तसलीमा नसरीन ने सरोगेसी वाले ट्वीट पर दी सफाई, कहा- प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस से नहीं कोई लेना-देना

लेखिका तसलीमा नसरीन सरोगेसी पर ट्वीट किरते हुए सरोगेसी के जरिए होने वाले बच्चों को रेडीमेड बेबी बताया था। अब तसलीमा नसरीन ने सफाई दी है कि उनका निशाना सरोगेसी के लिए था न कि प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस के लिए।

Vaishali ChandraPublish: Mon, 24 Jan 2022 10:12 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 07:23 AM (IST)
तसलीमा नसरीन ने सरोगेसी वाले ट्वीट पर दी सफाई, कहा-  प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस से नहीं कोई लेना-देना

नई दिल्ली, जेएनएन। एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा ने हाल ही में सोशल मीडिया के जरिए सरोगेसी से अपने मां बनने की जानकारी दी थी। जिसे लेकर खूब चर्चा हुई। सबसे ज्यादा अटेंशन लेखिका तसलीमा नसरीन के ट्वीट को मिली। लेखिका ने ट्वीट में सरोगेट बच्चे को रेडी मेड बेबी कहा था। हालांकि, उन्होंने कहीं भी प्रियंका चोपड़ा या निक जोनस का नाम नही लिया, लेकिन उनका यह ट्वीट प्रियंका चोपड़ा के मां बनने की खबर के बाद ही आया। फिर क्या था, लोगों ने इसे प्रियंका से जोड़ते हुए तसलीमा पर जमकर निशाना साधा। अब तसलीमा अपने ट्वीट की सफाई दे रही हैं।

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर सफाई पेश करते हुए कई पोस्ट किए हैं। तस्लीमा ने लिखा है, 'मेरे सरोगेसी वाले ट्वीट्स सरोगेसी पर मेरी अलग राय के बारे में हैं। प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस से इसका कोई लेना-देना नहीं है। मैं इस कपल से प्यार करती हूं।'

एक और ट्वीट करते हुए तस्लीमा ने लिखा, 'सरोगेसी पर मेरे राय पर लोग मुझे गाली दे रहे हैं। वे कह रहे हैं कि किराए पर गर्भ नहीं देना लेती मेरी पुरानी सोच है। मेरा सुझाव है कि बेघर बच्चों को गोद ले और गरीब महिलाओं का शारीरिक शोषण न करें। मेरा मानना है कि सरोगेसी अपने आप में ही पुरानी सोच है।'

इसके असावा तसलीमा ने कुछ पुराने ट्वीट्स भी शेयर किए है। जिनमें प्रियंका चोपड़ा और तसलीमा नसरीन एक दूसरे की तरीफ करते नजर आ रहे हैं।

तसलीमा नसरीन के इन ट्वीट्स से मचा था बवाल

सरोगेसी पर हमला करते हुए तसलीमा ने कई ट्वीट्स किये थे। लेकिन हल्ला कुछ को ही लेकर मचा था। वे ट्वीट्स है,

1. 'कैसे उन महिलाओं को मां बनने की भावना आती होगी जो सरोगेसी के जरिए रेडीमेड बेबीज की मां बनती हैं। क्या उनकी भी एक समान भावना होती होगी, जैसी भावना खुद बच्चे को जन्म देकर होती है।'

2. 'सरोगेसी सिर्फ गरीब महिलाओं के चलते संभव है। यही वजह है कि अमीर तबका समाज में गरीबी को बनाए रखना चाहते हैं। अगर आप इतना ही चाहते हैं कि बच्चा पाले तो बेघर बच्चों को गोद लें। गुण तो बच्चों को विरासत में मिलने चाहिए। ये केवल एक स्वार्थी अंहकार है।'

Edited By Vaishali Chandra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept