कार्यसमिति में सोनिया गांधी के रुख ने साफ कर दी हरियाणा कांग्रेस की तस्वीर, कुमारी सैलजा का पद सुरक्षित

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सोनिया गांधी के रुख ने हरियाणा में पार्टी की तस्वीर तय कर दी है। कुमारी सैलजा का प्रदेश अध्यक्षा का पद सुरक्षित रहेगा। प्रदेश कांग्रेस में हुड्डा सैलजा कुलदीप सुरजेवाला व किरण के सामूहिक नेतृत्व का फार्मूला ही चलेगा।

Kamlesh BhattPublish: Mon, 18 Oct 2021 10:07 AM (IST)Updated: Mon, 18 Oct 2021 10:07 AM (IST)
कार्यसमिति में सोनिया गांधी के रुख ने साफ कर दी हरियाणा कांग्रेस की तस्वीर, कुमारी सैलजा का पद सुरक्षित

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद हरियाण कांग्रेस की तस्वीर भी साफ हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और उनके समर्थक 24 विधायकों के विरोध के चलते राज्य कांग्रेस में चल रही नेताओं की आपसी खींचतान संभवतः अब खत्म हो जाएगी। कार्यसमिति में राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जिस तरह अपना रुख स्पष्ट किया है उससे यह भी संदेश गया है कि हरियाणा कांग्रेस में प्रदेश स्तरीय नेताओं का सामूहिक नेतृत्व ही पार्टी की कमान संभालता रहेगा।

प्रदेश अध्यक्ष के रूप में कुमारी सैलजा यथावत रहेंगी। प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय सचिव विवेक बंसल भी अपने पद पर बने रहेंगे। हालांकि ऐलनाबाद उपचुनाव के बाद उन्हें हरियाणा के बजाय उत्तर प्रदेश चुनाव की तैयारियों में जुट जाने के लिए कह दिया जाएगा। नए कांग्रेस अध्यक्ष की मांग लेकर पार्टी में तैयार हुए जी-23 के प्रमुख नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी पिछले कुछ माह से पार्टी हाईकमान के प्रति नरम रुख अपना रहे हैं। उनके पुत्र और राज्यसभा सदस्य दीपेंद्र हुड्डा ने तो कार्यसमिति की बैठक में साफतौर पर सोनिया गांधी और राहुल गांधी सहित प्रियंका गांधी वाड्रा के प्रति अपनी आस्था सावर्जनिक रूप से प्रकट कर दी है। कमोबेश यही स्थिति हरियाणा से कार्यसमिति के दूसरे सदस्य कुलदीप बिश्नोई की रही। बिेश्नोई भी फिलहाल राष्ट्रीय या प्रादेशिक बदलाव के पक्ष में नहीं बोल रहे हैं। उन्होंने भी राहुल गांधी को पार्टी में सर्वमान्य नेता बताया है।

सामूहिक नेतृत्व पर मुहर के बाद संगठन गठन की दरकार

माना जा रहा है कि ऐलनाबाद उपचुनाव के बाद कांग्रेस के संगठन गठन का काम पूरा हो जाएगा। इसका कारण यह भी है कि पूर्व सीएम और नेता प्रतिपक्ष सहित उनके समर्थक 24 विधायकों को पार्टी हाईकमान से काफी उम्मीद थीं। पिछले माह जब हरियाणा कांग्रेस के विधायक दिल्ली में भूपेंद्र सिंह हुड्डा के निवास से सीधे पार्टी मुख्यालय पहुंचे थे तो यह कहा जा रहा था कि प्रदेश कांग्रेस में बदलाव ही हाईकमान के पास एकमात्र विकल्प है। शनिवार को हुई कार्यसमिति की बैठक के बाद यह कहना ही ठीक रहेगा कि राज्य कांग्रेस पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा, प्रदेश अध्यक्षा कुमारी सैलजा, राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला, पूर्व मंत्री किरण चौधरी व कैप्टन अजय यादव के सामूहिक नेतृत्व में चलेगी।

Edited By Kamlesh Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept