This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

फरियादियों की शिकायत पर कार्रवाई नहीं करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई तय

राज्य के गृह शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री के जनता दरबार में जो भी शिकायतें फरियादी आइजी सीपी एसपी को मार्क होती है उस पर 15 दिनों के भीतर एक्शन टोकन रिपोर्ट गृहमंत्री के कार्यालय को आती है।

JagranSun, 12 Sep 2021 07:00 AM (IST)
फरियादियों की शिकायत पर कार्रवाई नहीं करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई तय

जागरण संवाददाता, अंबाला : राज्य के गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री के जनता दरबार में जो भी शिकायतें फरियादी आइजी, सीपी, एसपी को मार्क होती है, उस पर 15 दिनों के भीतर एक्शन टोकन रिपोर्ट गृहमंत्री के कार्यालय को आती है। पुलिस के खिलाफ जिन मामलों में पुलिस प्रताड़ना की शिकायत आती है उसे पुलिस कंपलेट अथारिटी को भेजा जाता है। पुलिस के उच्च अधिकारियों को भी शिकायतों को मार्क करके निदान करने के निर्देश दिए जाते हैं। ये बातें शनिवार को छावनी के रेस्ट हाउस में जनता दरबार में आए फरियादियों की शिकायतें सुनते हुए राज्य के गृहमंत्री अनिल विज ने कही।

दोपहर 12 से सायं 6.30 बजे तक फरियादियों की शिकायतों को गंभीरतापूर्वक सुनते हुए विज ने संबंधित अधिकारियों को निवारण प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए। कहा कि जिन शिकायती पत्रों पर मार्क करके संबंधित को भेजी जाती है, यदि उसमें किसी प्रकार की लापरवाही या देरी नजर आती है तो उस मामले में नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। राज्य के कोने-कोने से 550 से अधिक लोग अपनी फरियाद लेकर पहुंचे थे। इस दौरान किरण पाल चौहान, विजेंद्र चौहान, बीएस बिन्द्रा, संजीव वालिया, रवि सहगल, सतपाल ढल, डीएसपी राम कुमार, डीएसपी अनिल कुमार, डीएसपी राज कुमार, लोक निर्माण विभाग के निशांत कुमार, नगर परिषद के सचिव राजेश कुमार के साथ-अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

-----------------

दो दिन रेलवे स्टेशन पर बिताया समय, फिर दरबार पहुंचकर की फरियाद

गृहमंत्री अनिल विज के जनता दरबार में फरियाद के लिए दो दिन पहले ही रेवाड़ी से अंबाला बुजुर्ग दंपती पहुंचा। रेवाड़ी के महेश्वरी गांव वासी मूर्ति और उसका पति प्रकाश अपने बेटे के हत्यारे को सख्त से सख्त सजा दिलाने के लिए दो दिन के इंतजार के बाद शनिवार को सुबह ही छावनी रेस्ट हाउस पहुंच गए। इनका आरोप है कि गांव के सरपंच ने बेटे वीरेंद्र को 14 जनवरी को मौत के घाट उतार दिया था, शिकायत करने के बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। फरियाद सुनने के बाद विज भावुक हो गए और उन्होंने तुरंत रेवाड़ी के पुलिस अलाधिकारी को इस मामले में त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

--------------------

ये शिकायतें रहीं प्रमुख

हिसार के गांव किरतान निवासी रोहताश ने अपनी बेटी सुनीता की हत्या के मामले में आरोपी पति प्रेम, जेठ रमेश व ससुर हनुमान के खिलाफ पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने की शिकायत की। कुरुक्षेत्र निवासी शिव कुमार ने किरमिच रोड के नजदीक कालेज कालोनी में अवैध रूप से प्लाटों पर कब्जा करने व एचआरए शाखा द्वारा जमीन संबधी मामलों के दस्तावेजों में छेड़छाड़ करने की शिकायत की। कैथल के गांव डडवाना निवासी चंदा सिंह ने मारपीट के मामले में 13 आरोपियों के खिलाफ शिकायत के बावजूद एक आरोपी की गिरफ्तारी होने बारे तथा अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी न होने बारे शिकायत की। पलवल से आये लोगों ने एक मामले में संलिप्त आरोपियों द्वारा उसके साथ बुरी तरह मारपीट करने व उसे छत से गिराने की शिकायत रखी तथा इस मामले में पुलिस की मिलीभगत का आरोप लगाया। कुरुक्षेत्र से आए पीड़ित ने रिश्ते के नाम पर 24 लाख की ठगी, सफीदों के दंपती ने दुकान में घुसकर उनसे मारपीट करने वाले आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई, नीलोखेड़ी से आए लोगों ने नाला पक्का बनवाने बारे, भिवानी, कैथल तथा घरौंडा से आए लोगों ने हत्या के मामलों में आरोपियों के खिलाफ पुलिस द्वारा कार्रवाई न होने कर शिकायत की। फतेहगढ़ के ने 16 साल की किशोरी को गांव के दो लड़कों द्वारा उठाकर ले जाने के मामले में पुलिस द्वारा कार्रवाई न होने की शिकायत की।

-------------------

पांच मामले में पुलिस कंपलेंट अथारिटी को मार्क

जनता दरबार के दौरान पुलिस के खिलाफ आई शिकायतों के साथ-साथ गंभीर मामलों के तहत आज पांच मामले पुलिस कंपलेट अथारिटी को मार्क किए गये हैं। एक मामले में आरोपियों के साथ पुलिस द्वारा मिलकर प्रार्थी के साथ मारपीट करने व उसे छत से गिरने की शिकायत आई थी तथा इसके अलावा अन्य चार शिकायतें भी जनता दरबार में पहुंची थी।

-----------------

लाचार महिला के निकले आंसू

जनता दरबार में अपना नंबर आने का इंतजार कर रही अंजू शर्मा रोने लगी। उसने बताया कि छ: महीने पहले उसी के क्षेत्र का रहने वाला रेल कर्मी मणिशंकर और प्रणब मारपीट करते हुए कपड़े फाड़ते वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। शिकायत पुलिस से की तो सुलह करने का दबाव बनाया जाने लगा। कोर्ट से मामला दर्ज कराया गया तो कोर्ट ने भी आरोपी के खिलाफ फैसला सुनाया लेकिन इसके बावजूद भी आरोपितों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

-----------------

शिकायत के बाद भी कार्रवाई न होने की शिकायतों की भरमार

शनिवार को राज्य के गृहमंत्री अनिल विज के दरबार में पुलिस में शिकायत करने के बावजूद भी कार्रवाई न होने की शिकायतों को लेकर आने वालों की संख्या अधिक रही। पुलिस से संबंधित शिकायतों को सुनने के बाद विज ने संबंधित अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि पीड़ित को न्याय देने में प्राथमिकता दें। अगर दोबारा शिकायत मिली तो संबंधित खुद को कार्रवाई भुगतने के तैयार है।

Edited By Jagran

अंबाला में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!