This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सिरसा में अनोखी चोरी, न ताला, न टूटी तिजोरी, डाकघर की 15 फीट ऊंची दीवार फांदकर 2 लाख चोरी

चोरों ने चार ताले खोलकर चोरों ने वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने पुन ताले लगाकर खोलने का प्रयास किया तो नहीं खुले। वीरवार को 32 लाख रुपये बैंक से निकलवाए गए थे 30 लाख रुपये पेंशन बांटने के लिए दिए गए थे शेष राशि तिजोरी में रखी थी।

Umesh KdhyaniFri, 23 Apr 2021 07:34 PM (IST)
सिरसा में अनोखी चोरी, न ताला, न टूटी तिजोरी, डाकघर की 15 फीट ऊंची दीवार फांदकर 2 लाख चोरी

सिरसा/ डबवाली, जेएनएन। न ताला तोड़ा, न तिजोरी। चोर करीब 15 फीट ऊंची दीवार फांदकर घुसे। दो लाख तीन हजार 246 रुपये चुराकर फुर्र हो गए। मामला डबवाली के जीटी रोड रेलवे फाटक के समीप स्थित मुख्य डाकघर का है।

शुक्रवार सुबह साढ़े सात बजे सफाईकर्मी बॉबी डाकघर पहुंचा तो रिकॉर्ड रूम तथा ऑपरेटिंग रूम खुले मिले। दोनों कमरों के ताले जमीन पर पड़े दिखाई दिए। सूचना पाकर कार्यकारी पोस्ट मास्टर भूपिंद्र सिंह समेत अन्य स्टॉफ सदस्य मौका पर पहुंचे। शहर थाना पुलिस के एएसआई ईश्वर सिंह, सीआइए डबवाली प्रभारी अजय कुमार ने निरीक्षण किया। कोई सुराग हाथ नहीं लगा। डाकघर के पीछे बने गोदाम के पास 10 से 15 ईंटों का चट्ठा मिला। संदेह जताया जा रहा है कि चोर ईंटों के सहारे दीवार कूदने में सफल रहे। रिकॉर्ड रूम, ऑपरेटिंग रूम के तालों को खोलकर अंदर घुसे। फिर तिजोरी पर लगे दोनों तालों को खोल लिया। उसमें रखी उपरोक्त नकदी समेत ढाई हजार रुपये के सिक्कों को चुरा लिया।

पोस्टमैन ने ताला लगाया, तो नहीं खोल पाई पुलिस

निरीक्षण करने के बाद पुलिस के सामने सवाल था कि दरवाजे का कुंडा या ताला तोड़े बिना चोर कैसे घुस सकते हैं। पुलिस ने शंका को दूर करने के लिए ताले बंद करके घर जाने वाले पोस्टमैन दविंद्र भुल्लर को बुलाया। पुलिस ने उसे ताले पकड़ाकर पुन: तालाबंदी करने के लिए कहा। भुल्लर ने ताले लगााए, सीआइए प्रभारी ने जोर लगाकर तालों को खोलने का प्रयास किया लेकिन ताले नहीं खुले। बाद में ताले को बंद करके नीचे फेंका तो झट से खुल गया। सीआइए प्रभारी ने कहा कि डाकघर प्रभारी की जिम्मेवारी है कि तालों को बदलकर अच्छे लॉक लगाए।

न सुरक्षाकर्मी, न सीसीटीवी कैमरे

सीआइए डबवाली ने गहनता से जांच की। उम्मीद थी कि सीसीटीवी कैमरों से कोई सुराग लगेगा। स्टॉफ ने बताया कि डाकघर में न तो कोई सुरक्षाकर्मी है, न ही सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। जिससे पुलिस की मुश्किलें बढ़ गई। चूंकि आस-पास कहीं भी सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हुए। ठीक सामने भवन निर्माण का कार्य चल रहा है। वहीं रिकॉर्ड रूम का ताला चटकाना बड़ी पहली बना हुआ है। पुलिस पूछताछ कर रही है कि कहीं कोई रिकॉर्ड तो चोरी नहीं हुआ। 

पेंशन न बांटते तो 16 गुना होता नुकसान

कार्यकारी पोस्ट मास्टर भूपिंद्र सिंह ने बताया कि वीरवार को 32 लाख रुपये बैंक से निकलवाए थे। जिसमें से 30 लाख रुपये पेंशन वितरकों को दे दिए थे। शेष तिजोरी में रखे गए थे। तिजोरी पर दो ताले लगे होते हैं। ताले तोड़े नहीं, खोले गए हैं जबकि चाबी मेरे पास थी। मैं अबोहर गया था। सुबह साढ़े सात बजे सूचना मिली तो मैं मौका पर आ गया था। तिजोरी में रखे दो लाख तीन हजार 246 रुपये तथा ढाई हजार रुपये के सिक्के चोरी हुए हैं।

फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को बुलाया 

उपनिरीक्षक शहर थाना डबवाली उमेद सिंह ने बताया कि भूपिंद्र सिंह की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को मौका पर बुलाया गया था। अभी रिपोर्ट आनी शेष है। चोरी की गुत्थी को सुलझाने के लिए प्रयासरत हैं।

हिसार की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हिसार में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!