पुलिस भर्ती में रिजेक्ट हो चुके 2200 युवाओं को दोबारा शारीरिक नाप-तोल का मौका

Haryana Recruitment हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने पिछले दिनों पुलिस भर्ती के दौरान रिजेक्‍ट किए गए 000 युवाओं को बड़ी राहत दी है। एचएसएससी ने इन युवाओं को दाेबारा शारीरिक नाप - तौल का मौका दिया गया है।

Sunil Kumar JhaPublish: Sat, 29 Jan 2022 06:00 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 08:22 AM (IST)
पुलिस भर्ती में रिजेक्ट हो चुके 2200 युवाओं को दोबारा शारीरिक नाप-तोल का मौका

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने पुलिस भर्ती के दौरान रिजेक्ट किए गए करीब 2200 युवाओं को दोबारा से फिजिकल मेजरमेंट टेस्ट (शारीरिक नाप-तोल) कराने का मौका दिया है। प्रदेश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ, जब युवाओं की आपत्ति को स्वीकार करते हुए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने उन्हें दोबारा से शारीरिक नाप-तोल प्रक्रिया के लिए बुलाया है। एक से सात फरवरी के बीच यह प्रक्रियाा पंचकूला में शुरू होगी और हर रोज चार शिफ्ट में नाप-तोल प्रक्रिया को अमल में लाया जाएगा। पुरुष व महिला पुलिस के 6600 पदों के लिए करीब 12 लाख युवक-युवतियों ने आवेदन कर रखा है।

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने जारी किए रोल नंबर, 6600 पदों के लिए किया था 12 लाख युवाओं ने आवेदन

हरियाणा में पुरुष कांस्टेबल के 5500 पदों पर भर्ती होनी है, जिनके लिए आठ लाख 35 हजार युवाओं ने आवेदन कर रखा है। इनमें से करीब 200 युवाओं ने इस बात पर आपत्ति जताई है कि उनका शारीरिक नाप-तोल ठीक से नहीं हुआ है। कई युवक तो ऐसे हैं, जिन्होंने कहा है कि एसआइ की भर्ती परीक्षा में उनके शरीर की ऊंचाई (हाइट) ज्यादा थी और कांस्टेबल की भर्ती परीक्षा में हाइट कम हो गई। इस मुद्दे को लेकर कुछ युवक हाईकोर्ट भी गए थे। हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को इस मामले में उचित निर्णय लेने की सलाह दी थी।

युवाओं ने हाईट व चेस्ट की मेजरमेंट ने लगाया था भेदभाव का आरोप, सरकार व आयोग ने दिया मौका

इसी तरह महिला कांस्टेबल के 1100 पदों के लिए तीन लाख 50 हजार युवतियों ने आवेदन कर रखा है। इनमें से करीब दो हजार लड़कियों ने अपनी शारीरिक नाप-तोल की प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए दोबारा से मेजरमेंट करने की मांग की थी। इन युवतियों का भी कहना था कि उनके साथ भेदभाव बरता गया है और कहीं न कहीं धोखा हुआ है। प्रदेश सरकार ने इन आरोपों को गंभीरता से लिया। इंटरनेट मीडिया पर भी यह मामले खूब उछले, जिसके बाद हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने करीब 2200 युवक-युवतियों के रोल नंबर की लिस्ट जारी करते हुए उन्हें दोबारा से शारीरिक नाप-तोल का मौका प्रदान कर दिया है।

सभी युवाओं को एक से सात फरवरी तक पंचकूला में फिजिकल मेजरमेंट टेस्ट के लिए बुलाया गया

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने बताया कि यह 2200 युवक-युवतियां वे हैं, जो पुरुष व महिला पुलिस की भर्ती में रिजेक्ट हो गए हैं। चूंकि उन्हें लगता है कि उनके शारीरिक नाप तोल (पीएमटी) में गड़बड़ हुई है तो उन्हें दोबारा से बुलाया गया है। इस प्रक्रिया के तहत दोबारा से उनकी हाईट और चेस्ट की मेजरमेंट होगी। उन्होंने बताया कि एक दिन में चार शिफ्टों में यह जांच प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

सात फरवरी तक यह काम हो जाएगा, जिसके बाद फाइनल रिजल्ट घोषित होगा। भोपाल सिंह के अनुसार सभी अभ्यर्थियों को अपने साथ एडमिट कार्ड और फोटोयुक्त पहचान पत्र लाने को कहा गया है। किसी भी अभ्यर्थी के लिए अलग से एडमिट कार्ड जारी नहीं होगा।

Edited By Sunil Kumar Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept