चोरी करने पर जेल गए थे, जमानत पर छूटते ही फि‍र तोड़ने लगे घरों के ताले

तीन बाइक, 11 तोले सोना, 675 ग्राम चांदी, तीन लाख रुपये सहित दो चोर गिरफ्तार। दोनों पर 18 मामले दर्ज। जींद, रोहतक, हिसार, पानीपत में करते थे वारदात। दिन में पहले रैकी करते थे।

Ravi DhawanPublish: Fri, 12 Oct 2018 06:42 PM (IST)Updated: Fri, 12 Oct 2018 06:52 PM (IST)
चोरी करने पर जेल गए थे, जमानत पर छूटते ही फि‍र तोड़ने लगे घरों के ताले

जागरण न्‍यूज नेटवर्क, पानीपत - जींद की जुलाना पुलिस ने दो शातिर चोरों को गिरफ्तार करके 12 चोरी की वारदातों का पर्दाफाश किया है। ये बदमाश जींद के अलावा रोहतक, भिवानी, पानीपत व हिसार जिलों के गांवों में दिन के समय रेकी करते थे और रात को घरों से नकदी व जेवरात चोरी करते थे। उनके खिलाफ थानों में 18 मामले दर्ज हैं। पुलिस ने इनके पास से 3 मोटरसाइकिल, 11 तोले सोना, 675 ग्राम चांदी, तीन लाख इक्कीस सौ रुपये की नकदी, एक मोबाइल फोन व एक घड़ी बरामद की है।

जुलाना पुलिस ने शुक्रवार को दोनों आरोपियों गांव फरमाना जिला रोहतक निवासी नीरज व गांव पेटवाड़ जिला हिसार निवासी प्रदीप को काबू कर अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। डीएसपी रामभज व जुलाना थाना प्रभारी रोहतास सिंह ने बताया कि उन्हें चोरों के बारे में 6 अक्टूबर को सूचना मिली थी। एएसआइ सुरेश कुमार ने टीम के साथ मौके पर पहुंचकर आरोपी नीरज को गिरफ्तार कर लिया। नीरज को 7 अक्टूबर को जींद अदालत से पांच दिन के लिए रिमांड पर लिया था।

इस दौरान पूछताछ में उसने स्वीकार किया कि जींद जिले में पिछले कुछ दिनों में कई चोरी की घटनाओं को अंजाम देते हुए तीन मोटरसाइकिल, जेवरात व नकदी चोरी की थी। उसने अपने साथी प्रदीप पेटवाड़ निवासी के साथ होने की बात कही तो पुलिस ने उसे 7 अक्टूबर को गिरफ्तार करके अदालत से 4 दिन के लिए रिमांड पर लिया था। डीएसपी ने बताया कि पूछताछ में आरोपियों ने जींद, रोहतक, भिवानी व हिसार में 12 चोरी की वारदातों का खुलासा करने में सफलता हासिल की है। इनमें जींद में 7, रोहतक व हिसार में 1-1, भिवानी में 3 केस ट्रेस हुए हैं। इन ट्रेस किए मामलों में पुलिस ने चोरी के तीन बाइक, 11 तोले सोना, 675 ग्राम चांदी, तीन लाख 2100 रुपये की नगदी, एक मोबाइल व एक घड़ी बरामद की है।

नहीं सुधरे: तीन माह पहले चोरी के मामले जेल से बाहर आया था

डीएसपी रामभज ने बताया कि आरोपित तीन माह पहले चोरी के मामले में जेल से बाहर आया था। उसके खिलाफ हरियाणा के अलग-अलग थानों में चोरी के 18 मामले दर्ज हैं। बीती दिनों आरोपी नंदगढ़ गांव में चोरी करके भाग रहा था तो ग्रामीणों ने उसे पकडऩे का प्रयास किया। तब वह तालाब में कूद गया था और सरसा खेड़ी गांव की तरफ भाग रहा था तो पुलिस ने मौके पर पहुंच कर काबू कर लिया। पूछताछ में माना कि कुछ दिन पहले भी उसने इसी गांव में चोरी की थी। वह ज्यादातर गांव के लोगों के घरों को ही चोरी का शिकार बनाता था। रात भी नंदगढ़ में चोरी करके निकला ही था कि लोग उसके पीछे पड़ गए ओर पुलिस ने उसे पकड़ लिया। 

चोरी के ये 12 मामले सुलझाए

--30 अगस्त गांव नंदगढ़ में दो धरों से नकदी व जेवरात चोरी की।
--5 सितंबर नंदगढ़ में ही घर से जेवरात चोरी किए।
--5 सितंबर नंदगढ़ में मोटरसाइकिल चोरी।
--लगभग दो माह पहले गांव करेला के घर से नकदी व जेवरात चोरी किए।
--9 अगस्त को भैरो खेड़ा से जेवरात चोरी की थी।
--लगभग दो माह पहले गांव मोहनगढ़ छापड़ा से बाइक चोरी की।
--ललित खेड़ा में करीब दो माह पहले घर से जेवरात चोरी किए।
--गांव निंदाना से दो माह पहले एक मकान से तीन लाख रुपये नगदी व लगभग तीन लाख रुपये के जेवरात चोरी।
--दो माह पहले भिवानी जिले के गांव सुमरा खेड़ा से एक बाइक व जेवर चोरी किए।
--भिवानी के गांव रोणात से एक घर में जेवरात चोरी किए।
--भिवानी के गांव ढाणाी मिराण से नगदी व जेवरात चोरी किए थे।
--एक माह पहले हिसार के गांव बड़छप्पर के एक घर से नगदी व जेवरात चोरी किए।

Edited By Ravi Dhawan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept