जलभराव पर एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालते रहे नगर परिषद, बीएंडआर और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी

जागरण संवाददाता जींद शहर में जलभराव और अन्य समस्याओं को लेकर बीजेपी विधायक डा. कृष्ण

JagranPublish: Fri, 23 Jul 2021 07:02 AM (IST)Updated: Fri, 23 Jul 2021 07:02 AM (IST)
जलभराव पर एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालते रहे नगर परिषद, बीएंडआर और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी

जागरण संवाददाता, जींद : शहर में जलभराव और अन्य समस्याओं को लेकर बीजेपी विधायक डा. कृष्ण मिढ़ा ने वीरवार को नगर परिषद, बीएंडआर और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मीटिग ली। बैठक में जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. किरण सिंह भी मौजूद रहीं। पिछले दिनों बरसात से शहर में हुए जलभराव और रोहतक रोड पर सड़क धंसने के मामले में विधायक के सामने ही तीनों विभागों के अधिकारी एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालते रहे। बीएंडआर एक्सईएन नवनीत नैन ने कहा कि नगर परिषद ने अमरूत योजना के तहत जो बरसाती पानी की निकासी के लिए पाइप लाइन दबाई है। उसमें लीकेज की वजह से सड़क धंसी है। नगर परिषद एक्सईएन सुमित कुमार ने कहा कि जो पाइप लीक हुई है, वह बरसाती पानी की नहीं, बल्कि सीवर लाइन की है। जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ ने उनकी पाइप लाइन होने से इन्कार कर दिया। वहीं शहर में बरसाती पानी का मुद्दा उठा, तो भी नगर परिषद अधिकारियों ने कहा कि जन स्वास्थ्य विभाग के सीवर ब्लाक होने से बैक मार रहे थे। जिस कारण जलभराव हुआ। जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ ने कहा कि उनकी सभी सीवर लाइन साफ हैं। बरसाती पानी की निकासी की जिम्मेदारी नगर परिषद की है। तीनों विभागों द्वारा जिम्मेदारी एक-दूसरे पर डालने पर विधायक मिढ़ा ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि तीनों विभागों ने मेरा भट्ठा बैठा दिया है। विभागों की वजह से शहरवासियों की बातें मुझे सुननी पड़ रही हैं। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) का तो और भी बुरा हाल है। एचएसवीपी के अधिकारी और कर्मचारी तो आम लोगों के फोन तक नहीं उठाते। विधायक ने नगर परिषद, बीएंडआर और जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को नसीहत दी कि तीनों विभाग मिल कर काम करें। तीनों विभाग एक ज्वाइंट टीम बनाकर शहर में अमरूत योजना के तहत हुए कार्य की गहनता से जांच करें और इसकी जांच रिपोर्ट उन्हें सौंपे। इसके बाद नई सड़क बनाने का कार्य किया जाएगा।

---------------

मीटिग में नहीं आया ठेकेदार

विधायक द्वारा बुलाई मीटिग का मुख्य एजेंडा अमरूत योजना के तहत बरसाती पानी की निकासी के लिए दबाई पाइप लाइन के शुरू होने में देरी और उसकी वजह से बीएंडआर की धंसी सड़कों का था। इसके लिए ठेकेदार को भी मीटिग में बुलाया गया था। लेकिन ठेकेदार मीटिग में नहीं आया। विधायक ने इस पर नाराजगी जताई और नगर परिषद अधिकारियों से जवाब मांगा कि समय रहते अमरूत योजना का काम पूरा क्यों नहीं कराया। बरसाती पानी की निकासी के लिए दबाई पाइप लाइन की भी जल्द टेस्टिग करने के आदेश विधायक ने दिए।

----------------

सीएसआइ ने जन स्वास्थ्य विभाग पर जड़े आरोप

नगर परिषद के मुख्य सफाई निरीक्षक (सीएसआइ) मोहन भारद्वाज ने विधायक के सामने ही जन स्वास्थ्य विभाग के एसडीओ सतीश नैन से उलझते हुए कहा कि जन स्वास्थ्य विभाग वाले काम तो करते नहीं। जिम्मेदारी हमारे ऊपर डाल रहे हैं। सोमवार को हुई बारिश के दौरान सीवर बैक मार रहे थे। अगर सीवर लाइन साफ होती, तो ज्यादा दिक्कत नहीं आती। विधायक ने सीएसआइ को फटकार लगाई कि शहर एक भी बारिश नहीं झेल पाया। नालों की ढंग से सफाई नहीं की गई।

----------------

विधायक बोले- उचाना और जुलाना में ग्रांट का पैसा लग गया, जींद में क्यों नहीं

विधायक ने विधायक आदर्श ग्राम योजना तथा पीआरआइ (पंचायती राज संस्थान) ग्रांट का पैसा जींद ब्लाक में खर्च नहीं करने पर खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी से जवाब मांगा। विधायक ने कहा कि उचाना और जुलाना में पीआरआइ ग्रांट की राशि खर्च हो गई है। उनका लठ मजबूत है, इसलिए वहां काम हो गया। उचाना से डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला विधायक हैं और जुलाना में जेजेपी से अमरजीत ढांडा विधायक हैं। पंचायत विभाग डिप्टी सीएम के पास है।

-----------------

सफाई ठेकेदार को नोटिस, ठेका रद करने की चेतावनी

विधायक डा. कृष्ण मिढ़ा ने शहर की सफाई व्यवस्था पर नाराजगी जताते हुए कहा कि शहर में जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हैं। नगर परिषद एक्सईएन सुमित कुमार को आदेश दिए कि अगर ठेकेदार ढंग से काम नहीं करना चाहता, तो उसकी पेमेंट रोक दो। विधायक के आदेश पर नगर परिषद की तरफ से ठेकेदार को नोटिस जारी किया गया है। ठेकेदार से डोर टू डोर जाकर कूड़ा लाने वाले कर्मचारियों के मोबाइल नंबर, गाड़ियों के नंबर, जीपीएस की रिपोर्ट तथा किए गए चालान की प्रति मांगी गई है। मेन बाजार में कूड़े का उठान सही से नहीं हो रहा। सफाई को लेकर पब्लिक की भी काफी शिकायतें आ रही हैं। नियमानुसार कार्य किया जाए, नहीं तो ठेका रद किया जा सकता है। बस स्टैंड, फायर स्टेशन, रेलवे स्टेशन, तिकोना पार्क, बिजली घर, बत्तख चौक, अर्बन एस्टेट, कुंदन सिनेमा, सफीदों रोड समेत काफी जगहों पर सुबह 11 से 12 बजे तक कूड़ा पड़ा रहता है। दो दिन के अंदर सफाई व्यवस्था ठीक कर रिपोर्ट देने के ठेकेदार को आदेश दिए हैं।

--------------

पालीथिन रखने वाले दुकानदारों पर होगी कार्रवाई

शहर में नाले और सीवर लाइनों के ब्लाक होने में पालीथिन सबसे मुख्य कारण है। जिससे बरसात होने पर पानी की निकासी सुचारू रूप से नहीं हो पाती। विधायक मिढ़ा ने नगर परिषद एक्सईएन को आदेश दिए कि दुकानदारों को नोटिस देकर एक सप्ताह का समय दिया जाए। उसके बाद भी अगर किसी के पास पालीथिन मिलती है, तो उनके चालान किए जाएं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept