Bharat Band: बंद को लेकर रोडमैप तैयार, यमुनानगर में 20 जगह लगाए नाके, ये रूट होंगे डायवर्ट

एसपी कमलदीप सिंह ने भारत बंद को लेकर कहा कि 27 सितंबर को किसानों ने बंद का आह्वान किया हुआ है। इससे ट्रैफिक प्रभावित होगी। ऐसे में लोगों से अपील है कि 27 सितंबर को वह जरूरी काम होने पर ही घर से निकलें।

Rajesh KumarPublish: Sun, 26 Sep 2021 05:37 PM (IST)Updated: Sun, 26 Sep 2021 05:37 PM (IST)
Bharat Band: बंद को लेकर रोडमैप तैयार, यमुनानगर में 20 जगह लगाए नाके, ये रूट होंगे डायवर्ट

यमुनानगर, जागरण संवाददाता। किसान संयुक्त मोर्चा के भारत बंद के आह्वान को लेकर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है। विभिन्न जगह जाम मद्देनजर पुलिस ने 20 जगहों पर नाके लगाए हैं। जहां से रूट डायवर्ट किया जाएगा। इसके साथ ही जिन जगहों पर किसानों ने धरना देने का एलान कर रखा है, वहां भी भारी पुलिस बल तैनात रहेगा। ताकि व्यवस्था को संभाला जा सके। 490 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। यह कर्मचारी अलग-अलग जगहों पर तैनात रहेंगे।

एसपी कमलदीप सिंह ने बताया कि 27 सितंबर दिन सोमवार को किसानों ने भारत बंद का आह्वान किया हुआ है। किसान कई रोड पर जाम लगाने की बात कह रहे हैं। इससे ट्रैफिक प्रभावित होगी। पुलिस कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर प्रयास करेगी। वहीं लोगों से अपील है कि 27 सितंबर को वह जरूरी काम होने पर ही घर से निकलें। ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने के लिए जिला पुलिस की ओर नाके लगाकर कई जगह इसके लिए रूट भी डायवर्ट किए जाएंगे। पुलिस जगह-जगह तैनात रहेगी। ताकि किसी तरह की अप्रीय घटना पर समय रहते काबू पाया जा सके।

यहां रहेगा जाम

फूंसगढ़ के पास रेलवे ट्रैक व कैल-कलानौर हाइवे पर धरना दिया जाएगा। इसके अलावा साढौरा चौक, बिलासपुर के शिव चौक, छछरौली में तिकोणा चौका, खिजराबाद चौक, ब्रह्मपुरा चौक, जठलाना, बुबका चौक, टोल प्लाजा पर जाम लगाया जाएगा।

आपातकालीन सेवाएं नहीं होगी बाधित

जिला प्रधान संजु गुंदियाना व डायरेक्टर मंदीप सिंह रोड छप्पर ने बताया कि जाम के दौरान आपात सेवाओं को बाधित नहीं होने दिया जाएगा। एंबुलेंस, सेना की गाड़ियों, शिक्षण संस्थानों में जाने वालों, परीक्षाएं देने के लिए जाने वालों व दूध लाने-ले जाने वालों को रास्ता दिया जाएगा। उन्होंने जनता से अपील की है कि अति आवश्यक कार्यों के लिए ही घर से बाहर निकलें। क्योंकि 27 सितंबर को पूर्ण रूप से भारत बंद करने का आह्वान है। उन्होंने कहा कि सरकार ने यह कदम उठाने के लिए किसानों को मजबूर किया है। जब तक कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया जाता, तब तक किसानों का संघर्ष जारी रहेगा। बंद को लेकर ट्रक यूनियन, आटो यूनियन, व्यापार मंडल, अनाज मंडी, सब्जी मंडी एसोसिएशन के पदाधिकारियों से सहयोग की अपील की गई है।

माहौल के मुताबिक निर्णय लेंगे

हरियाणा रोडवेज के ड्यूटी इंस्पेक्टर माया राम ने बताया कि फिलहाल बसें बंद करने को लेकर किसी तरह के आदेश नहीं हैं। जैसा माहौल होगा उसके मुताबिक निर्णय लिया जाएगा।

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept