हिसार में हेरोइन तस्करी के आरोपित की जमानत के लिए फर्जी कागजात किया पेश, अज्ञात पर केस दर्ज

हिसार पुलिस ने आरोपितों को पकड़ने के लिए नाकाबंदी की गई। काफी देर बाद हांसी की तरफ से एक बोलेरो गाड़ी आती दिखाई दी। जिसको रुकने का इशारा किया तो गाड़ी चालक ने गाड़ी नहीं रोकी और जान से मारने की नीयत से गाड़ी उनके उपर चढ़ाने की कोशिश की।

Naveen DalalPublish: Tue, 18 Jan 2022 01:43 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 01:43 PM (IST)
हिसार में हेरोइन तस्करी के आरोपित की जमानत के लिए फर्जी कागजात किया पेश, अज्ञात पर केस दर्ज

हिसार, जागरण संवाददाता। हिसार कोर्ट में अतिरिक्त सत्र न्यायधीश वेद प्रकाश सिरोही के आदेशों पर पुलिस पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास करने और हेरोइन तस्करी  के आरोपित विदेशी युवक की जमानत के लिए फर्जी कागजात पेश करने वाले अज्ञात लोगों पर सिविल लाइन थाना में केस दर्ज किया गया है। दरअसल बरवाला थाना में 13 अप्रैल को दर्ज धारा 307, एनडीपीएस एक्ट और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत आगामी 28 जनवरी को मामले में सुनवाई है। मामले में अज्ञात लोगों ने आरोपित मूल रूप से नाइजीरिया निवासी और हाल दिल्ली के नवादा क्षेत्र में रहने वाले फ्रैंक जोसेफ की जमानत के लिए फर्जी कागजात पेश कर दिए, जिस पर एडिशनल सेशन जज की तरफ से पुलिस अधीक्षक को मामले में कार्रवाई के आदेश दिए गए थे। जिसके बाद अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया गया है।

मामले में आरोपितों ने पुलिस पर गाड़ी चढ़ाने का किया था प्रयास

मामले में 13 अप्रैल 2020 को स्पेशल स्टाफ फोर्स से एएसआइ दिनेश कुमार ने बरवाला थाना में केस दर्ज करवाया था। उन्होंने पुलिस को दी शिकायत में बताया था कि वह टीम सहित बरवाला रोड पर  ढाणी मीरदाद के पास बस अड्डा पर टीम सहित दो गाड़ियों के साथ मौजूद थे। उस दौरान मुखबिर से सूचना मिली की प्रदीप वासी पाबड़ा और अश्वनी वासी खेदड़ नशीला पदार्थ लेकर हांसी से बरवाला की तरफ आएंगे।

गाड़ी चढ़ाने का किया प्रयास

सूचना पर आरोपितों को पकड़ने के लिए वहां नाकाबंदी की गई। काफी देर बाद हांसी की तरफ से एक बोलेरो गाड़ी आती दिखाई दी। जिसको रुकने का इशारा किया तो गाड़ी चालक ने गाड़ी नहीं रोकी और जान से मारने की नीयत से गाड़ी उनके उपर चढ़ाने की कोशिश की। उस दौरान उनके साथ टीम ने सड़क से नीचे उतरकर अपनी जान बचाई। लेकिन आरोपित बोलेरो चालक ने उनकी टाटा सुमो को टक्कर मारी और बरवाला की तरफ गाड़ी भगा ले गए। उस दौरान दोनों गाड़ियां बोलेरो के पीछे भगाई। जब आरोपितों की गाड़ी थाना बरवाला के नजदीक पहुंची तो उनकी गाड़ी का टायर फट गया, जिसके कारण गाड़ी पलट गई।

जमानत के लिए फर्जी कागज

एएसआइ दिनेश ने बताया कि मौके पर जाकर गाड़ी चालक और साथ वाली सीट पर बैठे युवक को गाड़ी से बाहर निकाला। उनका नाम पता पूछा तो बोलेरो चालक ने अपना नाम प्रदीप वासी पाबड़ा और दूसरे युवक ने अपना नाम अश्वनी वासी खेदड़ बताया। इनके पास नशीले पदार्थ के शक में अश्वनी के हाथ में लिए बैग को चेक किया तो उसमें एक पोलिथीन से 10 पैंकिग में करीब एक किलोग्राम हेरोइन बरामद हुई। पुलिस ने शिकायत पर केस दर्ज किया था। आरोपितों ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि उन्होंने यह हेरोइन दिल्ली के नवादा क्षेत्र में रहने वाले फ्रैंक जोसेफ से मंगवाई थी। मूल रूप से फ्रैंक जोसेफ नाईजीरिया का निवासी है। लेकिन  हाल नई दिल्ली के नवादा गांव में रह रहा है। पुलिस फ्रैंक जोसेफ को दिल्ली से गिरफ्तार करके लाई थी। जिसकी जमानत के लिए वेद प्रकाश सिरोही की अदालत में जमानत के लिए फर्जी कागजात पेश किए गए।

Edited By Naveen Dalal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept