This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

जनता को आज से कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज

मधुमेह उच्च रक्तचाप कैंसर टीबी हार्ट के रोगी एचआइवी पाजिटिव किडनी लीवर संबंधी रोगी बोन मेरो फेलियर आदि के रोगी हैं।

JagranMon, 01 Mar 2021 06:06 AM (IST)
जनता को आज से कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज

जागरण संवाददाता, पानीपत : कोरोना वायरस से निर्णायक जंग में सीनियर सिटीजन और 45 से 59 साल के बीमार लोगों का टीकाकरण सोमवार से शुरू है। जनता का टीकाकरण के पहले दिन सिविल अस्पताल, सब डिविजनल अस्पताल समालखा व छाबड़ा अस्पताल में वैक्सीनेशन होगा। निजी अस्पताल में एक डोज के 250 रुपये (100 रुपये सेवा शुल्क और 150 रुपये डोज की कीमत) चुकाने होंगे। प्रेम पार्क, आइबीएम, सिग्नस महाराजा व रेनबो अस्पताल ने भी वैक्सीनेशन की सुविधा मांगी है।

वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा.मनीष पासी ने बताया कि लाभार्थियों में शामिल सीनियर सिटीजन की संख्या लगभग 80 हजार और 45 साल से 59 साल के बीमार लोगों की संख्या लगभग 35 हजार है। 45-59 साल के लाभार्थियों में 20 तरह की बीमारियों से ग्रस्त लोगों को शामिल किया गया है। इनमें मधुमेह, उच्च रक्तचाप, कैंसर, टीबी, हार्ट के रोगी, एचआइवी पाजिटिव, किडनी, लीवर संबंधी रोगी, बोन मेरो फेलियर आदि के रोगी हैं। दिव्यांगों (अंधापन, बहरापन)को भी प्राथमिकता दी है।

इन लाभार्थियों को अपने इलाज का पर्चा रजिस्ट्रेशन के समय को-विन एप या आरोग्य सेतू एप पर अपलोड करना होगा। टीकाकरण के समय भी बतौर मेडिकल हिस्ट्री, ये कागजात दिखाने होंगे। डा. पासी के मुताबिक सुबह नौ से शाम चार बजे तक टीकाकरण कार्य चलेगा।

तीनों वैक्सीनेशन केंद्रों में एक सत्र का लक्ष्य 100 निर्धारित किया गया है। माडल टाउन के छाबड़ा अस्पताल को भी वैक्सीन की 10 वायल पहुंचा दी गई हैं। निजी अस्पतालों में बनाए जाने वाले कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर लिए 250 रुपये प्रति डोज दर केंद्र सरकार ने निर्धारित की है।

डोज बेकार न जाए, रखें ध्यान

सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा ने कहा कि एक वायल में 10 लोगों को टीका लग सकता है। सभी केंद्रों को निर्देश हैं कि कम से कम आठ लाभार्थी एकत्र हो जाएं, तभी वायल खोलें। खुली वायल को चार घंटे तक इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसे में प्रयास करें कि डोज बर्बाद न हो।

पब्लिक के लिए खुले एप

कोविन डिजिटल प्लेटफॉर्म 1.0 से अपग्रेड होकर 2.0 एप हो गया है। आरोग्य सेतु एप में भी बदलाव किया जा चुका है। अब लाभार्थी घर बैठे एंड्रायड मोबाइल फोन या लैपटाप-टैब की मदद से वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। छाबड़ा अस्पताल के स्टाफ को एप संचालन की ट्रेनिग दी गई है।

पांच कर्मचारियों की ड्यूटी जरूरी

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए निजी अस्पताल प्रबंधन को पांच कर्मचारी तैनात करने होंगे। लाभार्थी की आइडी जांचने, डिटेल दर्ज करने, टीका लगाने, एडवर्स इवेंट्स फालोइंग इम्यूनाइजेशन (एईएफई) कक्ष में ड्यूटी रहेगी। एक कोविड मैनेजर होगा, वह कोई डाक्टर या अस्पताल का निदेशक ही हो सकता है।

ये न लगवाएं टीका

-अस्पताल में उपचाराधीन रोगी।

-गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाएं।

-18 साल से कम आयु के बच्चे-किशोर।

-हाल ही में कोरोना से स्वस्थ हुए लोग।

-प्लाज्मा थैरेपी से दो माह के भीतर स्वस्थ हुए लोग।

नंबरिग :

16 जनवरी से टीकाकरण शुरू

12095 का पहली डोज के लिए अब तक रजिस्ट्रेशन

6762 कर्मचारियों को लगी पहली डोज

1274 ने लगवाया दूसरा टीका

1.25 लाख दूसरे फेज का लक्ष्य

पानीपत में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!