कम उम्र में नाम चमका रही रोहतक की बेटी, पुर्तगाल में हुई Table Tennis Championship में जीता पदक

रोहतक की बेटी सुहाना ने पुर्तगाल में प्रतिभा का लोहा मनवाया है। वर्ल्ड यूथ टेबल टेनिस चैंपियनशिप के टीम इवेंट में सुहाना ने कांस्य पदक जीता है। ग्रीन रोड निवासी सुहाना सैनी इन दिनों पुर्तगाल में चल रही वर्ल्ड यूथ टेबल टेनिस चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही है।

Rajesh KumarPublish: Sat, 04 Dec 2021 01:08 PM (IST)Updated: Sat, 04 Dec 2021 01:08 PM (IST)
कम उम्र में नाम चमका रही रोहतक की बेटी, पुर्तगाल में हुई Table Tennis Championship में जीता पदक

जागरण संवाददाता, रोहतक। टेबल टेनिस की स्टार खिलाड़ी एवं रोहतक की बेटी सुहाना ने अपनी प्रतिभा का लोहा पुर्तगाल में भी मनवाया है। सुहाना ने टीम इवेंट में सराहनीय प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक जीता है। 

सुहाना सहित भारतीय टीम में चार खिलाड़ी हैं। टीम इवेंट में उनके सहित सभी चारों खिलाड़ियों के कांस्य जीतने पर रोहतक निवासी कोच भावना सैनी व खेल प्रेमियों ने खुशी प्रकट की है। रोहतक के ग्रीन रोड निवासी सुहाना सैनी इन दिनों पुर्तगाल में चल रही वर्ल्ड यूथ टेबल टेनिस चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही है।

अंडर-15 आयु वर्ग में जीता कांस्य पदक

सुहाना के पिता विकास ने बताया कि अंडर-15 आयु वर्ग की खिलाड़ी सुहाना ने इस चैंपियनशिप में कांस्य जीत कर इतिहास रच दिया है। दो दिसंबर से शुरू हुई इस चैंपियनशिप का आयोजन आठ दिसंबर तक होगा। इस बीच अभी सुहाना सिंगल्स व डबल्स आदि के मुकाबलों में भी अपनी प्रतिभा दिखानी हैं। ऐसे में उनसे अभी आैर मेडल जीतने की भी उम्मीद है। अटेकिंग खिलाड़ी में रूप में जानी जाने वाली सुहाना ने पांच में से दो मैच जीत कर कांस्य पर कब्जा जमाया है। चैंपियनशिप में मेडल जीत कर सुहाना ने देश व प्रदेश का मान बढ़ाया है। भारत में अंडर-17 में जहां सुहाना ने नंबर एक रैंक हासिल की हुई हैं।

लगातार दो बार नेशनल में जीता गोल्ड

वहीं, टेबल टेनिस के अंडर-15 में वे दुनिया में नंबर तीन रैंक हासिल कर चुकी हैं। इसके अलावा अंडर-17 में 13वीं और अंडर-19 में 21वीं रैंक प्राप्त कर चुकी हैं। पिछले महीनों सुहाना ने सीनियर खिलाड़ियों को भी मात दी और मेडल हासिल किए थे। सुहाना प्रदेश की पहली ऐसी टेबल टेनिस की खिलाड़ी रही हैं, जिन्होंने लगातार दो बार नेशनल में गोल्ड मेडल जीते हैं। सुहाना ने अब तक राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 80 से अधिक मेडल जीते हैं। जिनमें 40 अंतरराष्ट्रीय स्तर के मेडल हैं जबकि 43 राष्ट्रीय स्तर के मेडल शामिल हैं। इसके अलावा 17 बार राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग भी किया है। 

बेटियों के लिए पेश कर रही मिसाल

कक्षा 12वीं की यह छात्रा महज 16 वर्ष की उम्र में देश की नंबर एक व दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी बनकर दूसरे खिलाड़ियों खासकर बेटियों के लिए मिसाल पेश कर रही है। सुहाना यहां रोहतक में ही स्कालर्स रोजरी स्कूल की छात्रा हैं। सुहाना की मां खेल विभाग में ही प्रशिक्षक हैं और भारतीय टीम के साथ वहीं गई हुई हैं। जबकि सुहाना के पिता विकास सैनी भी टेबल टेनिस के अच्छे खिलाड़ी रही हैं। 

ये हैं सुहाना की उपलब्धियां

- अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जीते मेडल : 40

- अब राष्ट्रीय स्तर पर जीते मेडल : 43

- राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग किया :17

Edited By Rajesh Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम