This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

घरेलू कलह में उजड़ा परिवार, रस्‍सी से गला घोंट पत्‍नी को मार डाला

कैथल में नीमवाला में घरेलू कलह के चलते विवाहिता की रस्सी से गला घोटकर हत्या कर दी गई। पति जेठ और जेठानी पर हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। डीएसपी रविंद्र सांगवान और राजौंद थाना प्रभारी चंद्रभान ने घटनास्थल का दौरा किया।

Anurag ShuklaWed, 23 Sep 2020 04:09 PM (IST)
घरेलू कलह में उजड़ा परिवार, रस्‍सी से गला घोंट पत्‍नी को मार डाला

पानीपत/कैथल, जेएनएन। कैथल के नीमवाला गांव में घरेलू कलह के चलते एक विवाहिता की गला घोटकर हत्या कर दी गई। घटना की सूचना मिलने के बाद राजौंद पुलिस थाना प्रभारी चंद्रभान और डीएसपी रविंद्र सांगवान ने मौके का दौरा किया।

पुलिस ने मृतका के चाचा की शिकायत पर आरोपित पति, जेठ और जेठानी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने सिविल अस्पताल कैथल में शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद स्वजनों को शव सौंप दिया। मृतका अपने पीछे छह साल और आठ माह के दो लड़के छोड़ गई।

पुलिस को दी शिकायत में ये लगाए आरोप

जिला जींद के गांव राजगढ़ ढोबी निवासी संजीत कुमार ने बताया कि 19 मई 2013 को उसने अपनी 25 वर्षीय भतीजी रीटा का विवाह रणजीत सिंह के साथ किया था। विवाह के करीब छह माह तक तो उसकी भतीजी को ससुराल में ठीक रख गया, लेकिन इसके बाद उसे प्रताड़ित किया जाना लगा। पति रणजीत सिंह, जेठ बलजीत सिंह और जेठानी मुकेश देवी उसकी भतीजी को प्रताड़ित करने लगे।

मायके में बातचीत नहीं करने देते

घर में काम-काज और अन्य छोटी-मोटी बातों को लेकर उसकी भतीजी को तंग करने लगे। यहां तक की मायके वालों से मोबाइल पर बातचीत भी नहीं करने देते थे। इस कारण उसकी भतीजी मायके लौट आई। इसके बाद वे अपने भाई सुरेंद्र और गांव के कुछ मौजिज व्यक्तियों को लेकर नीमवाला गया, जहां आपसी बातचीत करते हुए पति, जेठ और जेठानी को समझाया।

फ‍िर नहीं माना

इसके बाद तीनों ने अपनी गलती मान ली और कहा कि आगे से कोई शिकायत नहीं आएगी, लेकिन छह बाद फिर से आरोपितों ने अपनी हरकतें शुरू कर दी। इस कारण उसकी भतीजी करीब दो माह तक मायके में रहे। फिर से उसे समझाते हुए ससुराल भेज दिया। आरोप लगाया कि पति रणजीत सिंह कभी भी रीटा को न तो लेने आया और न ही छोड़ने आया।

15 दिन पहले ही वह अपनी भतीजी को दोबारा से नीमवाला गांव छोड़कर गया था। मंगलवार की रात को फोन आया कि रीटा ने फांसी लगा ली है। जब वे मौके पर पहुंचे तो शव जमीन पर पड़ा हुआ था और पंखे पर मिट्टी लगी हुई थी, रस्सी के किसी तरह के कोई निशान नहीं थे। आरोप है कि पति, जेठ और जेठानी ने रस्सीसे गला घोटकर उसकी भतीजी की हत्या की है।

डीएसपी रविंद्र सांगवान ने बताया कि नीमवाला गांव में विवाहिता की हत्या को लेकर सूचना मिली थी। इसके बाद वे मौके पर गए थे। राजौंद पुलिस थाना में पति, जेठ और जेठानी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस इस मामले को लेकर जांच कर रही है, जो भी दोषी होगा उसके जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पानीपत में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!