गुरुग्राम व फरीदाबाद सहित हरियाणा में पहली फरवरी से खुलेंगे स्कूल, शुरू होंगी दसवीं से 12वीं तक की कक्षाएं

Schools Open In Haryana हरियाणा में 1 फरवरी से स्कूल खुले और दसवीं से 12वीं तक की कक्षाएं लगेंगी। अभी स्‍कूल 26 जनवरी तक बंद थेेलेकिन हरियाणा सरकार ने स्‍कूलों को 31 जनवरी तक बंद रखने का फैसला किया है।

Sunil Kumar JhaPublish: Tue, 25 Jan 2022 05:11 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 06:01 PM (IST)
गुरुग्राम व फरीदाबाद सहित हरियाणा में  पहली फरवरी से खुलेंगे स्कूल, शुरू होंगी दसवीं से 12वीं तक की कक्षाएं

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। Schools Open In Haryana: हरियाणा के सभी सरकारी और निजी स्कूल पहली फरवरी से खुल जाएंगे। पहली फरवरी से स्‍कूलोंं में दसवीं से बारहवीं तक की कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। अभी तक स्कूलों में पढ़ रहे 15 साल से अधिक उम्र वाले 75 प्रतिशत छात्र-छात्राओं ने कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण करा लिया है। इससे उत्साहित शिक्षा विभाग ने स्कूलों को नियमित पढ़ाई के लिए खोलने का निर्णय लिया है। हालांकि, छठी से नौवीं कक्षाएं शुरू करने के लिए फैसला एक सप्ताह बाद ही परिस्थितियों के अनुसार लिया जाएगा।

छठी से नौवीं तक की कक्षाएं शुरू करने पर फैसला बाद में

बता दें कि हरियाणा में स्‍कूूल 26 जनवरी तक बंद हैं। ले‍किन हरियाणा सरकार ने 31 जनवरी तक स्‍कूलों को बंद रखने का फैसला किया है। हरियाणा की शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने मंगलवार को बताया कि कोरोना से बचाव के लिए पूर्व निर्धारित मानकों के अनुसार ही स्कूलों को विद्यार्थियों के लिए खोला जाएगा। पहले चरण में दसवीं, 11वीं और 12वीं की कक्षाएं शुरू करने का निर्णय लिया गया है।

उन्‍होंने बताया कि यह विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों की मर्जी पर निर्भर रहेगा कि वह आफलाइन पढ़ाई के लिए स्कूल आते हैं या फिर आनलाइन पढ़ाई जारी रखते हैं। स्कूल की तरफ से बच्चों को उपस्थिति के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा। 

स्कूलों के 75 प्रतिशत छात्र-छात्राओं ने कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण

गौरतलब है कि कोरोना की तीसरी लहर के चलते प्रदेश में पहली जनवरी से सभी स्कूल बंद हैं। पहले 12 जनवरी तक स्कूलों को बंद किया गया था, जिसे बाद में 26 जनवरी तक बढ़ा दिया गया। अब 31 जनवरी तक स्कूलों में आफलाइन पढ़ाई बंद रहेगी। इस दौरान स्कूल अध्यापक व अन्य स्टाफ 50 प्रतिशत हाजिरी लगाते रहेंगे और बच्चों की आनलाइन कक्षाएं चलती रहेंगी। इसके बाद हालात को देखकर अन्‍य कक्षाएं स्‍कूलों में लगाने के बारे में फैसला किया जाएगा।   

Edited By Sunil Kumar Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept