आंगनबाड़ी वर्करों ने बर्खास्तगी के दिए नोटिस का दिया जवाब

आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स ने हड़ताल करके 44वें दिन भी लघु सचिवालय में धरना दिया।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 07:07 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 07:07 PM (IST)
आंगनबाड़ी वर्करों ने बर्खास्तगी के दिए नोटिस का दिया जवाब

जागरण संवाददाता, जींद : आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स ने हड़ताल करके 44वें दिन भी लघु सचिवालय के बाहर जिला प्रधान भूला देवी की अध्यक्षता में धरना दिया। आंगनबाड़ी वर्करों को जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा दिए गए बर्खास्तगी के नोटिस का जवाब तहसीलदार अजय सिंह के माध्यम से डीसी व एडीसी को भेजा गया। आंगनबाड़ी वर्करों ने निर्णय लिया कि शनिवार को नरवाना के विधायक रामनिवास सुराजाखेड़ा के आवास का घेराव किया जाएगा। सीटू के जिला सचिव कपूर सिंह व उप प्रधान कश्मीर सेलवाल ने कहा कि सरकार मांगों का समाधान करने के बजाय धमकियां दे रही है और बर्खास्त करने के पत्र निकाल रही है। इससे सरकार का तानाशाही रवैया एक बार फिर सबके सामने है। उन्होंने कहा कि सरकार आंगनबाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स के साथ दुश्मनों जैसा व्यवहार कर रही है और वर्कर्स-हेल्पर्स की समस्याओं का समाधान नहीं कर रही। उन्होंने कहा कि इतनी सर्दी में प्रदेश की हजारों महिला कर्मी सड़क पर बैठी हैं और सरकार मौन बैठी है। 0-6 साल के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, दूध पिलाने वाली माताओं जिनके लिए पोषण व स्वास्थ्य की देखभाल आइसीडीएस विभाग के तहत वर्कर्स और हेल्पर्स करती हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में संयुक्त तालमेल कमेटी के नेतृत्व में आंगनबाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स आठ दिसंबर से हड़ताल पर हैं। इस अवसर पर शीलावती, कमलेश, रमेश देवी, पिन्नी, उषा रानी, पुष्पा, सुदेश, मूर्ति, बिमला, कमला, बीरमति, राजकुमारी, सतवंती, जयपति, सुनीता, लक्ष्मी, सीमा, पूनम, सरोज, कृष्णा, किताबो, राजेश देवी, दर्शना, मुकेश, कमला, बोहती, सावित्री, लाजवंती, निर्मला, जयपति के अलावा अन्य महिलाएं मौजूद थीं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept