Bigg Boss 15: करण कुंद्रा ने प्रतीक सहजपाल को उठाकर पटका, सोशल मीडिया पर भड़के फैंस

टास्क के दौरान हुई इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोग बिग बॉस 15 के खिलाफ जमकर अपनी गुस्सा निकाल रहे हैं। लोगों को करण का ये बर्ताव पसंद नहीं आ रहा और वो लगाता सवाल पूछ रहे हैं।

Ruchi VajpayeePublish: Thu, 21 Oct 2021 12:21 PM (IST)Updated: Thu, 21 Oct 2021 12:21 PM (IST)
Bigg Boss 15: करण कुंद्रा ने प्रतीक सहजपाल को उठाकर पटका, सोशल मीडिया पर भड़के फैंस

नई दिल्ली, जेएनएन। बिग बॉस के घर में यूं तो हमेशा धमासान मचा रहता है। कभी बहस तो कभी तीखी नोकझोंक इस बार के सीजन में आम बात है, पर बीते दिन कुछ ऐसा हुआ जिससे हड़कंप मच गया। घरवालों के नियम तोड़ने के कारण सजा के तौर सबको ही जंगलवासी बना दिया गया। घर के सभी कंटेस्टेंट्स द्वारा नियमों की अनदेखी के बाद बिग बॉस ने दो दिन पहले सभी को दंड दिया है। इसी बीच एक टास्क के दौरान करण कुंद्रा ने प्रतीक सहजपाल को उठाकर पटक दिया।

प्रतीक-करण में हुई लड़ाई

हुआ ये कि लेटेस्ट एपिसोड में सभी कंटेस्टेंट्स ने दोबारा बिग बॉस नियमों को तोड़ा और इसकी वजह से बिग बॉस ने 'जंगलवासियों' के किचन की गैस सप्लाई बंद कर सभी सुविधाओं से वंचित कर दिया। और सभी को टीम में बांट कर एक टास्क दिया। इस टास्क को जीतने वाले कंटेस्टेंट्स मुख्य घर के अंदर जाएंगे। वहीं 'कागज काटने' वाले टास्क में घर का माहौल गर्मा गया और सबके बीच जमकर लड़ाई हुई। करण ने प्रतीक को उठाकर जमीन पर पटक दिया, जय भानुशाली ने इस पर आपत्ति जताई।

ट्विटर पर फूटा लोगों का गुस्सा

टास्क के दौरान हुई इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोग बिग बॉस 15 के खिलाफ जमकर अपनी गुस्सा निकाल रहे हैं। लोगों को करण का ये बर्ताव पसंद नहीं आ रहा और वो लगाता सवाल पूछ रहे हैं। एक यूजर ने लिखा, 'तेजस्वी आंखें खोल और देख करण ने प्रतीक की गर्दन मरोड़ी और उसको पूरा उठाकर पटक दिया, ये गलत है बिग बॉस।

वहीं एक यूजर ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि करण कुंद्रा ने बिग बॉस के घर को डब्लूडब्लूई बना दिया है। 

वहीं एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा कि करण को शर्म आनी चाहए बिग बॉस में ऐसी हरकत करते हुए।

Edited By Ruchi Vajpayee

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept