This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

हरियाणा से चल रही तीसरे मोर्चे की कोशिश, चौटाला की नीतीश के बाद अब मुलायम व देवगौड़ा से गुफ्तगू

Third Front देश में तीसरे मोर्चा के गठन की कोशिशें हरियाणा से हो रही है। हरियाणा के पूर्व मुख्‍यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला जेल से रिहा होने के बाद इसके लिए पूरी सक्रियता से जुटे हुए हैं। बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के बाद उन्‍होंने मुलायम सिंह यादव से गुफ्तगू की है।

Sunil Kumar JhaMon, 09 Aug 2021 08:08 PM (IST)
हरियाणा से चल रही तीसरे मोर्चे की कोशिश, चौटाला की नीतीश के बाद अब मुलायम व देवगौड़ा से गुफ्तगू

 चंडीगढ़, राज्‍य ब्‍यूरो। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला भाजपा व कांग्रेस के विरुद्ध तीसरे मोर्चे का ताना-बाना बुनने में पूरी सक्रियता के साथ जुटे हुए हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ पिछले दिनों हुई मुलाकात के बाद चौटाला ने सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से गु्फ्तगू की है। देवगौड़ा और मुलायम इनेलो प्रमुख ओमप्रकाश चौटाला के पुराने साथियों में शुमार हैं। मुलायम सिंह यादव ने चौटाला को जलेबी, समोसा और हरी चटनी खिलाई।

ओमप्रकाश चौटाला ने की देवगौड़ा और मुलायम सिंह से यादव से मुलाकात

एचडी देवगौड़ा और मुलायम सिंह से ओमप्रकाश चौटाला की मुलाकात इन दोनों नेताओं के नई दिल्ली स्थित आवास पर हुई। जेल से रिहा होते ही चौटाला तीसरे मोर्चे के गठन की प्रक्रिया में जुट गए थे। चौटाला अपने पिता पूर्व उप प्रधानमंत्री स्व. देवीलाल की जयंती के उपलक्ष्य में 25 सितंबर को हरियाणा में बड़ा आयोजन करने वाले हैं।

तीसरा मोर्चा बनाने पर चर्चा, 25 सितंबर के सम्मान समारोह का निमंत्रण दिया

चौटाला इस कार्यक्रम के दौरान ही तीसरे मोर्चे के गठन का विधिवत एलान करने की रूपरेखा तैयार कर रहे हैं। इस राज्य स्तरीय आयोजन की जगह अभी तय होना बाकी है, लेकिन चौटाला अपने पुराने मित्रों और देवीलाल के साथियों को इस मंच पर इकट्ठा कर अपनी राजनीतिक ताकत दिखाना चाहते हैं।

अगले 10 दिनों में कई राजनीतिक हस्तियों से मुलाकात का चौटाला का दावा

ओमप्रकाश चौटाला हरियाणा के पांच बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। 87 साल की उम्र में भी उनकी इच्छा शक्ति और गजब की याद्दाश्त है। चौटाला के नेतृत्व वाले क्षेत्रीय दल इनेलो में बिखराव के बाद उनके सामने अपने पुराने कार्यकर्ताओं को एकजुट करने और राजनीतिक रूप से पार्टी को साबित करने की बड़ी चुनौती है।

वह जब जेल में थे, तब उनके छोटे बेटे अभय सिंह चौटाला ने धरातल पर खूब मेहनत की। बड़े बेटे अजय सिंह चौटाला और पोते दुष्यंत चौटाला के अलग जननायक जनता पार्टी बना लेने के बाद चौटाला छोटे बेटे अभय   चौटाला को न केवल अपने राजनीतिक उत्तराधिकारी के रूप में पेश कर रहे हैं, बल्कि स्व. देवीलाल की विरासत का झंडा भी उनके हाथ में थमाना चाहते हैं।

चौटाला हरियाणा में एक बड़ी रैली का आयोजन कर इनेलो के साथ पुराना कैडर होने का संदेश देना चाहते हैं। एचडी देवगौड़ा और मुलायम सिंह यादव के साथ चौटाला ने तीसरे मोर्चे के गठन की तो चर्चा की ही, साथ ही 25 सितंबर की रैली में शामिल होने का निमंत्रण भी दिया है। संभवत: यह रैली जींद में होगी।

चौटाला अगले 10 दिनों के भीतर पश्चिमी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश ¨सह बादल, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शरद पवार और शरद यादव से भी मुलाकात करने वाले हैं। देवगौड़ा व मुलायम ¨सह से दिल्ली में हुई मुलाकात के दौरान उनके पोते करण चौटाला भी साथ रहे। करण ने बताया कि 'सम्मान समारोह' के लिए दोनों नेताओं ने इनेलो प्रमुख का निमंत्रण स्वीकार कर लिया है।

Edited By: Sunil Kumar Jha

पंचकूला में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
Jagran Play

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

  • game banner
  • game banner
  • game banner
  • game banner