हरियाणा सब इंस्पेक्टर परीक्षा में पूछे गए विवादित प्रश्न, कर्मचारी चयन आयोग ने पेपर सेटर को भेजा नोटिस

हरियाणा पुलिस सब इंस्पेक्टर की लिखित परीक्षा में अजीबोगरीब सवाल पूछने पर हरियाणा सरकार और कर्मचारी चयन आयोग सख्त हो गया है। कर्मचारी चयन आयोग ने पेपर सेटर कंपनी को ब्लैक लिस्ट करते हुए कारण बताओ नोटिस भेजा है।

Kamlesh BhattPublish: Thu, 30 Sep 2021 07:41 PM (IST)Updated: Fri, 01 Oct 2021 09:06 AM (IST)
हरियाणा सब इंस्पेक्टर परीक्षा में पूछे गए विवादित प्रश्न, कर्मचारी चयन आयोग ने पेपर सेटर को भेजा नोटिस

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की पुलिस सब इंस्पेक्टर (महिला-पुरुष) की लिखित परीक्षा में पूछे गए अजीब सवालों पर प्रदेश सरकार व आयोग ने कड़ा संज्ञान लिया है। प्रदेश सरकार ने जहां आयोग को भविष्य में गैर जिम्मेदाराना सवाल न पूछे जाने के निर्देश दिए हैं, वहीं आयोग ने पेपर सेट करने वाली कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। कर्मचारी चयन आयोग ने संबंधित पेपर सेटर को ब्लैक लिस्ट करते हुए आगे पेपर सेट न कराने तथा अभी तक का समस्त भुगतान रोकने का भी फैसला लिया है।

पेपर सेट करने वाली कंपनी ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के साथ हुए अनुबंध से बाहर जाकर सवाल पूछे हैं।

कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज की खासियत के बारे में सवाल पूछा गया था। इसके साथ ही विकल्प के तौर पर अविवाहित शब्द भी दिया गया। इसके अलावा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी के गांव खदरी को लेकर भी परीक्षा में सवाल पूछा गया था। सवाल यह था कि खदरी शब्द किस जाति, समुदाय, गोत्र या खादर से संबंधित है। इन सवालों को लेकर इंटरनेट मीडिया पर खासी आपत्ति दर्ज कराई गई थी, जिसके बाद प्रदेश सरकार ने कर्मचारी चयन आयोग से जवाब मांगा था।

हरियाणा सरकार आयोग के चेयमैन भोपाल सिंह खदरी के उस जवाब से संतुष्ट नहीं हुई, जिसमें कहा गया था कि किसी भी प्रश्नपत्र को चेयमरैन या आयोग के किसी प्रतिनिधि द्वारा नहीं पढ़ा जाता और न ही यह पता होता है कि परीक्षा में क्या-क्या पूछा जाने वाला है। भोपाल सिंह खदरी ने बताया कि हालांकि आयोग में किसी भी अभ्यर्थी ने इन सवालों पर लिखित में कोई आपत्ति नहीं जताई है, लेकिन विपक्ष द्वारा उठाए गए सवालों को सरकार और आयोग दोनों ने गंभीरता से लिया है।

हरियाणा सरकार ने सख्त निर्देश दिए हैं कि इस प्रकार की पुनरावृत्ति दोबारा नहीं होनी चाहिए। आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह ने प्रदेश सरकार को भरोसा दिलाया कि भविष्य में ऐसा न हो, इस बात का पूरा ध्यान रखा जाएगा। चेयरमैन ने इस बारे में इंटरनेट मीडिया पर गलती भी स्वीकार कर ली है। भोपाल सिंह के अनुसार वह स्वयं इस प्रकार के सवालों से सहमत नहीं हैं। आयोग ने पेपर सेटर को इस प्रकार के प्रश्न पूछने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयोग और पेपर सेटर के बीच यह अनुबंध था कि वह जाति, बिरादरी या धर्म से संबंधित कोई सवाल नहीं पूछेगा, लेकिन ऐसा कर पेपर सेटर ने अनुबंध का उल्लंघन किया है। भविष्य में इस पेपर सेटर से काम नहीं कराने और भुगतान रोकने का निर्णय लिया जा चुका है।

ऐसे विवादित छह सवाल जो पूछे गए थे

1. हरियाणा के ऐसे कौन से सांसद हैं, जिनके पिता की मृत्यु हाल ही में हुई है?

2. हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज की खासियत क्या है?

3. हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी के नाम में खदरी का क्या अभिप्राय है?

4. बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ अभियान की लांचिंग पर प्रधानमंत्री के साथ किस अभिनेत्री ने स्टेज शेयर किया था?

5. प्रदेश में भाजपा के टिकट पर बरौदा विधानसभा का उपचुनाव किसने लड़ा था?

6. हरियाणा में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष कौन हैं?

ऐलनाबाद चुनाव के कारण परीक्षा की तारीख में बदलाव

आगे होने वाली परीक्षाओं के शेड्यूल में ऐलनाबाद उपचुनाव की तारीख की वजह से बदलाव किया गया है। चेयरमैन ने बताया कि हरियाणा पुलिस पुरुष सिपाही की भर्ती के लिए होने वाली परीक्षा की तारीखों में मामूली बदलाव है। अब यह परीक्षा 28, 29 व 31 अक्टूबर को रखी गई है। हरियाणा पुलिस कमांडो, एएलएम और पीजीटी संस्कृत के लिए 13 नवंबर की तारीख निश्चित की गई है। पटवारी, कैनाल पटवारी और ग्राम सचिव की भर्ती के लिए होने वाली परीक्षा 17, 18 व 19 दिसंबर को होगी।

31 मार्च तक 25 हजार युवाओं को मिलेगी नौकरियां

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भोपाल सिंह खदरी ने बताया कि अगले साल 31 मार्च तक करीब 25 हजार युवाओं को नौकरियां देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अभी तक 82 हजार से अधिक सरकारी नौकरियां आयोग के माध्यम से हरियाणा सरकार दे चुकी है।

करीब डेढ़ लाख युवाओं ने दी थी परीक्षा

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की पुलिस सब इंस्पेक्टर (महिला-पुरुष) की लिखित परीक्षा में करीब डेढ़ लाख युवा बैठे थे। सभी 568 परीक्षा केंद्रों का एचएसएससी मुख्यालय में लाइव टेलीकास्ट रहा। सब इंस्पेक्टर के कुल 465 पदों के लिए 2 लाख 14 हजार 808 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। इनमें से 400 पुरुष पदों के लिए 1 लाख 58 हजार 207 और महिला के 65 पदों के लिए 56 हजार 601 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। पुरुषों के लिए 10 जिलों पंचकूला, अंबाला, कुरुक्षेत्र, यमुनानगर, करनाल, महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, पानीपत, गुरुग्राम और फरीदाबाद में परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। सुबह नौ से 10.30 बजे तक हुई परीक्षा में 1 लाख 7 हजार 580 परीक्षार्थी पहुंचे। दोपहर बाद तीन से 4.30 के सत्र में कुरुक्षेत्र, करनाल, अंबाला, यमुनानगर और पानीपत में 36 हजार 790 महिलाएं परीक्षा देने पहुंची।  

Edited By Kamlesh Bhatt

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept