रोमांस ही नहीं, मैं तब्बू के साथ किसी भी किरदार में स्क्रीन साझा करना अपनी खुशकिस्मती मानूंगा: जयदीप अहलावत

वक्त के साथ कार्यशैली और किरदारों के चुनाव में बदलाव को लेकर जयदीप कहते हैं मेरी काम करने की शैली में कभी कोई बदलाव नहीं आया है। जब मेरे पास ज्यादा काम नहीं था मैं तब भी उतनी ही मेहनत और ईमानदारी से काम करता था।

Sanjay PokhriyalPublish: Fri, 24 Jun 2022 06:12 PM (IST)Updated: Fri, 24 Jun 2022 06:12 PM (IST)
रोमांस ही नहीं, मैं तब्बू के साथ किसी भी किरदार में स्क्रीन साझा करना अपनी खुशकिस्मती मानूंगा: जयदीप अहलावत

दीपेश पांडेय। अभिनेता जयदीप अहलावत के सितारे इन दिनों काफी बुलंद हैं। हाल ही जी 5 पर रिलीज वेब सीरीज द ब्रोकन न्यूज में वह प्राइम टाइम एंकर दीपांकर सान्याल की भूमिका में सनसनीखेज खबरें सुनाते नजर आए। इसके अलावा वह आगामी दिनों में आयुष्मान खुराना अभिनीत फिल्म ऐन एक्शन हीरो, करीना कपूर अभिनीत अनाम फिल्म और वेब सीरीज पाताल लोक के दूसरे सीजन समेत कई प्रोजेक्ट में अहम भूमिकाओं में हैं। इस दौर को अपने करियर की शुरुआत मानने वाले जयदीप से विभिन्न मुद्दों पर बातचीत-

मिली प्रशंसा: द ब्रोकन न्यूज देखने के बाद लोगों की प्रतिक्रियाओं के बारे में जयदीप कहते हैं, 'मेरे पत्रकार दोस्तों और मीडिया इंडस्ट्री के जानकारों को शो में मेरा दीपांकर सान्याल का किरदार बहुत ही रियल स्पेस में लगा। दीपांकर एक तरफ इतना पावरफुल शख्स है, दूसरी तरफ निजी जीवन में वह कितना अकेला और परेशान है। मैंने इस किरदार को इन्हीं दोनों पहलुओं को देखकर चुना था। मेरे दोस्तों का कहना है कि मैं इसके दोनों पहलुओं को अच्छी तरह से पकडऩे में कामयाब रहा। मुझे यह तारीफ बहुत अच्छी लगी। घरवालों की मिलीजुली प्रतिक्रिया होती है। घर के बच्चों के लिए तो उनके मामा, चाचा या ताऊ एक स्टार हैं। मॉम-डैड ज्यादा चीजें देखते नहीं, उनके लिए मैं अभी घर का वही बड़ा बेटा हूं। अब लोग मुझे जानते हैं और जब वह उन्हें जयदीप अहलावत के मम्मी-पापा कह कर बुलाते हैं, तो उन्हें बहुत खुशी होती है। मैंने तो कभी उन्हें बैठाकर अपने शो या फिल्में नहीं दिखाई। उन्होंने शायद आखिरी बार एकसाथ बैठकर वेब सीरीज पाताल लोक देखा था। दोनों को उसकी कहानी पसंद आई थी, खासतौर पर पापा को। उन्होंने पहली बार मेरा इतना लंबा काम देखा था। ऐसे में

घर से प्यार और आलोचनाएं दोनों मिलती हैं।

व्यस्तता की शिकायत नहीं: अपने व्यस्त शेड्यूल और करियर के मौजूदा दौर को लेकर जयदीप कहते हैं, 'फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एफटीआईआई) में मैं अच्छा काम करने के सपने देखा करता था। अब मेरे करियर में वह हो रहा है। जो मेहनत इतने वर्षों से करता आ रहा हूं, अब वह लोगों तक पहुंच रही है। मैं अभी अपने करियर के टाप पर नहीं, बल्कि शुरुआत में हूं। अभी तो काम शुरू हुआ है, अभी बहुत कुछ करना बाकी है। हर बार कोशिश यही रहती है कि कुछ नया काम हो या नए ढंग का रोल देखें। व्यस्तता को लेकर कभी-कभी थकावट जरूर महसूस जरूर होती है, लेकिन खीझ नहीं होती। दोस्तों और परिवार के लिए निजी वक्त थोड़ा कम मिलता है, लेकिन उससे मुझे कोई शिकायत नहीं है। बहुत दिनों तक खाली बैठा हूं, तो व्यस्तता की शिकायत नहीं कर सकता हूं। वैसे भी मैं ज्यादा किसी पार्टी-वार्टी में नहीं जाता हूं, मेरा ज्यादातर वक्त घर में ही बीतता है।

खबरों में जिम्मेदारी जरूरी: इंटरनेट मीडिया के दौर में मीडिया और लोगों की जिम्मेदारी पर जयदीप कहते हैं, 'आजकल इतने ज्यादा इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म हो गए हैं कि खबरों के लिए अलग से बैठकर न्यूज चैनल देखने की जरूरत नहीं पड़ती। ज्यादातर खबरें फोन पर अपने आप ही आती रहती हैं। इतने सारे प्लेटफॉर्म के बीच पता ही नहीं चलता कि सही खबर क्या है और क्या नहीं? ऐसे में मीडिया और लोगों के लिए खबरें आगे बढ़ाने से पहले उनकी पुष्टि करना जरूरी है। लोगों को जागरूक होना पड़ेगा कि वह न तो खुद अफवाहों का शिकार हो, ना ही किसी को भेजे। यह बहुत ही गैर जिम्मेदाराना काम है। भगवान का शुक्र है कि अभी तक मुझे लेकर कोई बड़ी फेक मसाला न्यूज नहीं आई है। हां, झूठी जानकारी के बारे में बता सकता हूं कि विकिपीडिया (लोगों के बारे में जानकारियां देने वाली वेबसाइट) पर लिखा है कि मेरा पूरा नाम जयकिशन अहलावत है। यह सच नहीं है। मेरा नाम जयदीप अहलावत ही है। मुझे ना तो वह बदलना आता है, ना ही मैंने अब तक उसे बदलने की कोशिश की है। हां, अगर कोई जानकार बदलना चाहे तो बदल सकता है।

तब्बू संग रोमांस: वक्त के साथ कार्यशैली और किरदारों के चुनाव में बदलाव को लेकर जयदीप कहते हैं, 'मेरी काम करने की शैली में कभी कोई बदलाव नहीं आया है। जब मेरे पास ज्यादा काम नहीं था, मैं तब भी उतनी ही मेहनत और ईमानदारी से काम करता था, और आज भी वैसे ही करता हूं। सफलता बाद तो जिम्मेदारी और भी ज्यादा बढ़ जाती है, क्योंकि उसके बाद आपके हर काम को लोग बारीकी से देखते हैं। आप ज्यादा जिम्मेदारी के साथ कोशिश करते हैं कि आप सही चीजें चुनो। जिससे कम से कम किरदार की ईमानदारी बची रहे। वैसे तो बहुत सी अभिनेत्रियां हैं, जिनके साथ मैं स्क्रीन पर रोमांस करना पसंद करूंगा, लेकिन अगर सिर्फ एक नाम की बात हो, तो वह तब्बू मैम होंगी। मैं उनका बहुत बड़ा फैन हूं। रोमांस ही नहीं, मैं उनके साथ किसी भी किरदार में स्क्रीन साझा करना अपनी खुशकिस्मती मानूंगा।

Edited By Sanjay Pokhriyal

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept