विद्यार्थी पुस्तकों को अपना मित्र समझें : सरोज शर्मा

राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय हथीरा में रीडिग प्रमोशन सप्ताह के अंतर्गत अंतिम दिन पठन मेले का आयोजन किया गया। जिसमें एसएमसी सदस्य शिक्षकों व अभिभावकों ने सहभागिता की।

JagranPublish: Sat, 20 Nov 2021 11:28 PM (IST)Updated: Sat, 20 Nov 2021 11:28 PM (IST)
विद्यार्थी पुस्तकों को अपना मित्र समझें : सरोज शर्मा

- राजकीय विद्यालय हथीरा में रीडिग प्रमोशन सप्ताह के समापन पर लगाई पुस्तक प्रदर्शनी

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र : राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय हथीरा में रीडिग प्रमोशन सप्ताह के अंतर्गत अंतिम दिन पठन मेले का आयोजन किया गया। जिसमें एसएमसी सदस्य, शिक्षकों व अभिभावकों ने सहभागिता की। इस दौरान पुस्तकालय प्रभारी जयप्रीत कौर के निर्देशन में विद्यार्थियों ने विभिन्न प्रतियोगिताओं जैसे चित्रकला, वाद-विवाद, कहानी निर्माण, हंसना-हंसाना, विज्ञान के चमत्कार और रंगोली में भाग लिया। कार्यक्रम का शुभारंभ प्रिसिपल सरोज शर्मा ने किया।

प्रिसिपल सरोज शर्मा ने कहा कि पठन मेला आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य विद्यालय व गांव में पढ़ने की संस्कृति का विकास करना है, ताकि विद्यार्थियों में पढ़ने की आदत विकसित की जा सके। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे पुस्तकों को अपना मित्र समझें, ताकि आप भविष्य में देश के जिम्मेदार नागरिक बन सकें। पुस्तकालय प्रभारी जयप्रीत कौर ने कहा कि किसी भी राष्ट्र की सांस्कृतिक धरोहर व ज्ञान-विज्ञान के विकास के लिए पुस्तकालय एवं पुस्तकों के पठन पाठन के प्रचार-प्रसार की आवश्यकता होती है, क्योंकि पुस्तकालयों को शिक्षा व्यवस्था का आधार माना गया है। इस दौरान पुस्तकालय में पुस्तक प्रदर्शनी भी लगाई गई, ताकि विद्यार्थी अपनी रुचि की पुस्तकों का अध्ययन कर सकें। प्रिसिपल सरोज शर्मा ने सभी विजेता प्रतिभागियों को पैन व नोट बुक देकर पुरस्कृत किया।

ये रहे मौजूद

इस मौके पर वीना गुप्ता, अशोक कुमार, बंसीलाल, डा. महावीर कौशल, इंदु भाटिया, डा. तरसेम कौशिक, ओमदत्त अत्रि, संजीव कुमार, रघुबीर कौशिक, टिक्का सिंह, राजकुमार, एसएमसी उपप्रधान रामकुमार, गौतम मुनि, इंद्रो देवी, सुखदेवी, सत्यादेवी व मुस्कान देवी मौजूद रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept