शहीदी स्मारक परिसर के सभी प्रमुख केंद्रों पर होगी इंटरकाम की सुविधा, सुरक्षा कर्मी का होगा सीधा संपर्क

दिल्ली नेशनल हाईवे के साथ छावनी में 22 एकड़ में करीब 300 करोड़ की लागत से बन रहे शहीदी स्मारक का कार्य अंतिम चरण में है। स्मारक में निर्माण कार्य पूरा होने के बाद यहां पर आर्ट वर्क को शुरू किया जाना है।

JagranPublish: Sat, 04 Dec 2021 05:11 PM (IST)Updated: Sat, 04 Dec 2021 05:11 PM (IST)
शहीदी स्मारक परिसर के सभी प्रमुख केंद्रों पर होगी इंटरकाम की सुविधा, सुरक्षा कर्मी का होगा सीधा संपर्क

जागरण संवाददाता, अंबाला : दिल्ली नेशनल हाईवे के साथ छावनी में 22 एकड़ में करीब 300 करोड़ की लागत से बन रहे शहीदी स्मारक का कार्य अंतिम चरण में है। स्मारक में निर्माण कार्य पूरा होने के बाद यहां पर आर्ट वर्क को शुरू किया जाना है। स्मारक में क्रांति का इतिहास प्रदर्शित होगा जिसपर इतिहासकारों की टीम स्टोरी लाइन भी तैयार कर रही है जिसे जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा। स्मारक के स्टाफ को रहने के लिए यहां फ्लैट को प्रोजेक्ट में शामिल करते हुए निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। स्मारक परिसर के एक हिस्से में स्टाफ क्वार्टर में प्रवेश गेट से लेकर जगह-जगह सुरक्षा कर्मियों से सीधा संपर्क होगा। इसके लिए खास तौर पर इंटरकाम सुविधा होगी। हालांकि इंटरकाम सुविधा स्मारक के सभी प्रमुख स्थानों पर होगी, जिससे आवश्यकता पड़ने पर एक दूसरे से संपर्क साधा जा सके।

90 प्रतिशत पूरा हो चुका निर्माण कार्य

22 एकड़ में बन रहे शहीद स्मारक का निर्माण कार्य इस समय 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है। स्मारक में मुख्य आकर्षण डेढ़ सौ फीट से ऊंचा मेमोरियल बावर होगा जोकि कमल के फूल के आकार का होगा, इसके आसपास वाटर बाडी होगी। मेमोरियल बावर के एकदम सामने दो हजार लोगों के बैठने की क्षमता होगा जोकि बावर स्क्रीन पर लाइट एंड साउंड शो को देख पाएंगे। स्मारक में यह होगा आकर्षण का केंद्र

इंटरप्रीटेशन सेंटर : सेंटर में वीआइपी रूम, शाप्स, बच्चों के खेलने के लिए एरिया, रिसेप्शन, टायलेट ब्लाक, कोर्ट यार्ड, वीआइपी मीटिग हाल, कांफ्रेंस हाल, डाइनिंग हाल होगा।

दो मंजिला म्यूजियम : म्यूजियम गैलरी, आडियो विजुअल हाल, लाबी, आफिस एरिया, शहीदी वाल वीआइपी एट्रेंस होगी।

ओपन एयर थियेटर : 2 हजार लोगों के बैठने के लिए थियेटर, स्मारक में एग्जीबिशन हाल, फूड कोर्ट, टायलेट ब्लाक, रिर्हसल रूम, फिल्टरेशन रूम व अन्य सुविधाएं होंगी।

आडिटोरियम बिल्डिग : आडिटोरियम के अलावा काफी शाप, फूड कोर्ट, सीटिग एरिया, लाबी, कोर्ट यार्ड, लाइब्रेरी, ई-लाइब्रेरी होगी।

वाटर बाडीज : वाटर बाडीज में विभिन्न किस्म के फव्वारे, वाटर स्क्रीन, कनेटिग ब्रिज व अन्य सुविधा होगी।

मेमोरियल टावर : 150 फीट से ऊंचा मेमोरियल टावर होगा, यहां आर्ट गैलरी, वाटर बाडी, हाई स्पीड लिफ्ट आदि होगी।

अंडर ग्राउंड पार्किग : स्मारक में वाहन पार्किग के लिए अंडर ग्राउंड डबल बेसमेंट पार्किग सुविधा होगी। यहां 400 कार के अलावा 20 बस खड़ी की जा सकेंगी। इसके अलावा स्टाफ के लिए 10 क्वार्टर भी यहां बनाए जाएंगे।

अन्य सुविधाएं : स्मारक में इन्फार्मेशन सेंटर होगी जहां दुकानें, सिक्योरिटी रूम, टिकट काउंटर होगा। इसके अलावा यहां वीवीआइपी के आने-जाने के लिए हेलीपैड सुविधा भी होगी। एक्सईएन ने देखी प्रगति

लोक निर्माण विभाग के एक्सईएन निशांत सेल्वानिया ने निर्माणाधीन शहीदी स्मारक की प्रगति देखने के लिए निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान स्टाफ क्वा‌र्ट्स के कार्य में भी तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि निर्माण का लगभग कार्य हो चुका है, जो बाकी है उसे जल्द से जल्द पूरा करा दिया जाएगा। शहीदी स्मारक के भीतरी हिस्से में इंटरप्रीटेशन सेंटर,आडिटोरियम बिल्डिग, म्यूजियम गैलरी, आडियो विजुअल हाल, लाबी सहित अन्य हिस्से में होने वाले सुंदरता के वर्क को शुरू कराए जाने के टेंडर अलाट किए जा रहे हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept