महामृत्युंजय जाप कर पंजाब की चन्नी सरकार को बर्खास्त करने की मांग लेकर राजभवन पहुंचे हरियाणा भाजपा नेता

पंजाब में पीएम नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक के मामले को लेकर हरियाणा भाजपा ने पीएम की लंबी उम्र के लिए पूजा पाठ किया। हरियाणा भाजपा नेता राज्यपाल से मिले और चन्नी सरकार की बर्खास्तगी की मांग की।

Kamlesh BhattPublish: Fri, 07 Jan 2022 03:58 PM (IST)Updated: Fri, 07 Jan 2022 03:58 PM (IST)
महामृत्युंजय जाप कर पंजाब की चन्नी सरकार को बर्खास्त करने की मांग लेकर राजभवन पहुंचे हरियाणा भाजपा नेता

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। पंजाब में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक से हरियाणा के भाजपा नेता और कार्यकर्ता गुस्से में हैं। प्रधानमंत्री की लंबी आयु की कामना करते हुए शुक्रवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पंचकूला के माता मनसा देवी मंदिर में महामृत्युंजय जाप करते हुए हवन में पूर्णाहुति दी। इसके बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ और मुख्यमंत्री मनोहर लाल कई मंत्रियों के साथ राजभवन पहुंचे।

भाजपा सरकार और संगठन के शिष्टमंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपते हुए पंजाब की चन्नी सरकार को बर्खास्त करने की मांग राष्टपति से की। राज्यपाल को सौंपे ज्ञापन के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री को फिरोजपुर में होने वाली रैली में पहुंचना था। इससे पहले उन्हें हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के स्मारक पर शहीदों को नमन करना था। साथ ही अनेक प्रमुख विकास कार्यों की आधारशिला रखनी थी, लेकिन हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक से 20 किलोमीटर पहले जब पीएम मोदी का काफिला फ्लाईओवर पर पहुंचा तो वहां कुछ कांग्रेस के गुंडों द्वारा सड़क पर प्रदर्शन कर उन्हें रोक दिया गया।

प्रधानमंत्री का काफिला 20 मिनट तक पुल पर रुका रहा। पंजाब की कांग्रेस सरकार और पंजाब पुलिस की इस चूक से प्रधानमंत्री की सुरक्षा को खतरा उत्पन्न हुआ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा में चूक की घटना एक प्रकार की साजिश थी, परंतु कांग्रेस के खूनी इरादे नाकाम रहे। प्रधानमंत्री का गोपनीय रूट लीक किया गया तथा वहां लोगों को बुलाकर सड़क को जाम करवाया गया। कांग्रेस प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को विफल करने के लिए इतने निचले स्तर तक पहुंच गई थी कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा को ही खतरे में डाल दिया गया।

उन्होंने कहा कि पंजाब की कांग्रेस सरकार व जो भी इस साजिश में शामिल रहे हैं, उन सभी के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए। हरियाणा भाजपा राष्ट्रपति से पंजाब सरकार को बर्खास्त करने का अनुरोध करती है। बाक्स वीडियो कान्फ्रेसिंग में पंजाब के सीएम थे असहज मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि कार्यक्रम में सभी मुख्यमंत्री लाइव जुड़े हुए थे। मैं भी जुड़ा हुआ था। पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी भी आनलाइन जुड़े हुए थे। वे असहज थे। बार-बार उठ रहे थे। कभी इधर जा रहे थे तो कभी उधर। वे परेशान दिखाई दे रहे थे। वे आंदोलनकारियों को सपोर्ट कर रहे थे या स्थिति नियंत्रित कर रहे थे, यह पता नहीं, परंतु वे असहज थे।

प्रोटोकाल के तहत सीएम चन्नी, उनके डीजीपी और मुख्य सचिव को पीएम को रिसीव करने जाना था, लेकिन वह नहीं गए। यदि उन्हें कोविड था तो उसका भी प्रमाण मिल जाएगा। सुप्रीम कोर्ट, गृह मंत्रालय और पंजाब सरकार की रिपोर्ट आएगी। रिटायर्ड आइपीएस अधिकारियों ने भी राष्ट्रपति को पत्र लिखा है। पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक पंजाब सरकार का फाल्ट है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं के कार्यक्रम का विरोध आज तक क्यों नहीं हुआ। चन्नी जगह-जगह आ-जा रहे हैं। यदि पंजाब से कोई चूक नहीं हुई तो कमेटी बनाने की जरूरत नहीं थी। कांग्रेस सरकार ने कमेटी क्यों बनाई। इसका मतलब सब समझ रहे हैं।

पंजाब में नहीं कोई जिम्मेदार सरकार

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि पीएम की सुरक्षा में चूक बड़ी गलती है। इस चूक को किसी प्रकार के बयानों से ढका नहीं जा सका। केंद्र सरकार पंजाब में राष्ट्रपति शासन पर फैसला लेगी। पंजाब में कोई जिम्मेदार सरकार नहीं है। इस मामले पर पंजाब सरकार के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी का स्पष्टीकरण कि प्रजातंत्र में कोई भी प्रधानमंत्री का रास्ता रोककर उनसे बात कर सकता है, गलत है। यह उनका स्पष्टीकरण नहीं बल्कि उनकी स्वीकारोक्ति है कि इस षड्यंत्र में उनकी संलिप्तता है।

भाजपा के प्रांतीय प्रवक्ता सुदेश कटारिया और सह मीडिया प्रमुख संजय आहुजा ने बताया कि राज्यपाल से मिलने वालों में मुख्यमंत्री के अलावा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़, गृह मंत्री अनिल विज, शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुर्जर, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो. रामबिलास शर्मा, खेल राज्य मंत्री संदीप सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री रतनलाल कटारिया और भाजपा के प्रांतीय महामंत्री वेदपाल एडवोकेट प्रमुख रहे। पंचकूला स्थित माता मनसा देवी मंदिर में हवन-यज्ञ की शुरुआत स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता ने कराई, जिसमें सीएम ने पूर्णाहुति डाली।

Edited By Kamlesh Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम