। इसी का उससे बदला लिया गया। गिरफ्तारी के बाद मोनू राणा की वीसी से कोर्ट में पेशी हुई। सीआए-2 ने मोनू राणा का दो दिन का रिमांड मांगा लेकिन कोर्ट ने एक दिन का रिमांड मंजूर किया। मोहित राणा और विशाल उर्फ भोला हत्याकांड में मोहित राणा के पिता सुभाष राणा की शिकायत पर मोनू राणा व काला राणा सहित अन्य पर आईपीसी 120बी के तहत केस दर्ज किया गया था।

रोहतक में जगदेव हत्याकांड में भी प्रयोग हुई थी इको स्पोट्र्स 

अंबाला पुलिस की जांच में पता चला है कि जिस गाड़ी से मोहित राणा और भोला पर गोलियां दांगी गई वह नई दिल्ली करोल बाग निवासी विष्णु सोनी की थी। इसे विष्णु ने 29 से 31 दिसंबर 2021 तक एक कंपनी को लीज पर दिया था लेकिन दो दिन की लीज खत्म होने के बाद गाड़ी वापस नहीं की गई थी। इसीलिए गाड़ी के मालिक ने एक जनवरी 2022 को थाना रानीबाग दिल्ली में गाड़ी चोरी का केस दर्ज करवाया था। बाद में इस गाड़ी को सीआइए-2 ने पीपली बस अड्डे से लावारिस हाल में बरामद किया था। इसमें से सात खाली खोल और एक जिंदा रौंद बरामद किया था। गाड़ी से बरामद इन्हीं गोलियों से मोहित राणा व भोला की हत्या की गई थी। उधर जांच में यह भी सामने आया कि रोहतक में छह जनवरी को झज्जर रोड पर शीतल नगर में बिल्डिंंग मेटेरियल की दुकान संचालक जगदेव के सिर में 5 गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्यारों ने 14 सेकेंड में यह गोलियां दागी थी। इस वारदात में भी इसी गाड़ी का प्रयोग किया गया था। इस मामले में पुलिस ने जनता कालोनी निवासी आकाश उर्फ गिट्टी सुनारिया निवासी पंकज बुधवार उर्फ पंकू ने इस गाड़ी का प्रयोग किया था।

विवेक राणा हत्याकांड में भी मोनू को दिया था दोषी करार

यमुनानगर के विवेक राणा की हत्या के मामले में भी मोनू राणा को दोषी करार दिया गया था। 16 मई 2018 को दोसड़का के पास विवेक की गाड़ी रोक ली गई थी। इस गाड़ी में श्मशेर उर्फ मोनू राणा निवासी थम्बड़, अमर सिंह, गौतम व दो अन्य व्यक्ति आए व उन्हें गाड़ी से बाहर निकाल मोबाइल ले लिए। जिसके बाद वह विवेक को साथ ले गए। बाद में विवेक राणा की पंजाब के डेरा बस्सी में लाश मिली थी। उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसी तरह गत वर्ष बराड़ा में 15 दुकानों की तोडफ़ोड़ में भी मोनू राणा पर केस दर्ज किया गया था।

Edited By Anurag Shukla

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept