This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

पेगासस जासूसी मामले में हरियाणा कांग्रेस का चंडीगढ़ में रोष मार्च, कुमारी सैलजा की अगुवाई में 24 विधायक जुटे

पेगासस जासूसी मामले को लेकर हरियाणा कांग्रेस ने चंडीगढ़ में रोष मार्च निकाला। इस दौरान राजभवन जा रहे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने रास्ते में ही रोक दिया। पुलिस ने कुमारी सैलजा सहित कई नेताओं को हिरासत लिया। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया।

Kamlesh BhattThu, 22 Jul 2021 04:59 PM (IST)
पेगासस जासूसी मामले में हरियाणा कांग्रेस का चंडीगढ़ में रोष मार्च, कुमारी सैलजा की अगुवाई में 24 विधायक जुटे

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पेगासस जासूसी मामले में हरियाणा कांग्रेस ने विरोध मार्च निकाला। कांग्रेस मुख्यालय से राजभवन की तरफ जा रहे कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने सेक्टर 9 में ही रोक दिया और कुमारी सैलजा सहित कई नेताओं को हिरासत में ले लिया। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। इस दौरान पुलिस व नेताओं के बीच हल्की झड़प भी हुई। रोष मार्च का नेतृत्व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्षा कुमारी सैलजा व पार्टी के हरियाणा प्रभारी विवेक बंसल कर रहे थे।

इजारयली कंपनी के जरिये जासूसी कराने के आरोप जड़ते हुए दो दर्जन कांग्रेस विधायकों ने केंद्र सरकार के खिलाफ जबरदस्त मोर्चा खोला। इनमें 19 विधायक पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के समर्थक थे, जबकि पांच विधायक प्रदेश अध्यक्ष कुमारी सैलजा खेमे के रहे। कांग्रेस विधायक दल की पूर्व नेता किरण चौधरी और पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा खुद प्रदर्शन में शामिल होने नहीं आ सके, लेकिन पूर्व सांसद एवं विधायक कुलदीप बिश्नोई अपने दल-बल के साथ प्रदर्शन में नजर आए।

 

पेगासस जासूसी मामले में रोष मार्च निकालते कांग्रेस नेता। जागरण

हुड्डा समर्थक चार विधायकों कुलदीप वत्स, राजेंद्र जूण, मोहम्मद इलियास और मामन खान ने अपनी-अपनी मजबूरी बताते हुए कांग्रेस के प्रदर्शन से दूरी बनाए रखी। हुड्डा ने कुमारी सैलजा व विवेक बंसल से फोन पर बात की तथा डाक्टरों द्वारा अभी फील्ड में नहीं आने की उन्हें दी गई हिदायत से अवगत कराया। हुड्डा ने कहा कि मैंने अपने विधायक भेज दिए हैं। कैप्टन अजय यादव के बेटे चिरंजीव राव दोनों खेमों में गिने जाते हैं। वह प्रदर्शन में नहीं दिखे, लेकिन उनके पिता पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव ने बढ़ चढ़कर भागीदारी की।

कुलदीप बिश्नोई और किरण चौधरी का अपना अलग रुतबा है। वह किसी खेमे से जुड़ने की बजाय अलग लाइन बनाकर चलना पसंद करते हैं। मौका था जासूसी कांड के विरोध में प्रदर्शन का, जिसमें नेतृत्व करने कांग्रेस प्रभारी विवेक बंसल स्वयं चंडीगढ़ पहुंचे। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व प्रदेश अध्यक्ष के नाते कुमारी सैलजा ने किया। कांग्रेस ने चूंकि राष्ट्रीय स्तर पर इन प्रदर्शनों का ऐलान किया था, लिहाजा हुड्डा समर्थक विधायकों के इसमें शामिल होने की पहले से पूरी संभावना थी। वैसे भी विवेक बंसल पूर्व में एक चिट्ठी जारी कर सभी विधायकों से यह हिसाब मांग चुके हैं कि उन्होंने महंगाई के विरोध में हुए आंदोलन के दौरान क्या आयोजन किए, इसकी रिपोर्ट दी जाए।

रोष मार्च के बाद पार्क में बैठकर हुक्का पीते कांग्रेस नेता। जागरण

हुड्डा समर्थक विधायक अगर इस आयोजन से भी कन्नी काट जाते तो उन पर पार्टी के कार्यक्रमों में शामिल नहीं होने के खुले आरोप लगते। बृहस्पतिवार को देखने में कांग्रेस पूरी तरह से एकजुट दिखाई पड़ी, लेकिन इन विधायकों की गतिविधियां ठीक उस तरह थी, जैसे दिल मिले न मिले, मगर हाथ मिलाते रहिये। सैलजा ने भी दावा किया कि प्रदर्शन कामयाब रहा है और कम से कम 24 विधायकों ने इसमें भागीदारी की।

विवेक बंसल ने पूछने पर कहा कि आपको नजर आ गया होगा कि कांग्रेस पूरी तरह से एकजुट है और हरियाणा में किसी तरह के मतभेद पार्टी नेताओं के बीच नहीं हैं। प्रदेश व जिला कमेटियों के गठन से जुड़े सवाल पर बंसल ने कहा कि जल्द ही आपको इसकी सूचना मिलेगी।

राज्यपाल के एडीसी ने थाने आकर लिया ज्ञापन

कांग्रेस दिग्गजों की गुटबाजी और सैलजा व हुड्डा के बीच चल रही तनातनी पर विवेक बंसल कुछ नहीं बोले। उन्होंने कहा कि आज हम प्रदर्शन के लिए आए हैं और यहां पूरी कांग्रेस एकजुट होकर केंद्र सरकार द्वारा कराई गई जासूसी का विरोध कर रही है। प्रदर्शनकारियों ने राजभवन के लिए जैसे ही पैदल मार्च शुरू किया, सेक्टर नौ स्थित कांग्रेस मुख्यालय के बाहर ही चंडीगढ़ पुलिस ने उन्हें रोक लिया। काफी धक्का-मुक्की के बाद तमाम कांग्रेसियों को बस में बैठाकर हिरासत में दिखाते हुए सेक्टर तीन थाने ले जाया गया। वहां राज्यपाल के एडीसी पहुंचे। ऐसा पहली बार हुआ कि कोई एडीसी थाने पहुंचा। उन्होंने कांग्रेसियों का ज्ञापन लेकर राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति तक पहुंचाने का भरोसा दिलाया।

कांग्रेस के इन विधायकों ने की प्रदर्शन में भागीदारी

हरियाणा कांग्रेस के आह्वान पर हुए इस प्रदर्शन में विधायक कुलदीप बिश्नोई, आफताब अहमद, रघुबीर सिंह कादियान, गीता भुक्कल, राव दान सिंह, जगबीर सिंह मलिक, जयवीर सिंह, प्रदीप चौधरी, शमशेर सिंह गोगी, धर्मसिंह छौक्कर, शकुंतला खट्टक, बीबी बत्तरा, शैली चौधरी, रेणुबाला, बीएल सैनी, अमित सिहाग, सुरेंद्र पंवार, वरूण चौधरी, शीशपाल केहरवाला, मेवा सिंह, नीरज शर्मा, बलबीर वाल्मीकि, सुभाष देसवाल, इंदुराज नरवाल, पूर्व सीएम चंद्रमोहन बिश्नोई, पूर्व डिप्टी स्पीकर अकरम खान, पूर्व सांसद सुशील इंदौरा व चरणजीत सिंह रोड़ी, पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव, पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा, सुभाष बत्रा, कृष्णमूर्ति हुड्डा, परमवीर सिंह, बिजेंद्र सिंह कादियान, पूर्व सीपीएस रामकिशन गुज्जर, प्रह्लाद सिंह गिल्लाखेड़ा, रामकिशन फौजी, पूर्व विधायक बलवान दौलतपुरिया, जसबीर मलौर, दयानंनद शर्मा, अत्तर सिंह सैनी, भीमसेन मेहता, स. तिरलोचन सिंह, सतपाल कौशिक, महासचिव डा. अजय चौधरी और रोहित जैन प्रमुख रूप स. शामिल हुए।

 

Edited By: Kamlesh Bhatt

पंचकूला में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
 
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner