उर्फी जावेद ने मुस्लिम लड़के से शादी न करने की वजह का किया खुलासा, कहा- 'सबसे ज्यादा अभद्र...'

उर्फी न सिर्फ अपने कपड़ों को लेकर बल्कि अपने बयानों के चलते भी काफी सुर्खियां बटोरती नजर आ रही हैं। वहीं इन दिनों वह लगातार ट्रोल्स के निशान पर भी आ रही हैं। इसी बीच अब उर्फी का एक नया बयान चर्चा में आ गया है।

Priti KushwahaPublish: Thu, 23 Dec 2021 10:47 AM (IST)Updated: Thu, 23 Dec 2021 01:07 PM (IST)
उर्फी जावेद ने मुस्लिम लड़के से शादी न करने की वजह का किया खुलासा, कहा- 'सबसे ज्यादा अभद्र...'

नई दिल्ली, जेएनएन। 'बिग बॉस ओटीटी' का हिस्सा रह चुकी टीवी एक्ट्रेस उर्फी जावेद इन दिनों जबरदस्त सुर्खियों में बनीं हुई हैं। उर्फी न सिर्फ अपने कपड़ों को लेकर, बल्कि अपने बयानों के चलते भी काफी सुर्खियों बटोरती नजर आ रही हैं। वहीं, इन दिनों वह लगातार ट्रोल्स के निशान पर भी आ रही हैं। इसी बीच अब उर्फी का एक नया बयान चर्चा में आ गया है। इस बार उर्फी ने अपनी शादी को लेकर कुछ ऐसा कहा कि सोशल मीडिया पर हंगामा मच गया है।

विवादों में घिरी रहने वाली उर्फी जावेद ने हाल ही में 'इंडिया टुडे डॉट इन' को दिए इंटरव्यू में अपनी शादी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। उर्फी ने सोशल मीडिया पर अपने बोल्ड लुक और हॉट तस्वीरों पर होने वाली ट्रोलिंग पर भी रिएक्शन देते हुए कहा, 'वह कभी भी किसी मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करेंगी। मैं एक मुस्लिम लड़की हूं। मुझे सोशल मीडिया पर मेरी पोस्ट पर ज्यादातर अभद्र कमेंट मुस्लिम लोगों के होते हैं।'

View this post on Instagram

A post shared by Urrfii (@urf7i)

उर्फी ने आगे कहा, 'उन लोगों का मानना है कि मैं इस्लाम धर्म की छवि खराब कर रही हूं। वो लोग मुझसे नफरत करते हैं। मुस्लिम पुरुष चाहते हैं कि उनकी महिलाएं एक खास तरीके से व्यवहार करें। वे समुदाय की सभी महिलाओं को नियंत्रित करना चाहते हैं मैं इस वजह से इस्लाम को नहीं मानती।'

उर्फी जावेद कहती हैं, 'मुझे ट्रोल करने के पीछे उनका बस यही वजह है कि मैं मुस्लिम की तरह व्यवहार नहीं करती हूं जैसा वो लोग मेरे से अपने धर्म के अनुसार उम्मीद करते हैं।' वहीं बात रही शादी की तो मैं कभी किसी मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करूंगी। इसलिए मुझे परवाह नहीं है कि मैं किससे प्यार करती हूं। हम जिससे चाहें शादी कर लें।'

इसके साथ ही उर्फी ने इंटरव्यू में कहा, 'किसी को भी धर्म को मानने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। हर किसी को अपने हिसाब से धर्म चुनने और उसे फॉलो करने की आजादी और अधिकार है, ताकि वह अपने अनुसार धर्म को चुन सकें।

Edited By Priti Kushwaha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम