फ्रंटलाइन वर्कर्स बूस्टर डोज लगवाने के मामले में बने लास्ट लाइन वर्कर, फतेहाबाद स्वास्थ्य विभाग ने लिखा पत्र

फ्रंट लाइन वर्करों में पुलिस राजस्व नगर परिषद व पंचायती राज विभाग में लगे कर्मचारी व अधिकारी शामिल है। एक सप्ताह गुजर जाने के बावजूद उनकी भागीदारी अच्छी नहीं रही है। यहीं हाल हेल्थ वर्करों का है। अभी तक केवल 294 हेल्थ वर्करों ने वैक्सीन की बूस्टर डोज ली है।

Naveen DalalPublish: Tue, 18 Jan 2022 03:33 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 03:33 PM (IST)
फ्रंटलाइन वर्कर्स बूस्टर डोज लगवाने के मामले में बने लास्ट लाइन वर्कर, फतेहाबाद स्वास्थ्य विभाग ने लिखा पत्र

फतेहाबाद, जागरण संवाददाता। फतेहाबाद में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है, ऐसे में स्वास्थ्य विभाग वैक्सीनेशन पर अधिक ध्यान दे रहा है। एक सप्ताह से अधिक समय से फ्रंट लाइन वर्कर, हेल्थ वर्कर व बुजुर्गों को बूस्टर डोज लगनी शुरू हो गई है। लेकिन प्रथम चरण में ये योग्य पात्र बूस्टर डोज लगवाने के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। यहीं कारण है कि अब स्वास्थ्य विभाग ने डीसी को पत्र लिखा है। सबसे खराब हाल तो फ्रंट लाइन वर्कर है। अभी तक केवल 13 फ्रंट लाइन वर्करों ने बूस्टर डोज लगवाई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग भी चिंतित है कि जो टारगेट दिया है वो कैसे पूरा होगा। जिला उपायुक्त ने तुरंत संज्ञान लेते हुए आदेश जारी कर दिया है कि जिन्होंने वैक्सीन की दूसरी डोज 90 दिन पहले लगवाई थी वो बूस्टर डोज लगवाये ताकि काेरोना से बच सके। ऐसे में अब देखना है कि डीसी के इस आदेश की कितनी पालना होती है। 

सरकारी कार्यालयों में तैनात कर्मचारियों को माना गया फ्रंट लाइन वर्कर 

फ्रंट लाइन वर्करों में पुलिस, राजस्व, नगर परिषद व पंचायती राज विभाग में लगे कर्मचारी व अधिकारी शामिल है। लेकिन एक सप्ताह गुजर जाने के बावजूद उनकी भागीदारी अच्छी नहीं रही है। यहीं हाल हेल्थ वर्करों का है। अभी तक केवल 294 हेल्थ वर्करों ने वैक्सीन की बूस्टर डोज ली है। वहीं 60 साल से अधिक 253 बुजुर्गों ने वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवा ली है। पिछले कुछ दिनों से बुजुर्गों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में फ्रंट लाइन वर्करों को भी कोरोना से बचना है तो बूस्टर डोज अवश्य लगवानी होगी। 

किशोरों को वैक्सीन लगवाने की रफ्तार कम पड़ी

इसी साल 2 जनवरी से 15 से 17 साल तक किशोरों को वैक्सीन लगनी शुरू हुई थी। पहले सप्ताह में करीब 50 प्रतिशत से अधिक किशोरों ने वैक्सीन लगवा ली। लेकिन पिछले पांच दिनों से यह अभियान ठंडा पड़ता जा रहा है। जिले में स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े के अनुसार 55 हजार किशोरों को वैक्सीन लगनी है। ऐसे में 30 हजार से अधिक किशोरों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है। ऐसे में टारगेट का 55.12 प्रतिशत किशोरों ने वैक्सीन लगवाई है। चार दिनों में केवल 4 प्रतिशत किशोर ही वैक्सीन लगवाने के लिए आगे आए है। वहीं जिले में 7 लाख 31 हजार लोगों को वैक्सीन लगनी है। ऐसे में करीब 6.60 लाख लोगों ने वैक्सीन की पहली डोज लगवा ली है। ऐसे में 89.34 प्रतिशत लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। वहीं 58.63 प्रतिशत लोगों ने दोनों डोज लगवा ली है।

अब जाने किसने कितनी लगवाई है वैक्सीन

पात्र                 प्रथम डोज     दूसरी डोज   बूस्टर डोज   कुल 

हेल्थ वर्कर              4789     4736 294    9819

फ्रंट लाइन वर्कर          2411     2014 13    4438

60 साल से अधिक       83477     61959 253      145689

45-59 साल तक       142507     114397 0   256904

18 साल से अधिक 395529     249422 0   644951

15-17 साल तक         30317 0 0    30317

कुल                   659030     432528 560   1092118

जिले में अभी तक केवल 13 फ्रंट लाइन वर्करों ने लगवाई है बूस्टर डोज

अभी तक केवल 13 फ्रंट लाइन वर्करों ने वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाई है। ऐसे में हमारी तरफ से डीसी को पत्र भेजा गया है। वहीं हेल्थ वर्करों को भी आदेश दिया गया है कि वो वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाये।

----डा. सुनीता सोखी, डिप्टी सिविल सर्जन फतेहाबाद।

जिले में अब तक 560 को लगी बूस्टर डोज 

फ्रंट लाइन वर्करों को आदेश जारी किया है कि बूस्टर डोज लगवाये। अगर ऐसा करेंगे तो खुद को संक्रमण से बचा सकते है। वहीं जिन लोगों ने वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लगवाई है तो वो जल्द से जल्द लगवा ले।

----प्रदीप कुमार, उपायुक्त फतेहाबाद।

Edited By Naveen Dalal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept