28 साल बाद भी सेक्टर-59 में शिफ्ट नहीं हो सकी लोहा मंडी

नेहरू ग्राउंड में चल रही लोहा मंडी को शहर से बाहर सेक्टर-59 में शिफ्ट करने की योजना करीब 2

JagranPublish: Mon, 17 Jan 2022 05:04 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 05:04 PM (IST)
28 साल बाद भी सेक्टर-59 में शिफ्ट नहीं हो सकी लोहा मंडी

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद : नेहरू ग्राउंड में चल रही लोहा मंडी को शहर से बाहर सेक्टर-59 में शिफ्ट करने की योजना करीब 28 साल पहले बनी थी। लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हो सका है। इसका सबसे बड़ा कारण सेक्टर-59 में महंगी दर पर प्लाट, मूलभूत सुविधाओं का अभाव होना है। यही कारण है कि सेक्टर-59 में करीब 600 प्लाट काटने के बावजूद यहां केवल सवा सौ दुकानदारों ने ही प्लाट लिए हैं। इनमें से मुश्किल से 50 दुकानें बनी हैं। वे भी मूलभूत सुविधाएं न होने से बेहद परेशान हैं और दुकानें बनाकर पछता रहे हैं। आज भी बड़ी संख्या में दुकानदार शहर के बीचों-बीच नेहरू ग्राउंड में बैठकर कारोबार कर रहे हैं। यहां लोहे व स्टील से लदे हुए बड़े-बड़े ट्रालों के आवागमन में दिक्कत होती है। अक्सर अंदर जाम लगा रहता है। अन्य वाहन चालकों को भी परेशानी होती है।

माल भी सुरक्षित नहीं

अब जो दुकानदार सेक्टर-59 में लोहा मंडी में दुकान चला रहे हैं, वह मंडी की चहारदीवारी न होने से भी परेशान हैं। यहां से बाईपास व राष्ट्रीय राजमार्ग जाने के लिए सीधी कनेक्टिविटी नहीं है। गांव जाजरू की सड़क से होकर जाना पड़ता है। इस वजह से दुकानदार यहां के अलावा भी नेहरू ग्राउंड सहित इधर-उधर भी अपनी दुकानें चला रहे हैं।

ये भी हैं समस्याएं

- लोहा मंडी के अंदर सड़कों की हालत खराब है।

- लोहा मंडी की बाईपास और राष्ट्रीय राजमार्ग से सीधी कनेक्टिविटी नहीं है।

- बरसाती पानी निकासी के इंतजाम नहीं हैं।

- लोहा मंडी में सीवर लाइन का मुख्य लाइन से कनेक्शन नहीं किया है, इस वजह से सीवर ओवरफ्लो होता रहता है।

- स्ट्रीट लाइट जलती नहीं हैं, कई जगह लगाई भी नहीं हैं।

- मंडी में पेयजल लाइन की सुविधा नहीं है।

---

लोहा मंडी की चहारदीवारी भी नहीं की गई है। यहां गेट भी दुकानदारों ने अपने स्तर पर लगाए हैं। क्योंकि लोहा मंडी में सामान दुकान के बाहर भी पड़ा रहता है। इसलिए चोरी होने का डर रहता है। प्राधिकरण चहारदीवारी करे और बाकी सुविधाएं दे तो बात बने।

- प्रेम पसरीजा, प्रधान, फरीदाबाद आयरन एवं स्टील ट्रेडर्स एसोसिएशन, सेक्टर-59

---

लोहा मंडी में प्लाटिग तो कर दी है, लेकिन यहां सुविधाओं के नाम पर कुछ भी नहीं है। सड़कें न बनाने की वजह से दिनभर धूल उड़ती रहती है। इससे दुकानों पर बैठना मुश्किल हो जाता है। इस वजह से यहां और दुकानदार नहीं आ रहे हैं।

- सुनील चौधरी, सचिव, फरीदाबाद आयरन एवं स्टील ट्रेडर्स एसोसिएशन, सेक्टर-59

---

लोहा मंडी में प्लाटों की अलाटमेंट नीलामी से की गई थी। इस वजह से प्लाटों के रेट काफी अधिक हो गए। इसलिए दुकानदारों ने रुचि नहीं दिखाई। इससे सरकार को राजस्व भी नहीं सका। यदि प्राधिकरण रेट ठीक करे तो वहां सभी दुकानदार शिफ्ट हो सकते हैं।

- संदीप सिघल, पूर्व कोषाध्यक्ष, फरीदाबाद आयरन एवं स्टील ट्रेडर्स एसोसिएशन

---

लोहा मंडी में मूलभूत सुविधाओं के लिए अधीक्षण अभियंता राजीव शर्मा को बोला है। वे निरीक्षण करेंगे कि यहां क्या-क्या समस्याएं हैं। इसके बाद इन्हें हल किया जाएगा।

- जितेंद्र दहिया, प्रशासक, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept