नीलामी से पहले म्यूजियो कैमरा परिसर में विटेज कारों का करें दीदार

म्यूजियो कैमरा परिसर में विंटेज कारों की प्रदर्शनी 24 से 26 नवंबर तक चलेगी। प्रदर्शनी का उद्घाटन मारवाड़ के महाराजा गज सिंह द्वितीय करेंगे। हिस्टारिका आक्शंस के सीईओ अमल तन्ना ने बताया कि विटेज कारों की नीलामी का शेड्यूल अगले माह के मध्य तक फाइनल हो जाएगा।

JagranPublish: Tue, 23 Nov 2021 06:56 PM (IST)Updated: Tue, 23 Nov 2021 07:03 PM (IST)
नीलामी से पहले म्यूजियो कैमरा परिसर में विटेज कारों का करें दीदार

जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: देश का पहला आटोमोबाइल एंड आटोमोटिव फाइन आ‌र्ट्स आक्शन हाउस 'हिस्टारिक आक्शन प्राइवेट लिमिटेड' 20 चुनिदा विटेज कारों की नीलामी कर रहा है। इसमें से नौ कारों को गुरुग्राम के डीएलएफ फेज चार, सेक्टर-28 स्थित म्युजियो कैमरा परिसर में भावी खरीदारों और विटेज कार प्रेमियों के लिए प्रदर्शित किया गया है। म्यूजियो कैमरा परिसर में विंटेज कारों की प्रदर्शनी 24 से 26 नवंबर तक चलेगी। प्रदर्शनी का उद्घाटन मारवाड़ के महाराजा गज सिंह द्वितीय करेंगे। हिस्टारिका आक्शंस के सीईओ अमल तन्ना ने बताया कि विटेज कारों की नीलामी का शेड्यूल अगले माह के मध्य तक फाइनल हो जाएगा।

इन कारों को भारतीय नागरिक ही खरीद सकता है। वहीं आटोमोटिव फाइन आ‌र्ट्स की नीलामी में अंतरराष्ट्रीय प्रतिभागी भी शिरकत कर सकते हैं। प्रदर्शित विटेज कारों में सभी के आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र वर्ष 1959 की कैडिलैक पिक है। इसकी कीमत एक करोड़ 20 लाख रुपये से अधिक बताई जा रही है। नीलामी से होने वाली आय का एक हिस्सा सामाजिक कल्याण के कार्यो के लिए दान किया जाएगा।

फिल्म निर्माता मुजफ्फर अली की ईथर, एब्सट्रैक्शन की सिग्नेचर स्टाइल पेंटिग, डेलेज, डेलाहाई, बेंटले, ड्यूसेबर्ग, इसोटा फ्रैस्चिनी और राल्स रायस जैसी क्लासिकल कारों की पेंटिग का भी प्रदर्शन किया जाएगा। हिस्टोरिका आक्शन की नीलामी आनलाइन और लाइव होगी। हिस्टोरिका आक्शंस के वाइस चेयरमैन मदन मोहन का कहना है कि विटेज कारों के मामले में वह फार द हाबी, फ्राम द हाबी नीति को लेकर आगे बढ़ रहे हैं। इनका यह भी कहना है कि उनकी ओर से खरीदारों को सलाह भी प्रदान की जाती है। मनाया जाएगा स्वर्णिम विजय पर्व

1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की विजय की 50वीं वर्षगांठ मनाई जाएगी। इस उपलक्ष्य में चैरिटी का काम किया जाएगा। इस युद्ध में भारतीय सेना में शामिल महिद्रा जीप सीजे-थ्री बी अपने मूल स्वरूप में नीलाम की जाएगी। इससे होने वाली आय को सेना के वेटरंस वेलफेयर ग्रुप को दान किया जाएगा। यह जीप हिस्टोरिका आक्शंस के वाइस चेयरमैन मदन मोहन के पास है।

क्या होती है विटेज कार

वर्ष 1946 से पहले बनी कारों को विटेज कार की श्रेणी में रखा जाता है। वर्ष 1946 के बाद बनी कारों को क्लासिकल कारों की श्रेणी में रखा जाता है। इस प्रकार की कारों की कीमत तीन लाख से लेकर दो करोड़ रुपये तक में होती है। दिल्ली-एनसीआर में इन कारों के लगभग 50 कारोबारी हैं। इन्होंने विटेज कारों की खोज के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में अपने एजेंट रखे हैं जो ऐसी कारों की तलाश करते हैं। विटेज कारों को बेचने के लिए उन पर कम से कम तीन माह काम करना पड़ता है। विटेज कारों को रखने वालों का कहना है कि इन कारों की कीमत वस्तुओं की तरह नहीं होती। यह तो शौक है। शौक की कीमत तय नहीं की जा सकती है।

इन विटेज कारों की होनी है नीलामी

- 1959 की कैडिलैक पिक: इस कैडिलैक सीडान डी विले कार को हालीवुड की फिल्मों ने लोकप्रिय बनाया है। यह कार ड्यूल बुलेट टेल लाइट के साथ अपने खास, लांग टेलफिन से आसानी से पहचानी जाती है।

- 1958 की एमजी ए-1500 स्पो‌र्ट्स कार उस दौर की है जब एयरोडायनमिक्स ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभानी शुरू की थी। एमजी स्टेबल्स की पहली उत्पादित स्ट्रीमलाइन बाडी है।

- 1958 टोयोटा एफजे-40 लैंड क्रूजर एक दुर्लभ कार है जिसने वर्तमान जापानी लैंड क्रूजर की आधारशिला रखने में आइकन का काम किया है।

- फिएट-500-सी टोपोलिनो इटालियन कार जिसे 'मिनी माउस' के नाम से जाना जाता है। इसे प्यार से मिकी माउस भी कहा जाता है।

- 1982 की मर्सिडीज बेंज-200 जो सिगल ओनर यूज है इसे सीकेएस फाउंडेशन की सहायता से नीलाम जाएगा। यह डब्ल्यूए 123 के रूप में जानी जाती है। इस कार को अब तक की सबसे सफल मर्सिडीज में से एक माना जाता है और दुनिया में इसकी 27 लाख यूनिट्स की बिक्री हुई है।

- प्रिजर्वेशन क्लास की 1934 कैडिलैक-355-डी-7 पैसेंजर इंपीरियल सीडान आज भी अपने मूल आकार में है। यह किसी भी नए बदलाव से अछूती और अपरिवर्तित है।

- 1958 मर्सिडीज बेंज 180 पोंटन कार बिल्कुल बार्न फाइंड स्थिति में। लंबे समय बाद एक बार फिर सड़क पर दौड़ने के लिए नए मालिक का इंतजार कर रही है।

- 1928 की आस्टिन-7 जिसे बेबी आस्टिन के नाम से जाना जाता है। यह अपने समय में उपलब्ध सबसे छोटी और सबसे किफायती कारों में से एक थी। इस कारण यह काफी लोकप्रिय थी।

- 1947 की क्रिसलर विडसर, क्रिसलर कार्पोरेशन की एक लक्जरी सीडान कार है। यह अमेरिका के बिग थ्री आटोमोबाइल निर्माताओं में से एक की शानदार कार है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept