गुरुग्राम-फरीदाबाद रोड के साथ विकसित होना चाहिए साइकिल ट्रैक, आरडब्ल्यूए ने लिखा पत्र

डीएलएफ कुतुब एन्क्लेव आरडब्ल्यूए की तरफ से गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण के सीईओ को पत्र लिखकर गुरुग्राम-फरीदाबाद रोड के दोनों तरफ खाली जगह में साइकिल ट्रैक बनाने की मांग रखी गई है।

JagranPublish: Tue, 18 Jan 2022 08:24 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 08:24 PM (IST)
गुरुग्राम-फरीदाबाद रोड के साथ विकसित होना चाहिए साइकिल ट्रैक, आरडब्ल्यूए ने लिखा पत्र

संवाद सहयोगी, नया गुरुग्राम: डीएलएफ कुतुब एन्क्लेव आरडब्ल्यूए की तरफ से गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण के सीईओ को पत्र लिखकर गुरुग्राम-फरीदाबाद रोड के दोनों तरफ खाली जगह में साइकिल ट्रैक बनाने की मांग रखी गई है। हाल-फिलहाल यहां पर लोग खाली जगह देखकर रात के समय मलबा डाल जाते है जिसकी वजह से यहां गंदगी फैली रहती है।

आरडब्ल्यूए द्वारा लिखे गए पत्र में बताया गया है कि डीएलएफ फेज एक कालोनी लगभग 500 एकड़ में विकसित हुई है जिसमें 8000 से अधिक परिवार रह रहे है और इसके अलावा सिल्वर ओक्स अपार्टमेंट में भी 700 से अधिक परिवार है। यह इलाका आस-पास अरावली और जंगलों से घिरा हुआ है जिसकी वजह से कई साइकिलर्स ग्रुप साइकिलिग के लिए इस सड़क का इस्तेमाल करते है। लेकिन गुरुग्राम-फरीदाबाद हाइवे होने की वजह से ट्रैफिक दबाव के चलते यह सड़क लोगों के लिए सुरक्षित नहीं है। ब्रिस्ट्रल चौक से लेकर खुशबु चौक तक दोनों तरफ से काफी जगह है और यहां पर साइकिल ट्रैक विकसित कर दिया जाए तो डीएलएफ निवासी और साइकिलर्स ग्रुप के लिए काफी उपयोगी होगा।

बलजीत सिंह राठी, प्रधान, डीएलएफ कुतुब एन्क्लेव आरडब्ल्यूए भले ही यह सड़क पीडब्ल्यूडी के अधीन आती है लेकिन जीएमडीए चाहे तो विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेकर यहां साइकिल ट्रैक विकसित कर सकता है। नगर निगम ने भी विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेकर दोनों तरफ ग्रीन बेल्ट विकसित की है। इसीलिए हमने जीएमडीए को पत्र लिखा है।

ध्रुव बंसल, प्रवक्ता , डीएलएफ कुतुब एन्क्लेव आरडब्ल्यूए जब तक सड़क का चौड़ीकरण नहीं होता यहां पर साइकिल ट्रैक बनाए जा सकते है। यह निवासियों के लिए काफी सुविधाजनक होगा। अभी यहां पर हमेशा धूल मिट्टी उड़ती है जिससे प्रदूषण फैलता है और हमेशा गंदगी भी पसरी रहती है।

राहुल चंदोला, एच ब्लाक, आरडब्ल्यूए प्रधान अभी सड़क पर लोगों को साइकिलिग करते देखा जा सकता है जो कि सुरक्षा की ²ष्टि से ठीक नहीं है। जीएमडीए को इस पर संज्ञान लेते हुए साइकिल ट्रैक विकसित करने पर ध्यान देना चाहिए।

रविन्द्र सिंह, उप-प्रधान व निवासी जी-ब्लाक

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept