संस्थागत प्रसव को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की मेवात की तारीफ

जागरण संवाददाता नूंह आकांक्षी जिलों की वीडियो कान्फ्रेंसिग में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ि

JagranPublish: Sat, 22 Jan 2022 05:25 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 05:25 PM (IST)
संस्थागत प्रसव को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की मेवात की तारीफ

जागरण संवाददाता, नूंह : आकांक्षी जिलों की वीडियो कान्फ्रेंसिग में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जिला नूंह में संस्थागत प्रसव में सुधार के लिए सराहना की। पीएम ने कहा कि आकांक्षी जिलों की सूची वर्ष 2018 में आई थी, उस समय हरियाणा के मेवात जिले की 40-45 प्रतिशत संस्थागत डिलीवरी (प्रसव) थी, लेकिन जो अब बढ़कर 90 प्रतिशत तक पहुंच गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेवात में संस्थागत डिलीवरी में सुधार एक उदाहरण के रूप में देखा जा रहा है ।

प्रधानमंत्री के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिग के माध्यम से बैठक के बाद उपायुक्त कैप्टन शक्ति सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के लिए नूंह जिले का चयन किया गया है। आने वाले कुछ समय में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेहतरीन इंफ्रास्ट्रक्चर इस जिले को मिलने जा रहा है। उपायुक्त कैप्टन शक्ति सिंह ने कहा कि आबादी के हिसाब से नूंह जिले में 52 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) होनी चाहिए, लेकिन इस समय 22 पीएचसी हैं। 30 पीएचसी नई बननी चाहिए। इसके अलावा 13 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) नई बनाई जानी चाहिए। जिले में चार सब डिवीजन है, इसलिए सब डिवीजन स्तर पर अस्पताल बनना चाहिए। इसके साथ-साथ बेहतरीन उपकरणों व चिकित्सकों की नियुक्ति भी इस जिले में होनी चाहिए। उपायुक्त ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग बेहतर काम कर रहा है,आने वाले समय में रिव्यू मीटिग ज्यादा से ज्यादा की जाएंगी ताकि समय पर डाटा अपलोड हो सके और रैंकिग में मेवात जिला बेहतर पायदान पर पहुंच सके। उपायुक्त शक्ति सिंह ने कहा कि नीति आयोग द्वारा देशभर के 112 पिछड़े जिलों की सूची बनाई गई थी, जिसमें लगभग 49 पैरामीटर तय किए गए थे। इनमें ड्रापआउट, संस्थागत डिलीवरी, सिचाई, कृषि, सेहत सहित अन्य विभागों के बहुत से काम थे। इन सभी में सुधार करने की जरूरत थी। मेवात जिला लगातार अपनी रैंकिग में सुधार कर रहा है। जिले के संबंधित विभागों के अधिकारी व कर्मचारी जिले को पिछड़े जिलों की सूची से बाहर निकालने में भरपूर मेहनत कर रहे हैं।

कृषि विभाग के अधिकारियों ने मेहनत की, लेकिन उसके बावजूद भी कभी रैंकिग में नीचे चले गए तो कभी ऊपर चले गए। उपायुक्त ने कहा कि ग्राउंड पर काम किया जा रहा है, अब साथ के साथ ही डाटा अपलोड किया जाएगा ताकि पिछड़े जिलों की रैंकिग में हरियाणा का मेवात जिला बेहतर पायदान पर आ सके। इस अवसर पर सहायक आयुक्त हर्षित कुमार, अतिरिक्त उपायुक्त डा. सुभिता ढाका, नगराधीश अखिलेश कुमार, मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी राजूराम, सिविल सर्जन डाक्टर सुरेंद्र यादव, उप सिविल सर्जन डा आशीष सिगला, डा. विशाल सिगला, उपनिदेशक पशुपालन विभाग डाक्टर नरेंद्र, एलडीएम पंकज सिन्हा, नवीन तेवतिया आदि मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम