ग्रामीण पर्यटन की पहचान बन रहा मेहंदीपुर डाबौदा, लाइब्रेरी पे बैक टू सोसाइटी का उल्लेखनीय उदाहरण: डीसी

पूर्व डीजीपी रंजीव दलाल द्वारा अपने गांव मेहंदीपुर डाबौदा स्थित पुश्तैनी हवेली में लाइब्रेरी और कौशल विकास केंद्र स्थापित कर पे बैक टू सोसाइटी का उल्लेखनीय उदाहरण पेश किया है। यह गांव ग्रामीण पर्यटन की पहचान बन रहा है। सभी सक्षम व समर्थ लोगों को अपनी जड़ों से जुड़े रहने के लिए अपने पैतृक गांव के विकास के लिए कुछ न कुछ जरूर करना चाहिए। इससे युवा अधिकारियों को भी समाज के लिए और बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। डीसी श्याम लाल पूनिया ने पूर्व डीजीपी रंजीव दलाल के निमंत्रण पर शुक्रवार को खंड के गांव मेहंदीपुर डाबौदा में लाइब्रेरी और गांव का दौरा करते हुए यह बात कही।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 11:21 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 11:21 PM (IST)
ग्रामीण पर्यटन की पहचान बन रहा मेहंदीपुर डाबौदा, लाइब्रेरी पे बैक टू सोसाइटी का उल्लेखनीय उदाहरण: डीसी

बहादुरगढ़, (विज्ञप्ति): पूर्व डीजीपी रंजीव दलाल द्वारा अपने गांव मेहंदीपुर डाबौदा स्थित पुश्तैनी हवेली में लाइब्रेरी और कौशल विकास केंद्र स्थापित कर पे बैक टू सोसाइटी का उल्लेखनीय उदाहरण पेश किया है। यह गांव ग्रामीण पर्यटन की पहचान बन रहा है। सभी सक्षम व समर्थ लोगों को अपनी जड़ों से जुड़े रहने के लिए अपने पैतृक गांव के विकास के लिए कुछ न कुछ जरूर करना चाहिए। इससे युवा अधिकारियों को भी समाज के लिए और बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। डीसी श्याम लाल पूनिया ने पूर्व डीजीपी रंजीव दलाल के निमंत्रण पर शुक्रवार को खंड के गांव मेहंदीपुर डाबौदा में लाइब्रेरी और गांव का दौरा करते हुए यह बात कही।

डीसी ने अपने दौरे के दौरान गांव में मौजूद सरकारी सुविधाओं का जायजा लिया और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। डीसी ने कहा कि पूर्व डीजीपी दलाल साहब ने अपने गांव के सामाजिक भाईचारे को मजबूत करते हुए महिला उत्थान के सिलाई केंद्र, खिलाड़ियों के लिए स्टेडियम, ग्रामीणों के लिए लाइब्रेरी, पर्यावरण संरक्षण के वृक्षारोपण, स्वच्छता आदि के लिए काफी उल्लेखनीय कार्य किया है और अच्छी बात यह है कि सेवानिवृति उपरांत भी सामाजिक कार्यों में लगे हुए हैं। सभी आयु वर्गाें के लिए कुछ न कुछ किया है। निश्चित रूप से ऐसे प्रयास सभी को बेहतर कार्य करने के लिए प्रेरित करते हैं। पूनिया ने कहा कि पिछले सात वर्षों से हवेली में चल रही लाइब्रेरी और महिला उत्थान केंद्र से ग्रामीणों को काफी लाभ हुआ है। गांव की महिलाएं आत्म निर्भरता की ओर बढ़ी है। ऐसे नेक प्रयास समाज का आपसी भाईचारा मजबूत करते हैं और मिलकर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।

डीसी ने गांव में मौजूद सरकारी सेवाओं व भवनों का निरीक्षण किया। उन्होंने खेल स्टेडियम, जलघर, जलाशय एवं जोहड़ों व गलियों का निरीक्षण किया और मौके पर मौजूद अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खेतों में जल निकासी की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि गांव की स्वच्छता में ग्रामीण भी अपनी भूमिका निभाएं। स्वच्छता सभी की भागीदारी से सुनिश्चित होती है। गांव में पहुंचने पर पूर्व डीजीपी रंजीव दलाल ने डीसी श्याम लाल पूनिया का स्वागत किया।

इस अवसर पर एसडीएम भूपेंद्र सिंह, तहसीलदार श्रीनिवास, बीडीपीओ युद्धवीर सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept