एक्टिव केस 800 के पार, 177 नए संक्रमित हुए रिपोर्ट, लापरवाही उचित नहीं

पहली और दूसरी लहर में जब संक्रमितों का आंकड़ा सीमित था तो जमीनी स्तर पर सख्ती बहुत ज्यादा थी। प्रशासनिक स्तर पर स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत बताए जा रहे नियमों का पालन भी गंभीरता से होता था। जबकि अब की दफा संक्रमितों का आंकड़ा रोजाना नए रिकार्ड तोड़ रहा हैं।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 11:20 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 11:20 PM (IST)
एक्टिव केस 800 के पार, 177 नए संक्रमित हुए रिपोर्ट, लापरवाही उचित नहीं

जागरण संवाददाता, झज्जर : पहली और दूसरी लहर में जब संक्रमितों का आंकड़ा सीमित था तो जमीनी स्तर पर सख्ती बहुत ज्यादा थी। प्रशासनिक स्तर पर स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत बताए जा रहे नियमों का पालन भी गंभीरता से होता था। जबकि, अब की दफा संक्रमितों का आंकड़ा रोजाना नए रिकार्ड तोड़ रहा हैं। शुक्रवार को 177 संक्रमित रिपोर्ट हुए। जबकि, एक्टिव केसों का आंकड़ा 800 को पार कर गया हैं। हालांकि, साथ ही राहत की बात यह है कि 221 डिस्चार्ज हुए हैं। रिपोर्ट हुए एक्टिव केसों में एक अस्पताल में भर्ती है। शेष होम आइसोलेशन पर अपना उपचार करवा रहे हैं।

3146 लाभार्थियों का हुआ वैक्सीनेशन

बढ़ती हुई ठंड का असर अब वैक्सीनेशन के आंकड़ों पर भी देखने को मिल रहा हैं। पिछले दिनों जहां रोजाना 10 हजार से ज्यादा लाभार्थियों का वैक्सीनेशन हो रहा था। वहीं, शुक्रवार को आंकड़ा 3146 रहा। जिसमें 1 हजार 182 को पहली डोज, 1 हजार 732 को दूसरी डोज तथा 232 को बूस्टर डोज दी गई है। इधर, पहली डोज लेने वाले लाभार्थियों का आंकड़ा 8 लाख 29 हजार 871, दूसरी डोज लेने वालों का आंकड़ा 6 लाख 2 हजार 100 तथा 2259 ने बूस्टर डोज ली है। जिला में अभी तक कुल 14 लाख 34 हजार 230 का वैक्सीनेशन हुआ।

5.80 फीसद संक्रमण तो 65.50 फीसद रिकवरी दर : पिछले 20 दिसंबर से अभी तक के आंकड़ों की बात करें तो विभागीय स्तर पर करीब 48 हजार से अधिक सैंपल लिए गए है। जिसमें 1147 सैंपल की रिपोर्ट आना शेष है। लिए गए सैंपलों में संक्रमण दर 5.80 फीसद तो रिकवरी दर 65.50 फीसद रिपोर्ट हुई है।

21 जनवरी : 177 20 जनवरी : 222 19 जनवरी : 182 18 जनवरी : 251 17 जनवरी : 185 ---

मौजूदा समय में हम सभी को स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत बताए जा रहे सभी कदमों को उठाते हुए अपनी सुरक्षा करनी चाहिए। ऐसा करने से ही हम नए वैरिएंट को मात दे पांएगे। डा. संजय दहिया, सिविल सर्जन, झज्जर

-------------

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept