व्यवसायी की गाड़ी के शीशे तोड़े और धमकी भरी पर्ची डाली, अभी तो ट्रेलर है बाकी समझदार हो

स्कूटी पर आए थे दो शख्स पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद

JagranPublish: Wed, 04 Aug 2021 07:30 AM (IST)Updated: Wed, 04 Aug 2021 07:30 AM (IST)
व्यवसायी की गाड़ी के शीशे तोड़े और धमकी भरी पर्ची डाली, अभी तो ट्रेलर है बाकी समझदार हो

जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

शहर के नेहरू पार्क में सोमवार की आधी रात को दहशत भरी घटना हुई। यहां गली में घर के नजदीक खड़ी एक व्यवसायी की गाड़ी के शीशे तोड़ डाले गए और धमकी भरी पर्ची छोड़ी गई। उसमें गाली-गलौज और धमकी दी गई है। किसी का नाम लिखकर कुछ इशारा किया गया है। मामला रंगदारी की कोशिश से जुड़ता दिख रहा है, मगर व्यवसायी ने इस तरह के मामले से इन्कार किया है। इधर, पुलिस ने भी फिलहाल सामान्य रिपोर्ट दर्ज की है। पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है, लेकिन आरोपित पहचान में नहीं आ रहे हैं। नेहरू पार्क निवासी रामराज वर्मा का खिलौनों का व्यवसाय है। उनकी गाड़ी कीया सेलटोस सोमवार की रात घर के नजदीक चौड़ी गली में खड़ी थी। मंगलवार सुबह उनकी गाड़ी के शीशे टूटे मिले। गाड़ी के बौनट पर एक धमकी भरी पर्ची छोड़ी गई थी। इसके बाद आसपास के सीसीटीवी कैमरे चेक किए गए तो उससे पूरा घटनाक्रम पता चला। पहले पर्ची छोड़ी, फिर लठ से शीशे तोड़े :

सीसीटीवी में नजर आया है कि रात करीब 12:30 बजे स्कूटी पर दो शख्स आते हैं। दोनों ने मास्क लगा रखा था। पहले स्कूटी को गाड़ी के पास से गली के अंदर ले जाते थे। आसपास का माहौल देखने के बाद वापस रोहतक रोड पर आ जाते हैं। वहां से व्यवसायी की गाड़ी कुछ दूर खड़ी थी। स्कूटी सवारों में से एक उतरकर गाड़ी के पास जाता है। बौनट पर पर्ची रखकर वापस आ जाता है। फिर अगले ही पल लठ लेकर दोबारा गाड़ी के पास जाता है और शीशे तोड़ डालता है। इसके बाद भाग निकलता है। सुबह व्यवसायी का परिवार और आसपास के लोग गाड़ी की यह हालत देखकर दंग रह जाते हैं। फिर बौनट पर पर्ची मिलती है। इसे देख व्यवसायी का परिवार टेंशन में आ जाता है। पुलिस को भी सूचना दी गई। ये लिखा है पर्ची में :

अजय उर्फ बबू माजरिया जून और...गाली..अभी तो ये ट्रेलर है। बाकी समझदार हो ओके। माना जा रहा है कि इस पर्ची की भाषा से तो अनुमान यही है कि व्यवसायी से रंगदारी की कोशिश लग रही है। मगर व्यवसायी का कहना है कि उन्हें न तो किसी तरह की धमकी पहले मिली है और न ही किसी से रंजिश है। मगर सवाल तो यही है कि फिर इसका मकसद क्या है। व्यवसायी का कहना है कि उनका काम सीमित है, ज्यादा बड़ा नहीं है। गरीब महिलाओं को वे ट्रेनिग देकर काम से जोड़ते हैं। उन्हें खुद यह समझ नहीं आ रहा है कि ऐसा करने वाले का मकसद क्या हो सकता है। वर्जन..

अभी गाड़ी मालिक ने एफआइआर दर्ज करने और इस तरह की कार्रवाई से मना कर दिया है। गाड़ी में हुए नुकसान को लेकर सामान्य रिपोर्ट दर्ज करवाई गई है। फिर भी पुलिस अपने स्तर पर जांच कर रही है।

-विजय कुमार, एसएचओ, शहर थाना बहादुरगढ़

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम