बारिश से खेतों में भरा पानी, फसल हुई खराब

शेरसिंह चांदोलिया नगीना जिले में आठ दिन पहले तेज बारिश ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर

JagranPublish: Sat, 29 Jan 2022 04:37 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 04:37 PM (IST)
बारिश से खेतों में भरा पानी, फसल हुई खराब

शेरसिंह चांदोलिया, नगीना: जिले में आठ दिन पहले तेज बारिश ने किसानों की मेहनत पर पानी फेर दिया। निचले इलाके के खेतों में दस दिन बाद भी पानी भरा हुआ है। फसल पीली होकर गलने लगी है। गेहूं तथा सरसों तथा सब्जी उगाने वाले किसान परेशान हैं। प्याज की पौध की जड़ सड़ने लगी है। परेशान होकर किसान प्रशासन से गिरदावरी करा मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं।

जिले में सरसों 92,750, गेहूं 1,63,950, चना 287.50, जौ 1,670 तो मसूर फसल 115 एकड़ में बोई गई है। ठंड के मौसम में बारिश किसानों के लिए सोने पर सुहागा साबित होती है। इस बार दो दिन क्षेत्र में जमकर बारिश हुई, जिससे खेतों में पानी भर गया। कई किसानों ने तो फसल की बारिश के कुछ दिन पहले ही सिचाई कर दी थी। उनको तेज बारिश ने अधिक नुकसान पहुंचाया है। किसानों की मांग:

किसान अहमद, मोहम्मद आजम, साकिर, चाव खान ने कहा कि बारिश अधिक होने के कारण सभी खेतों में पानी भरा हुआ है। इस साल सरसों में गेहूं की फसल नहीं हो पाएगी। फसल गलने लगी है। पानी सूखने के आसार भी नहीं हैं। किसानों ने कहा कि सरकार से मांग है कि खेती की गिरदावरी करते हुए हमें उचित मुआवजा प्रदान कराया जाए। यहां हुए ज्यादा नुकसान:

जिले के बलई, उमरा, सहजादपुर, खानपुर घाटी, रनियाला पटाकपुर, ढाडोली कलां, ढाडोला सहित दर्जनों गांवों में बारिश के पानी भरने से फसल नष्ट हो गई है।

---------

शनिवार को एसडीएम फिरोजपुर झिरका तथा अन्य अधिकारियों ने मौके का मुआयना किया है। सभी गांव की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है। सौ प्रतिशत फसल खराब है। इसकी रिपोर्ट जिला उपायुक्त को भेज दी है।

- पवन कुमार बत्रा, नायब तहसीलदार, नगीना

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept