करनाल में गांधी मेमोरियल हाल के बाद अब यह पार्क भी दिलाएगा बापू की याद, ये है खासियत

स्मार्ट सिटी करनाल में कल्चर कोरिडोर को विकसित करने की योजना सिरे चढ़ाई जा रही है। इसी के तहत बापू को समर्पित पार्क का निर्माण किया जाएगा। गांधी मेमोरियल के बाद ये पार्क बापू की याद दिलाएगा। इस पार्क में और क्या कुछ खास होगा इस रिपोर्ट से समझें।

Rajesh KumarPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:18 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:18 PM (IST)
करनाल में गांधी मेमोरियल हाल के बाद अब यह पार्क भी दिलाएगा बापू की याद, ये है खासियत

करनाल, जागरण संवाददाता। गांधी मेमोरियल हाल के संरक्षण की जिम्मेदारी उठाने के बाद अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत राष्ट्रपिता की यादों को सहेजने के लिए गांधी पार्क का निर्माण करवाया जाएगा। यह पार्क महात्मा गांधी चौक के समीप खाली जगह में बनाया जाएगा। यहां पर आंदोलन की यादों को भी जीवंत किया जाएगा। इस पार्क का निर्माण शुरू हो चुका है। इसे 15 फरवरी तक पूरा कर लिया जाएगा।

शहर के महात्मा गांधी चौक के पास एक खाली पड़ी जगह पर डव्ल्पमेंट आफ गांधी पार्क के नाम से स्मार्ट सिटी ने प्रोजेक्ट शुरू किया है। पूर्व में यहां राजस्थानी वास्तुकला पर आधारित एक दीवार बनाई गई थी। इसके पीछे पार्क विकसित होगा। जिसमें एक दीवार पर गांधी जी के जीवन पर आधारित थीम पेंटिंग का काम शुरू हो गया है। उसके साथ ही ऐतिहासिक डांडी मार्च से जुड़े गांधी जी और उनके सत्याग्रही साथियों के फाइबर निर्मित स्टैच्यू

लगाए जाएंगे, जो यहां से गुजरने वालों को अपनी ओर आकर्षित करेंगे।

प्रदेश का पहला कल्चरल कोरिडोर 

इससे पहले शहर स्मार्ट सिटी की ओर से सांस्कृतिक गलियारा विकसित किया जा रहा है। इस गलियारे के बीच में यह पार्क भी इतिहास से रूबरू करवाएगा। इसके तहत प्रदेश में पर्यटन के नक्शे पर कर्णनगरी को लाने की कवायद शुरू हो चुकी है। इसके लिए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत प्रदेश का पहला कल्चरल कोरिडोर विकसित करने की योजना सिरे चढ़ाई जा रही है।


चार किलोमीटर के दायरे में विकसित होगा कल्चरल कारिडोर

कोरिडोर के रूप में निश्चित सीमा में ऐसे ऐतिहासिक स्थल चिह्नित किए जाते हैं, जहां उनके संरक्षण के साथ पर्यटन को भी बढ़ावा दिया जा सके। करनाल का कल्चरल कारिडोर नेशनल हाइवे स्थित श्रीमद्भागवत गीता द्वार से लेकर घंटाघर चौक तक करीब चार किलोमीटर के दायरे में विकसित होगा। इसमें अंग्रेजों के जमाने की क्रिश्चयन सिमिटरी, गांधी मेमोरियल हाल, पुरानी तहसील व रिकार्ड रूम को शामिल किया जाएगा। इसके सौंदर्यकरण के चलते नेशनल हाइवे से गुजरने वाले पर्यटन इस क्षेत्र को देखने के लिए अपने वाहनों के ब्रेक लगाएंगे। इसी के बीच में यह पार्क भी आएगा।

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept